IND vs PAK: पाकिस्तान के खिलाफ कोहराम मचाने वाले 3 भारतीय, जडेजा ने तो यूनुस के छक्के छुड़ा दिए थे

भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला खेला जाने वाला है. अबतक टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम पाकिस्तानी टीम पर भारी पड़ी है

खास बातें

  • भारत और पाकिस्तान के बीच सुपरहिट मुकाबला
  • भारत के विराट कोहली औऱ रोहित शर्मा पर रहेगी नजर
  • पाकिस्तान की ओर से बाबर आजम हैं बेहद अहम

भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला खेला जाने वाला है. अबतक टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम पाकिस्तानी टीम पर भारी पड़ी है और हर दफा जीत हासिल करने में सफल रही है. ऐसे में इस बार भी उम्मीद है कि भारतीय टीम जीत हासिल कर अपने अजेय होने की कहानी को बरकरार रखेगी. बता दें कि जब कभी भी भारत और पाकिस्तान के बीच मैच हुआ है तब फैन्स को हाई वोल्टेज परफॉर्मेंस भारतीय टीम की ओर से देखने को मिला है. ऐसे में जानते हैं ऐसे भारतीय क्रिकेटरों के बारे में जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में कमाल का परफॉर्मेंस कर भारत को जीत दिलाने में सफल रहे हैं. 

IND Vs PAK किस टीम का पलड़ा है भारी, संभावित XI

वेंकटेश प्रसाद ने सिखाया सबक
भारत के वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad Vs Pakistan) को कौन भूल सकता है. वेंकटेश प्रसाद भारतीय क्रिकेट का एक ऐसा नाम जिसे फैन्स हमेशा याद रखेंगे. प्रसाद ने भारत-पाकिस्तान के बीच मैच के दौरान एक ऐसी याद भारतीय फैन्स को दी है जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता है. कौन भूल सकता है 1996 में बैंगलोर में खेले गए मैच में पाकिस्तान के आमिर सोहेल का मजाक बना दिया था. आज भी उस घटना को पाकिस्तान का यह खिलाड़ी बुरे सपने की तरह याद करता होगा. दरअसल बैंगलोर में खेले गए मैच में सोहेल ने वेंकटेश की गेंद पर चौका जमाकर अपने बल्ले से इशारा करके यह दर्शाते नजर आए थे तुम्हारी गेंद को ऐसे ही बाउंड्री के बाहर भेजूंगा. लेकिन इसके अगली गेंद पर प्रसाद ने सोहेल को बोल्ड कर अपना बदला लिया था. प्रसाद ने सोहेल को फिर इशारा कर पवेलियन जाने के लिए कहा था. यह किस्सा भारत-पाकिस्तान मैच में एक अमर गाथा की तरह याद किया जाता है. 

- - ये भी पढ़ें - -
* SA vs AUS: साउथ अफ्रीका का यह खिलाड़ी बन गया सुपरमैन, हवा में उड़ते हुए लपक लिया गजब का कैच- Video
* Ind vs PAK: इन खिलाड़ियों के बीच होगी कांटे की टक्कर, कोहली को बचना होगा इस पाकिस्तानी गेंदबाज से
* IND vs PAK: पाक टीम के 'गेम चेंजर्स' खिलाड़ियों से सतर्क हो गए हैं विराट कोहली, कहा- अपना 'ए' गेम खेलेंगेअजय

जडेजा की धुनाई
1996 वर्ल्ड कप में ही भारत के अजय जडेजा (Ajay Jadeja vs Waqar Younis) ने पाकिस्तान के वकार यूनुस का जो हाल किया था, उसे याद कर आज भी भारतीय फैन्स रोमांच के सागर में गोते लगाने लग जाते हैं. बैंगलोर में खेले गए मैच में भारतीय पारी के 48वें ओवर में जब वकार यूनुस गेंदबाजी करने आए तो सामने अनिल कुंबले और जडेजा क्रीज पर थे. 48वें ओवर की पहली गेंद पर जडेजा ने 3 रन लिए और स्ट्राइक कुंबले के पास आ गई. इसके बाद अगली दो गेंदों पर कुंबले ने चौका जमाया दिया. वकार को कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि ऐसा भी हो सकता है. फिर चौथी गेंद पर कुंबले ने एक रन ले लिया. अब स्ट्राइक पर जडेजा एक बार फिर थे. 5वीं गेंद पर जडेजा ने चौका जमाया और छठी गेंद पर छक्का जमाकर कमाल कर दिया. बैंगलोर में भारतीय फैन्स की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. 48वें ओवर में वकार ने कुल 22 रन दिए थे. उस समय यूनुस की 6 गेंद पर 22 रन बनाना मानों शतक के पूरा होने जैसा था. जडेजा की धुनाई यहां खत्म नहीं हुई, बल्कि 50वां ओवर फिर से यूनुस करने आए. पहली गेंद गेंद पर जडेजा ने 10 रन बनाए और तीसरी गेंद पर आउट हो गए. आउट होने से पहले जडेजा ने वो काम कर दिया था जिसकी कल्पना उस जमाने में भारतीय बल्लेबाज द्वारा नहीं की जा सकती थी. पाकिस्तान के खिलाफ मैच में जडेजा केवल 25 गेंद पर 45 रन बनाए थे और पाकिस्तान के महान गेंदबाज को दिन में तारे दिखा दिए थे. आज भी कोई वकार यूनिस को जडेजा का खौंफ सताता होगा.


सचिन तेंदुलकर की बेमिसाल 98 रन
पाकिस्तान के खिलाफ 2003 वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar's heroics in an Indo-Pak match led) ने सेंचुरियन में 98 रन की एक ऐसी पारी खेली थी, जिसे विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक गिना जाता था. 98 रन की पारी में तेंदुलकर ने 75 गेंद का सामना किया था और 12 चौके के साथ-साथ एक छक्का भी जमाया था. शोएब अख्तर की गेंद पर लगाया गया प्वाइंट पर छक्का फैन्स आज भी नहीं भूले हैं. अख्तर की बाउंसर पर तेंदुलकर ने जो छक्का लगाया उसे विश्व क्रिकेट का सबसे बेहतरीन शॉट गिना जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अख्तर जब भी आंख बंद करके सोते होंगे तेंदुलकर का वह छक्का उन्हें याद जरूर आता होगा. इस मैच में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी कर 273 रन बना लिए थे. भारत के बल्लेबाजों पर दवाब था, क्योंकि पाकिस्तान के पास वकार यूनुस और वसीम अकरम के अलावा शोएब अख्तर जैसे गेंदबाज थे. लेकिन तेंदुलकर ने मैदान पर उतरते ही पाकिस्तान के इन गेंदबाजों की जमकर धुलाई की और मैच को एकतरफा कर दिया. भले ही तेंदुलकर शतक से चूक गए लेकिन उनकी यह पारी आज भी पाकिस्तान के खिलाफ खेले ही किसी भी भारतीय बल्लेबाज के द्वारा खेली गई सबसे यादगार और दार्शनिक पारी है जिसे विश्व क्रिकेट कभी नहीं भूल पाएगा.