बिहार : सारण में संदिग्ध मौतों से कोहराम, मृतकों के परिजन बोले- जहरीली शराब पीने से गई जान

बिहार के सारण में जहरीली शराब के सेवन से दो लोगों की मौत हुई है जबकि एक व्यक्ति की आखों की रोशनी गायब हो गई है. मृतकों के परिजनों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई.

बिहार : सारण में संदिग्ध मौतों से कोहराम, मृतकों के परिजन बोले- जहरीली शराब पीने से गई जान

दो लोगों की मौत जबकि एक व्यक्ति की आखों की रोशनी गायब (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सारण:

बिहार के सारण जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में हो रही मौतों से गांवों में तहलका मचा हुआ है. परिजन मौत का कारण जहरीली शराब पीना बता रहे हैं जबकि प्रशासन इन मौतों का कारण बीमारी और ठंड लगना बता रहा है. आश्चर्य की बात यह है कि जो मौत हुई हैं, उनमे केवल मर्द ही शामिल हैं, उसमें कोई महिला या बच्चा नहीं है. मृतकों में वे ही पुरुष शामिल हैं, जो शराब पीने के आदी हैं. यदि ठंड से मौत होती तो मृतकों से बहुत अधिक उम्र की महिलाएं भी उसी गांव में हैं लेकिन उन्हें कुछ नहीं हुआ. 

मृतकों के परिजनों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से मौत हुई. विशाक्त शराब के सेवन से दो लोगों की मौत हुई है जबकि एक व्यक्ति की आखों की रोशनी गायब हो गई है. 

उल्लेखनीय है कि बिहार में शराब पर पूर्ण रूप से पाबंदी है, इसके बावजूद भी यहां शराब का धंधा खूब फल फूल रहा है. शराब का धंधा आसानी से मोटी रकम कमाने का कुटीर उद्योग बन गया है. लोग इसके सेवन से बाज नहीं आ रहे, पुलिस अधिकारी मौन रह रहे हैं.

जहरीली शराब पीने से दो ब्यक्ति की मौत हो गई है, एक व्यक्ति की आंखों की रोशनी चली गई है. घटना मकेर थाना क्षेत्र के परमानन्द छपरा, नरसिंह भानपुर व बसंतपुर बंगला गांव की है. जहरीली शराब से मौत होने की सूचना मिलते ही डीएसपी इंदरजीत के नेतृत्व में दजर्नों पुलिस अधिकारी मंगलवार रात नरसिंहभानपुर गांव पहुंचे और घटना की तहकीकात की. 

READ ALSO: बिहार : नालंदा जिला प्रशासन ने कबूला- जहरीली शराब से हुई 11 मौतें, 6 FIR दर्ज; 5 गिरफ्तार

मृतक रामनाथ राय की पत्नी लालती देवी ने पुलिस को बताया कि गांव के आसपास शराब बिकती है. वही से शराब पीकर आये और सर में तेज दर्द होने लगा, घर में कोई पुरुष नहीं था, एक बेटा है वह भी दूसरे प्रदेश कमाने गया है. उपचार के लिए कुछ सोच ही रही थी कि इतने में वे दम तोड़ दिए. मृतक रामनाथ राय के शव को पोस्टमॉटर्म के लिए छपरा भेज दिया गया. 

बुधवार की सुबह बसन्तपुर बंगला गांव के मो अली मिया के पुत्र मोहमद ईशा को जनता बाजार के पास अचानक खून की उल्टी शुरू हो गई.  परिजन आनन फानन में उपचार के लिए सीएचसी ले गये, जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई. मृतक के बेटे आजाद हुसैन की पत्नी रूबी खातून ने बताया कि शराब पिये हुए थे, किसी तरह रात भर घर रहे, सुबह उपचार के लिए जनता बाजार ले गए, जहां खून की उल्टी होने लगी. आनन फानन में सरकारी अस्पताल लाया, जहां इनकी मौत हो गई. महिला मौत की वजह विषाक्त शराब पीना बता रही है. 

'जहरीली शराब से जिनकी मौत हुई, क्या उनके परिजनों को जेल भेजेंगे' : बिहार BJP अध्यक्ष का नीतीश सरकार से सवाल

वहीं, मालिक महतो के पुत्र पलटन महतो (35 वर्ष) के आखों की रोशनी जहरीली शराब पीने से गायब हो गयी है. उनका उपचार मुजफ्फरपुर निजी अस्पताल में कराया जा रहा है. इन्होंने खुद बताया कि गांव में एक धंधेबाज से सौ रुपया के दो पॉलीथीन देशी शराब लिया. हम और एक दोस्त दोनों ने शराब पिया. कुछ देर बाद बेचैनी होने लगी. घर जाते ही गिर पड़ा. आंख की रोशनी गायब होने लगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: बिहार जहरीली शराब कांड पर घिरे CM नीतीश कुमार करेंगे समीक्षा, बोले- 'पियोगे तो मरोगे'