कोरोना काल में स्कूली छात्रों की पढ़ाई के लिए दिल्ली सरकार ने बनाई योजना

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि लर्निंग विद ह्यूमन फील को ध्यान में रखकर प्लान तैयार किया गया

कोरोना काल में स्कूली छात्रों की पढ़ाई के लिए दिल्ली सरकार ने बनाई योजना

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया.

नई दिल्ली:

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को कहा कि कोरोना काल मे पढ़ाई का नुकसान कम से कम हो, इसलिए सरकार ने एक प्लान बनाया है. लर्निंग विद ह्यूमन फील को ध्यान में रखकर प्लान तैयार किया गया है. उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने डिजिटल डिवाइड पैदा न हो इसका ध्यान रखा है. शुक्रवार से यह योजना एक महीने के लिए लागू हो जाएगी. कोशिश रहेगी कि टीचर और बच्चे के बीच ऑनलाइन क्लास में कनेक्शन बना रहे.


उन्होंने कहा कि केजी से 10 वीं तक की क्लास से व्हाट्सऐप ग्रुप के माध्यम से टीचर बच्चों से जुड़े हुए हैं. व्हाट्सऐप पर इन बच्चों को होम वर्क दिया जाएगा. हो सकता है कि कई अभिभावकों के पास इंटरनेट या व्हाट्सऐप नहीं हो. 10 से 20 % अभिभावकों के पास इंटरनेट या व्हाट्सऐप सुविधा नहीं है. ऐसे में टीचर उन अभिभावकों को हफ्ते में एक दिन स्कूल में बुलाकर वर्क शीट और स्टडी मटेरियल देंगे. टीचर बच्चों से फोन पर सम्पर्क करेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सिसोदिया ने कहा कि 11 से 12 वीं क्लास के बच्चों के लिए लाइव ऑनलाइन क्लास ली जाएंगी. हर रोज 40 से 45 मिनट की क्लास होगी. इसके अलावा टीचर फोन पर भी बच्चों से संपर्क में रहेंगे. हर जिले के डिप्टी डायरेक्टर इस योजना पर नज़र बनाए रखेंगे. इसके अलावा कुछ एकेडमी के ज़रिए साइंस और मेथ्स के बच्चों की मदद की जाएगी.