Aus vs Ind: बुमराह के ये गुण चैंपियन बॉलर की निशानी, सचिन ने बतायी एमसीजी टेस्ट की जीत की वजहें

Aus vs Ind: सचिन बोले कि रहाणे ने बहुत ही शानदार बैटिंग की. वह शांत, सहज और संतुलित थे. उनका इरादा आक्रामक था, लेकिन इसे उन्होंने शांत मनोस्थिति और निश्चितिता से बेहतरीन अंदाज में संतुलित किया. इसलिए जब भी बाउंड्री जड़ने का मौका मिला, तो रहाणे ने मौकों को जाया नहीं किया.

Aus vs Ind: बुमराह के ये गुण चैंपियन बॉलर की निशानी, सचिन ने बतायी एमसीजी टेस्ट की जीत की वजहें

सचिन तेंदुलकर ने कई पहलुओं पर रोशनी डाली है

नई दिल्ली:

अपने समय के दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) में दूसरे टेस्ट में बेहतरीन गेंदबाजी करने वाले सीमर जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) की जमकर तारीफ की है. जहां तेंदुलकर ने इस बेहतरीन जीत के लिए न केवल अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की शानदार कप्तानी और शतक की तारीफ की बल्कि  वह जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में उम्दा गेंदबाजी करने वाले भारतीय गेंदबाजी आक्रमण को भी श्रेय देना नहीं भूले. सचिन ने कहा कि बुमराह ने तब बेहतर प्रदर्शन किया, जब भारत मुकाबले में बैकफुट पर था और यह एक चैंपियन गेंदबाज की निशानी है. सचिन बोले कि तेज गेंदबाजी विभाग में बुमराह बतौर लीडर ज्यादा जिम्मेदारी ले चुके हैं. और जब भी भारत मुकाबले में बैकफुट पर होता है, तो  उन्होंने हमेशा ही बेहतरीन कोशिश की है. यह एक चैंपियन गेंदबाज का गुण है.ध्यान दिला दें कि एमसीजी में जब कंगारू पहली पारी में 195 पर ऑलआउट हुए थे, तो बुमराह 56 रन देकर 4 विकेट चटकाए थे, जबकि दूसरी पारी में स्टीव स्मिथ सहित दो विकेट लिए थे. 

यह भी पढ़ें: सभी पांचों आइसोलेटिड खिलाड़ी शेष भारतीय टीम के साथ ही सिडनी जाएंगे और...
 
सचिन ने मोहम्मद सिराज को भी सराहते हुए कहा कि हमें सिराज की गेंदबाजी को भी नहीं भूलना चाहिए. मुझे बिल्कुल भी ऐसा नहीं लगा कि सिराज एमसीजी में अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे थे. महान बल्लेबाज ने कहा कि जिस अंदाज में सिराज ने अपना पहला ओवर डाला और फिर यहां से धीरे-धीरे गेंदबाजी के स्तर को ऊंचा किया, उससे बिल्कुल भी नहीं लगा कि सिराज अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे थे. सिराज ने बॉक्सिंग-डे टेस्ट में 40 रन देकर 2 और 37 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे. वहीं, रहाणे की 112 रन की पारी को सचिन ने सावधानी और आक्रमण का बेहतरीन नमूना करार दिया.

यह भी पढ़ें: अग्रणी ऑस्ट्रेलियाई अखबार की रिपोर्ट, रोहित, गिल और पंत के तीसरा टेस्ट खेलने की उम्मीद


सचिन बोले कि रहाणे ने बहुत ही शानदार बैटिंग की. वह शांत, सहज और संतुलित थे. उनका इरादा आक्रामक था, लेकिन इसे उन्होंने शांत मनोस्थिति और निश्चितिता से बेहतरीन अंदाज में संतुलित किया. इसलिए जब भी बाउंड्री जड़ने का मौका मिला, तो रहाणे ने मौकों को जाया नहीं किया. और जब धैर्य दिखाने की जरूरत थी, तो रहाणे ने इसका भी बखूबी परिचय दिया. उनका इरादा बहुत ही अच्छा था. वहीं, सचिन ने भारत की जीत के पीछे तीन बड़े कारकों को वजह बताया. ये कारक नंबर छह, सात और आठ पर क्रमश: पंत, जडेजा और अश्विन की बल्लेबाजी भी रही. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.