पंजाब चुनाव : रैली में बोले राजनाथ सिंह - अगर वोट नहीं देना है तो मत दीजिए लेकिन जूता मत फेंकिए

पंजाब चुनाव : रैली में बोले राजनाथ सिंह - अगर वोट नहीं देना है तो मत दीजिए लेकिन जूता मत फेंकिए

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह पंजाब में भाजपा-शिअद के लिए चुनाव प्रचार किया.

खास बातें

  • राजनाथ सिंह पंजाब में भाजपा-शिअद के लिए चुनाव प्रचार किया
  • सीएम प्रकाश सिंह बादल की रैली में जूता फेंकने की घटना की निंदा की
  • राजनाथ ने पंजाब में मादक पदार्थ के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया
नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह पंजाब में भाजपा-शिअद के लिए चुनाव प्रचार किया.मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की रैली में जूता फेंकने की घटना की निंदा की. उन्होंने कहा कि अगर आप वोट नहीं देना चाहते हैं तो मत दीजिए. पर आप जूते मत फेंकिए. गौरतलब है कि हाल ही में लांबी विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान पंजाब के मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के ऊपर जूता फेंका गया था.
 
चुनावी रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब में मादक पदार्थ बुराई के लिए मंगलवार को पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया. इस मसले पर पूरे राज्य को 'बदनाम' करने के लिए विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा. सिंह ने कहा कि पंजाब में जो कोई भी मादक पदार्थों के कारोबार को बढ़ावा देने का प्रयास करेगा तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा.

उन्होंने अबोहर, फाजिल्का और फिरोजपुर में भाजपा-शिअद के लिए चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, "यदि भारत अनाज के मामले में आत्मनिर्भर बना है तो इसमें पंजाब का योगदान शीर्ष पर है. यद्यपि ये लोग (विपक्ष) पंजाब को न केवल राज्य में बल्कि विदेश में भी बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं जहां वे कहते हैं कि पंजाबी युवा मादक पदार्थ का सेवन कर रहे हैं और वे इसके आदी हैं."

पंजाब में चार फरवरी को चुनाव होना है. विपक्षी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने मादक पदार्थ समस्या को चुनावी मुद्दा बनाया है. शिअद-भाजपा सरकार पर इस बुराई पर रोकने में असफल रहने का आरोप लगाया है.

सिंह ने कहा कि विपक्ष सरकार को मादक पदार्थ बुराई के लिए जिम्मेदार ठहरा रहा है जो सही नहीं है. उन्होंने कहा कि वह ऐसे लोगों से यह पूछना चाहते हैं कि क्या पंजाब में युवा केवल मादक पदार्थ लेने में लिप्त हैं. उन्होंने कहा, "मादक पदार्थ लेना सही बात नहीं नहीं, कोई भी इस बुराई में पड़ सकता है, लेकिन आप पूरे राज्य और उसके युवाओं को इस तरह से बदनाम नहीं कर सकते. इस पर रोक लगनी चाहिए और प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है. हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान निश्चित तौर पर इस पर 'गड़बड़' कर रहा है."
(इनपुट भाषा से भी)


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com