कभी पृथ्वी से 53 साल पहले चांद पर जाते समय दिखा था UFO, इस तस्वीर पर कई दावे किए गए हैं

रिपोर्ट के अनुसार, बज एल्ड्रिन ने अपोलो 11 के मिशन के दौरान कोई अजीब चीज नोटिस की थी. उन्‍होंने मिशन कंट्रोलर से रॉकेट की पोजिशन के बारे में सवाल किया था. उन्‍होंने कुछ ऐसा देखा था, जिसे नजदीक से ऑब्‍जर्व किया जा सकता था.

कभी पृथ्वी से 53 साल पहले चांद पर जाते समय दिखा था UFO, इस तस्वीर पर कई दावे किए गए हैं

क्या कभी सोचा है कि इस धरती पर हमारे अलावा कोई और जीव रहता है, जिसे हम एलियन कहते हैं. यूं तो इस धरती पर एलियन के बारे में कई जानकारियां  और साक्ष्य मौजूद हैं. मगर अभी भी एक सच्चाई है कि एलियन से हमारा कभी सामना नहीं हुआ है. हालांकि, फूटेज, वीडियो और तस्वीरों में  यूएफओ के बारे में जानकारियां मिलती हैं. UFO यानी अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्‍जेक्‍ट. ये हमेशा से लोगों को रोमांचित करते आए हैं. हाल में “द एपोस्टल्स ऑफ अपोलो” की लेखिका कैरल मेर्श ने अपनी किताब ‘ए बाइबल ऑन द मून' का अपडेटेड वर्जन रिलीज किया है. इस किताब में एक बेहद हैरान करने वाला मामला सामने आया है. किताब के अनुसार, अपोलो 11 में शामिल रहे बज एल्ड्रिन (Buzz Aldrin) की मिशन कंट्रोल से हुई एक बातचीत के बारे में लिखा गया है. इसमें एक अजीब अंतरिक्ष यान के बारे में बातचीत की गई थी.

रिपोर्ट के अनुसार, बज एल्ड्रिन ने अपोलो 11 के मिशन के दौरान कोई अजीब चीज नोटिस की थी. उन्‍होंने मिशन कंट्रोलर से रॉकेट की पोजिशन के बारे में सवाल किया था. उन्‍होंने कुछ ऐसा देखा था, जिसे नजदीक से ऑब्‍जर्व किया जा सकता था. एल्ड्रिन ने कहा था कि अगर वह चीज अपोलो रॉकेट का हिस्सा नहीं थी, तो वह सिर्फ एक UFO रहा होगा. एक और घटना जिसका जिक्र किया गया है, वह अपोलो 11 के कमांडर नील आर्मस्ट्रांग के ‘ह्यूस्टन, द ईगल हैड लैंडेड' कहने के तुरंत बाद हुई थी.

गौरतलब है कि साल 2005 में एक चैनल से बातचीत में भी एल्ड्रिन ने यह जानकारी दी थी कि अपोलो 11 मिशन के चालक दल ने अंतरिक्ष में अजीब चीजों को देखा था. अपोलो 11 मिशन साल 1969 में लॉन्‍च हुआ था. इसके जरिए इंसान ने पहली बार चंद्रमा पर कदम रखा था. हालांकि एल्ड्रिन और उनके सहयोगियों ने कभी भी एलियंस पर सीधे तौर पर कुछ नहीं कहा. सिर्फ यह कहा गया था कि मिशन के दौरान कुछ ऑब्‍जेक्‍ट पहचाने नहीं जा सके थे. 

गौरतलब है कि अमेरिका की सरकार UFO के बारे में जानने के लिए गंभीरता से काम कर रही है. कुछ महीनों पहले ही अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (Nasa) ने कहा था कि वह वैज्ञानिकों की एक ऐसी टीम बनाने जा रही है जो आकाश में होने वाली इन घटनाओं की जांच करेगी. इसके बाद नासा ने 16 लोगों की टीम बनाई. UAP जिसे अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग फ‍िनॉमिना कहा जाता है, वह UFO का ही रीब्रैंड वर्जन है. रिसर्च के तहत अनक्‍लासिफाइड डेटा का इस्‍तेमाल करके एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी, जिसे अगले साल सार्वजनिक किया जाएगा.

"अगर आप (भारत) हमारे कष्टों से फायदा उठाते हो तो...." Ukraine के विदेश मंत्री का संदेश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Featured Video Of The Day

सुप्रीम कोर्ट को मिले 5 नए जज, CJI चंद्रचूड़ ने दिलाई शपथ