विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Nov 24, 2019

IND vs BAN 2nd Test: विराट कोहली ने बयां किया अपने सीमरों की सफलता का राज़

Read Time: 4 mins
IND vs BAN 2nd Test: विराट कोहली ने बयां किया अपने सीमरों की सफलता का राज़
विराट कोहली की फाइल फोटो
कोलकाता:

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के खिलाफ दूसरे टेस्ट (2nd Test) में पारी और 46 रन से मैच जीतने के बाद कहा कि टीम में बदलाव सौरव गांगुली के दौर में आना शुरू हुआ था तथा मौजूदा टीम ने कड़ी मेहनत और आत्मविश्वास से उसे आगे बढ़ाया है. गुलाबी गेंद से देश में खेले गए पहले टेस्ट में जीत के साथ टीम ने इस सीरीज को 2-0 से अपने नाम किया. भारत ने इससे पहले इंदौर में श्रृंखला के शुरुआती मुकाबले को पारी और 130 रन से जीता था. यह भारत की घरेलू श्रृंखला में लगातार 12वीं जीत है जिससे टीम ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के शीर्ष पर अपनी बढ़त और मजबूत कर ली है. 

यह भी पढ़ें:  टीम विराट ने तो वह कर डाला, जो 142 साल के टेस्ट इतिहास में कोई टीम नहीं कर सकी

कोहली ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ‘टेस्ट क्रिकेट मानसिक युद्ध कि तरह है. हमें इसमें बने रहने के लिए जुझारू होना होगा. इसकी शुरूआत दादा (सौरव गांगुली) की टीम से हुई थी. खुद पर भरोसा सफलता की कुंजी है और ईमानदारी से कहूं तो हमने इस पर काफी मेहनत की है.' भारतीय टीम के तेज गेंदबाज शानदार लय में है। जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी में इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और उमेश यादव की तिकड़ी ने दूसरे टेस्ट में सभी बल्लेबाजों को चलता किया. 

यह भी पढ़ें:  बॉलिंग कोच भरत अरुण ने कुछ ऐसे की भारतीय सीम तिकड़ी की जमकर तारीफ

कप्तान कोहली ने कहा कि घरेलू मैचों में तेज गेंदबाजों को इसलिए सफलता मिल रही क्योंकि उन्हें खुद पर भरोसा है कि वे किसी भी परिस्थिति में विकेट चटका सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘यह वैसा ही है जैसे जब हम विदेशों में खेलते है तो उन्हें अच्छा करने का भरोसा होता है. जिस तरह से ये गेंदबाजी कर रहे हैं उससे वे कहीं भी विकेट निकाल सकते है. स्पिनरों के लिए भी यह ऐसा ही है. वे विदेशों में भी विकेट चटकाने के बारे में सोचते हैं. हम मौके का फायदा उठाने के लिए तैयार हैं और इसका लुत्फ उठा रहे हैं.' 

यह भी पढ़ें:  बांग्लादेश कप्तान मोमिनुल हक ने हार के बाद व्यक्त किए ये विचार

मैच के दौरान तीनों दिन स्टेडियम लगभग पूरा भरा हुआ था और कोहली ने इसके लिए दर्शकों का शुक्रिया किया. उन्होंने कहा, ‘यह शानदार है, संख्या बढ़ती गयी. हमने सोचा नहीं था कि आज इतनी संख्या में लोग आएंगे क्योंकि हम जीत दर्ज करने के करीब थे. इन दर्शकों ने कमाल का उदाहरण पेश किया है. मैं फिर से दोहराना चाहता हूं कि टेस्ट मैचों के स्थलों को सीमित करने का यह शानदार उदाहरण है.'वहीं, पहली पारी में 22 रन देकर पांच और दूसरी पारी में 56 रन देकर चार विकेट लेकर मैन आफ द मैच बने इशांत शर्मा ने कहा कि गुलाबी गेंद से शुरुआत में उन्हें परेशानी हुई थी. 

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी जान लीजिए, स्पेशल रिपोर्ट

श्रृंखला में 12 विकेट लेने वाले इस गेंदबाज ने कहा, ‘पिछले मैच में हमने गेंद को आगे टप्पा खिलाना शुरू किया था. मैंने और मेरे गेंदबाजी कोच ने इस बारे में बात की थी. यह महज संयोग नहीं था. गुलाबी गेंद से गेंदबाजी करना थोड़ा मुश्किल है. शुरुआत में स्विंग नहीं मिल रहा थी और हमने परिस्थितियों से सांमजस्य बिठाया' 
 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कप्तानी पर चल रही उठापटक के बीच हार्दिक पंड्या के पोस्ट ने मचाया तहलका, क्या फिटनेस के मुद्दे पर दे रहे हैं जवाब?
IND vs BAN 2nd Test: विराट कोहली ने बयां किया अपने सीमरों की सफलता का राज़
What are the reasons why BCCI wanted to appoint Gambhir as the coach despite him not having any direct coaching experience
Next Article
Gautam Gambhir: 'मास्टर प्लान', वो बड़े कारण जिसकी वजह से BCCI ने गौतम गंभीर को ही बनाया टीम इंडिया का मुख्य कोच
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;