विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 04, 2019

तो शाहिद अफरीदी को स्पॉट फिक्सिंग के बारे में पहले ही सब मालूम था, लेकिन...

Read Time: 4 mins
तो शाहिद अफरीदी को स्पॉट फिक्सिंग के बारे में पहले ही सब मालूम था, लेकिन...
शाहिद आफरीदी की फाइल फोटो
नई दिल्ली:

पाकिस्तान के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) अपनी आत्मकथा 'गेम चैंजर' (#GameChanger) में हर रोज एक नए खुलासे कर रहे हैं. अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपनी आत्मकथा में कहा है कि साल 2010 में हुए स्पॉट फिक्सिंग कांड से पहले उन्होंने अपने टीम साथी सलमान बट्ट, मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ की गलत कामों से टीम प्रबंधन को अवगत कराया था. अफरीदी ने कहा कि उन्होंने जब इस मामले को टीम प्रबंधन के साथ उठाया तो फिर इसका हर्जाना उन्हें टेस्ट कप्तानी छोड़कर उठाना पड़ा.  

अफरीदी ने कहा कि वह एजेंट मजहर मजीदऔर फिक्सिंग कांड के साजिशकर्ता व खिलाड़ियों के बीच हुए संदिग्ध बातचीत से अवगत थे. उन्होंने कहा कि ये बातचीत 2010 के श्रीलंका दौरे पर एशिया कप के दौरान हुई थी. अफरीदी ने लिखा, "मैंने रैकेट में शामिल मूल सबूतों को पकड़ लिया था, जो फोन संदेश के रूप में स्पॉट फिक्सिंग विवाद में शामिल खिलाड़ियों खिलाफ था, लेकिन जब मैं उस सबूत को टीम प्रबंधन के पास ले गया और फिर इसके बाद आगे जो कुछ हुआ उसे देखकर पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को चलाने वालों पर ज्यादा विश्वास नहीं होता" 

यह भी पढ़ें: कुछ इस अंदाज में शाहिद अफरीदी आत्मकथा में गौतम गंभीर पर बरसे

उन्होंने कहा, "श्रीलंका दौरे से पहले, मजीद और उनका परिवार चैंपियनशिप के दौरान टीम में शामिल हुए थे. मजीद के बेटे ने अपने पिता के मोबाइल फोन को पानी में गिरा दिया और फिर फोन ने काम करना बंद करना दिया था". पूर्व कप्तान ने आगे कहा कि उन्होंने पाकिस्तान टीम के अधिकारियों को इस बारे में सतर्क करने की कोशिश की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई.

यह भी पढ़ें: शाहिद आफरीदी ने आत्मकथा के जरिए किया अपनी 'सही उम्र' का खुलासा

उन्होंने कहा, "जब मुझे वे संदेश श्रीलंका में मिले तो फिर मैंने उस संदेश को टीम के कोच वकार यूनुस को दिखाया. दुर्भाग्य से, उन्होंने इस मामले को आगे नहीं बढ़ाया. वकार और मैंने सोचा कि यह कुछ ऐसा है जिससे कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा" 

VIDEO: पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप मैच पर रविशंकर प्रसाद की राय सुन लीजिए. 

अफरीदी ने कहा, "यह कुछ ऐसा था कि जितना बुरा दिख रहा था, उतना था नहीं. यह सिर्फ खिलाड़ियों और मजीद के बीच की एक घिनौनी बातचीत थी. ये मैसेज ज्यादा हानिकारक नहीं थे लेकिन यह कुछ ऐसा था जिसे कि दुनिया बाद में पता लगा ही लेती" 
 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कप्तानी पर चल रही उठापटक के बीच हार्दिक पंड्या के पोस्ट ने मचाया तहलका, क्या फिटनेस के मुद्दे पर दे रहे हैं जवाब?
तो शाहिद अफरीदी को स्पॉट फिक्सिंग के बारे में पहले ही सब मालूम था, लेकिन...
What are the reasons why BCCI wanted to appoint Gambhir as the coach despite him not having any direct coaching experience
Next Article
Gautam Gambhir: 'मास्टर प्लान', वो बड़े कारण जिसकी वजह से BCCI ने गौतम गंभीर को ही बनाया टीम इंडिया का मुख्य कोच
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;