चंडीला और हिकेन शाह पर फैसला 5 जनवरी को, पाक अंपायर रऊफ को भेजेंगे नोटिस

चंडीला और हिकेन शाह पर फैसला 5 जनवरी को, पाक अंपायर रऊफ को भेजेंगे नोटिस

क्रिकेटर अजित चंडीला (फाइल फोटो)

मुंबई:

मेरे साथ कोई वकील नहीं था। भगवान ही मेरा वकील है। यह कहना है स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से घिरे क्रिकेटर अजित चंडीला का। अजित चंडीला और हिकेन शाह मामले में अब फैसला नए साल में आएगा। गुरुवार को इस मसले पर बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर की अगुआई वाली नई अनुशासन समिति ने दोनों खिलाड़ियों की दलीलें सुनीं।

दोनों क्रिकेटर गुरुवार को बीसीसीआई की अनुशासन समिति के सामने पेश हुए, जिसके बाद समिति ने 5 जनवरी को इस मसले पर अंतिम फैसला लेने की बात कही। अब दोनों क्रिकटरों को 4 जनवरी तक पूछे गए सवालों के लिखित जवाब समिति को देने होंगे। सुनवाई से बाहर आने के बाद अजित चंडीला ने कहा, "मुझसे पूछे गए सवाल दिल्ली पुलिस की जांच पर ही आधारित थे। मुझे विश्वास है कि बीसीसीआई की नई अनुशासन समिति मेरे साथ इंसाफ करेगी।"

चंडीला पर 2013 और शाह पर इस साल आईपीएल मैच फिक्स करने का प्रयास करने का आरोप है। सूत्रों के मुताबिक चंडीला पर आजीवन प्रतिबंध लग सकता है। चंडीला को पुलिस ने 2013 में राजस्थान रॉयल्स टीम के अपने साथियों एस श्रीसंत और अंकित चह्वाण के साथ आईपीएल मैचों में स्पॉट फिक्सिंग करने की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किया था। मुंबई के रणजी खिलाड़ी शाह पर इस साल आईपीएल से पहले बोर्ड की भ्रष्टाचार रोधी संहिता का उल्लंघन करने का आरोप है। शाह को भी बाद में निलंबित भी किया गया था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रऊफ को नोटिस भेजने का फैसला
समिति ने पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ को भी नोटिस भेजने का फैसला किया है। रऊफ पर सट्टेबाजों को पिच संबंधी जानकारी देने का आरोप है। बोर्ड की अनुशासन समिति में शशांक मनोहर के अलावा निरंजन शाह और ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं।