करीब 30 साल पहले कपिल के "दीप्ति जैसी मांकडिंग" पर मचा था खूब बवाल, दिग्गज ने दिया यह सुझाव, video

पिल देव ने भी करीब तीस साल पहले दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma) की तरह इसी तरीके से दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज पीटर कर्स्टन को रन आउट किया था. कपिल से जुड़ी घटना दिसंबर 9 साल 1992 की है.

करीब 30 साल पहले कपिल के

कपिल देव ने भी अपने समय में मांकड आउट किया था, जो खासा चर्चा का विषय रहा था

खास बातें

  • साल 1992...और कपिल की मांकडिंग !
  • मैदान पर आपा खो बैठा दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज..
  • कपिल का सुझाव मानेगी आईसीसी?
नई दिल्ली:

गुजरे शनिवार को ही लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय महिलाओं की सीरीज जीत में भारतीय ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma) के "मांकड आउट" से इंग्लैंड के पुरुष क्रिकेटर मानो संतुलन खो बैठे हैं. हैरानी की बात यह है कि अब इसमें फिक्सिंग के आरोपी और सजायाफ्ता मोहम्मद हासिफ जैसे आजीवन प्रतिबंधित खिलाड़ी खेल भावना का ज्ञान बांट रहे हैं. लेकिन दीप्ति शर्मा को न केवल कप्तान हरमनप्रीत कौर सहित सभी दिग्गजों का समर्थन मिला है, तो अब पूर्व क्रिकेटर कपिल देव (Kapil) इस विषय पर नए सुझाव के साथ सामने आए हैं. 

SPECIAL STORY:निर्णायक मुकाबले में कोहली ने बना डाला विराट रिकॉर्ड, टी20 इतिहास के पहले बल्लेबाज बने

बता दें कि कपिल देव ने भी करीब तीस साल पहले इसी तरीके से दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज पीटर कर्स्टन को रन आउट किया था. कपिल से जुड़ी घटना दिसंबर 9 साल 1992 की है, जब दक्षिण अफ्रीका की जमी पर ही खेली गई सीरीज के एक मुकाबले में जब वॉर्निंग दिए जाने के बावजूद भी पीटर कर्स्टन ने नॉन-स्ट्राइकिंग छोर से गेंद डिलिवर होने से पहले ही क्रीज से बाहर निकलना नहीं छोड़ा, तो कपिल ने उन्हें रन आउट कर दिया. इस घटना से पीटर बुरी तरह आपा खो बैठे और उन्होंने मैदान पर जमकर अपशब्दों का प्रयोग किया. आप समझ सकते हैं कि ऐसे तीस साल पहले भी आउट किया जा सकता था और अभी भी. 


बहरहाल, अब कपिल देव नए सुझाव के साथ सामने आए हैं. कपिल देव ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्टी की स्टोरी में लिखा कि मेरा मानना है कि इस तरह के हालात में हर बार कोई तीव्र बहस में जाने के बजाय यहां एक साधारण नियम होना चाहिए. इस नियम के तहत बल्लेबाज को उसके रन से वंचित कर दिया जाना चाहिए. कपिल ने लिखा कि इसे शॉर्ट-रन करार देना चाहिए. मेरे विचार में यह एक बेहतर समाधान है. 

नया बदलाव 1 अक्टूबर से यह होने जा रहा 
एक अक्टूबर से लागू हो रहे आईसीसी के नए नियमों के तहत अब इस तरह से बल्लेबाज के रन आउट होने की घटना को "अनफेयर प्ले" कैटेगिरी नहीं, बल्कि "रन आउट" वर्ग में डाला जाएगा. और इसके बाद खेल भावना जैसे सवाल पूरी तरह से खत्म हो जाने चाहिए. 

यह भी पढ़ें:

“कप्तान और कोच ने मुझसे कहा..”, कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी शानदार बल्लेबाजी पर किया ये खुलासा- Video 

रोहित शर्मा ने सीधा बताया टी20 वर्ल्ड कप से पहले टीम को सुधार की कहां जरूरत, डेथ ओवरों पर दिया करारा जवाब

Video: जीत के जश्न में इस तरह झूम उठे विराट और रोहित, ड्रेसिंग रूम की सीढ़ियों पर दिखाया ‘High Josh'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com