पानी में तैरता दिखा पीले रंग का कछुआ, लोग बोले- 'पहले नहीं देखा कभी...' - देखें Viral Video

उड़ीसा (Odisha) की राजधानी भुवनेश्वर से 196 किलोमीटर दूर बालासोर जिले के एक गांव में पीले रंग का कछुआ मिला है. पीले कछुए की फोटो इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है.

पानी में तैरता दिखा पीले रंग का कछुआ, लोग बोले- 'पहले नहीं देखा कभी...' - देखें Viral Video

पानी में तैरता दिखा पीले रंग के कछुए का वीडियो हुआ वायरल

उड़ीसा (Odisha) की राजधानी भुवनेश्वर से 196 किलोमीटर दूर बालासोर जिले के एक गांव में पीले रंग का कछुआ मिला है. पीले कछुए की फोटो इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है. इस वीडियो को इंडियन फॉरेस्ट ऑफिसर (IFS) सुशांत नंदा (Susanta Nanda) ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है. साथ ही कैप्शन में लिखा, कल उड़ीसा के बालासोर में एक दुर्लभ पीले रंग के कछुए को बचाया गया. शायद यह एक अल्बिनो था. और कुछ समय पहले भी सिंध के स्थानीय लोगों ने भी इस तरह के कछुए का जिक्र किया था. 

इस वीडियो में दिख रहे कछुए का रंग पूरी तरह से पीला है. न्यूज एजेंसी एएनआई से खास बातचीत में वन्यजीव वार्डन भानुमित्र आचार्य ने कहा कि मैंने आज से पहले कभी भी इस तरह का कछुआ नहीं देखा था. आगे वह कहते हैं कि रविवार के दिन बालासोर जिले के सुजानपुर गांव के स्थानीय लोगों द्वारा पीले कछुए को बचाया गया. और फिर इसके बाद फॉरेस्ट ऑफिसर अधिकारियों को बुलाकर उन्हें सौंप दिया गया .

देखें Viral Video:

आप इस वायरल वीडियो में देख सकते हैं कि किस तरह से यह पीला कछुआ पानी के अंदर तैर रहा है. फॉरेस्ट ऑफिसर सुशांत ने लिखा कि आप जरा इस कछुए को ध्यान से देखेंगे तो आपको इसका गुलाबी रंग की आंखे भी नजर आएगी. 

आपको बता दें कि यह वीडियो शेयर होने के बाद से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो को अब तक 15 हजार से अधिक बार देखा जा चुका है वहीं इस वीडियो पर 100 से ज्यादा कमेंट आ चुके हैं. साथ ही इस वीडियो पर 200 से ज्यादा रिट्वीट और 1 हजार से ज्यादा लाइक्स आ चुके हैं. 


एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले महीने उड़ीसा के मयूरभंज जिले के देउली डैम में मछुआरों द्वारा ट्रायोनिडीए कछुए की एक दुर्लभ प्रजाति पकड़ी गई थी. कछुए को बाद में फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के अधिकारियों को बुलाकर उन्हें सौंप दिया गया था. इस कछुआ का नाम Trionychidae softshell के नाम से जाना जाता है. सिर्फ इतना ही नहीं यह अफ्रीका, एशिया और उत्तरी अमेरिका में पाया जाता है. फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के मुताबिक इस कछुए का वजन 30 किलोग्राम से अधिक था और साथ ही आपको बता दें कि यह कछुआ  50 साल का था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com