पहले वनडे में भारतीय टीम दो खेमों में बंटी दिखायी पड़ी, पाकिस्तानी पूर्व स्पिनर ने कहा, video

दानिश ने कहा कि टेस्ट सीरीज में हार के बाद निश्चित ही भारतीय टीम वापसी करने और सीरीज जीतने के लिए बेकरार होगी, लेकिन केएल राहुल में अभी तक करंट नहीं दिखा है.  

पहले वनडे में भारतीय टीम दो खेमों में बंटी दिखायी पड़ी, पाकिस्तानी पूर्व स्पिनर ने कहा, video

पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया

खास बातें

  • पहले वनडे में भारतीय टीम में जोश का घोर अभाव दिखा-दानिश
  • केएल राहुल की कप्तानी में नहीं दिखा करंट
  • केएल को बैटिंग और कप्तानी दोनों का स्तर ऊंचा करना होगा
नयी दिल्ली:

दक्षिण अफ्रीका के हाथों पहले वनडे में मिली हार के बाद पाकिस्तान के पूर्व  लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने विवादित बयान दिया है. कनेरिया ने कहा कि मैच के दौरान भारत का ड्रेसिंग रूम दो खेमों में बंटा हुआ दिखायी पड़ा.  वैसे मैच के दौरान विराट जोश रहित दिखायी पड़े और जाहिर है कि कप्तानी छोड़ने का असर उनकी बॉडी लैंग्वेज पर दिख रहा है. एक दिन पहले खेले गए पहले वनडे में भारत मेजबान टीम से 31 रन से हार कर सीरीज में 1-0 से पिछड़ गया है. दूसरा मुकाबला आज खेला जाएगा. 

दानिश अपने यू-ट्यूब चैनल पर बोले कि हमने मैच के दौरान देखा कि भारतीय ड्रेसिंग रूम दो खेमों में बंटा हुआ है. विराट और केएल राहुल दोनों ही अलग-अलग और दूर बैठे हुए दिखायी पड़े. वहीं, कोहली अपने उस सामान्य मूड से अलग दिखायी पड़े, जब वह अपनी कप्तानी के दिनों में दिखायी पड़ते थे. 


दानिश ने कहा कि टेस्ट सीरीज में हार के बाद निश्चित ही भारतीय टीम वापसी करने और सीरीज जीतने के लिए बेकरार होगी, लेकिन केएल राहुल में अभी तक करंट नहीं दिखा है.  उन्होंने कहा कि केएल राहुल को टेस्ट में कप्तानी का मौका मिला था, लेकिन वह दक्षिण अफ्रीकी साझेदारी को तोड़ने के लिए अपने गेंदबाजों को प्रेरित करने में नाकाम रहे. पूर्व लेग स्पिनर ने वनडे मैच को लेकर कहा कि एक स्टेज पर ऐसा नहीं लगा था कि मेजबान टीम 296 रन बना देगी, लेकिन भारतीय टीम में जोश के अभाव और खराब कप्तानी का फायदा मेजबान बल्लेबाजों ने उठाया. वहीं, भारतीय टीम ने फील्डिंग में भी खासी गलतियां कीं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कनेरिया बोले कि केएल राहुल को अपनी कप्तानी और बल्लेबाजी दोनों का स्तर ही ऊंचा करने की जरूरत है. वहीं, भुवनेश्वर कुमार ने भी खासे रन दिए और अश्विन-चहल की जोड़ी कुलदीप-चहल की तरह प्रभावी नहीं दिखी. भारत ने गेंदबाजी में वेंकटेश अय्यर का भी इस्तेमाल नहीं किया और पहले मैच में टीम में जोश का घोर अभाव दिखायी पड़ा.