जब तेंदुलकर को पाकिस्तानी स्पिनर सईद अजमल से कहना पड़ा, 'मैच को गंभीरता से मत लो..'

क्रिकेट की दुनिया में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) एक आदर्श क्रिकेट के तौर पर जाने गए. तेंदुलकर ने क्रिकेट की दुनिया में काफी नाम कमाया है. तेंदुलकर ने अपने खेल और व्यवहार से भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैन्स का दिल जीता है.

जब तेंदुलकर को पाकिस्तानी स्पिनर सईद अजमल से कहना पड़ा, 'मैच को गंभीरता से मत लो..'

स्पिनर सईद अजमल से कहना पड़ा, गंभीरता से गेंदबाजी मत करो

क्रिकेट की दुनिया में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) एक आदर्श क्रिकेट के तौर पर जाने गए. तेंदुलकर ने क्रिकेट की दुनिया में काफी नाम कमाया है. तेंदुलकर ने अपने खेल और व्यवहार से भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैन्स का दिल जीता है. यही नहीं पाकिस्तानी क्रिकेटरों के बीच भी तेंदुलकर कगा नाम सम्मान से लिया जाता है. क्रिकेट के मैदान पर भारत और पाकिस्तान के बीच मैच किसी युद्ध से कम नहीं होता है. भारत-पाक के मैच का रोमांच पहले भी कायम था और आज भी कायम है. जब कभी भी भारत और पाकिस्तान के बीच मैच होता है तो फैन्स के अलावा खिलाड़ी भी काफी टेंशन में रहते हैं और मैदान पर अपना बेस्ट देने के लिए आक्रमक भी हो जाते हैं.

टेस्ट में नंबर 1 से नंबर 11 तक सबसे ज्यादा शतक जमाने वाले भारतीय बल्लेबाज, देखें पूरी लिस्ट

ऐसे में ऐसी स्थिति की कल्पना करना कठिन है जहां भारत का एक खिलाड़ी पाकिस्तान के गेंदबाज से मैदान पर आराम करने और "मैच को बहुत गंभीरता से न खेलने" का आग्रह करता हो, लेकिन ऐसी ही एक वाकया घटित हुआ है. पाकिस्तान के स्पिनर सईद अजमल (Saeed Ajmal) ने इस घटना का खुलासा किया है. 

क्रिकेट पाकिस्तान यू-ट्यूब पर अजमल ने तेंदुलकर के बारे में कहा है कि, एक दफा उन्होंने मुझसे मैच को ज्यादा गंभीरता से नहीं लेने के लिए कहा था. अजमल ने कहा कि, साल 2014 में एमसीसी और रेस्ट वर्ल्ड-11 के बीच हुए मुकाबले के दौरान सचिन मेरे पास आए और कहा कि, 'सईद भाई आपको यह मैच इतना संजीदगी से नहीं खेलना चाहिए. यह चैरिटी मैच है. यह उन लोगों के लिए जो यहां मजे करने आए हैं. वे लोग खाना खाएंगे-पीएंगे. यह मैच साढ़े छह बजे से पहले खत्म नहीं होना चाहिए.'

तेंदुलकर के इतना कहने पर मैंने जबाव दिया और कहा कि 'मैं तो पॉजिटिव तरीके से गेंदबाज कर रहा हूं, तो उन्होंने कहा कि मैं आपसे सहमत हूं, लेकिन यह चैरिटी मैच है तो फंड जुटाना होगा. इसलिए क्रिकेट खेलो और मौज करो. अजमल ने कहा कि सचिन ने उनसे मैच में मजे और कम गंभीरता से गेंदबाजी करने के लिए कहा था.

मां-बेटे ने मिलकर किया अनोखा कारनामा,143 रन की साझेदारी कर टीम को दिलाई जीत 


एमसीसी और रेस्ट वर्ल्ड-11 के बीच  मैच में युवराज सिंह ने शतक जमाया था और शतक लगाने के बाद युवी ने फील्डिंग कर रहे तेंदुलकर के पैर भी छूए थे. इसके अलावा इस मैच में राहुल द्रविड़ बिना रन बनाए बोल्ड आउट हो गए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com