रतन टाटा ने दिव्यांग कुत्ते को ऐसे दिलाया घर, शेयर किया पोस्ट, लिखी दिल को छू लेने वाली बात

बिजनेस टाइकून रतन टाटा कुत्तों के प्रति अपने प्यार के लिए जाने जाते हैं. हाल ही में उन्होंने एक पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने एक आवारा कुत्ते के लिए घर खोजने की बात कही है. रतन टाटा ने स्प्राइट नामक एक आवारा कुत्ते की गोद लेने की कहानी बताई है.

रतन टाटा ने दिव्यांग कुत्ते को ऐसे दिलाया घर, शेयर किया पोस्ट, लिखी दिल को छू लेने वाली बात

रतन टाटा ने दिव्यांग कुत्ते को ऐसे दिलाया घर, शेयर किया पोस्ट

बिजनेस टाइकून रतन टाटा कुत्तों के प्रति अपने प्यार के लिए जाने जाते हैं. हाल ही में उन्होंने एक पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने एक आवारा कुत्ते के लिए घर खोजने की बात कही है. रतन टाटा ने स्प्राइट नामक एक आवारा कुत्ते की गोद लेने की कहानी बताई है, जिसकी गोद लेने की अपील उन्होंने दिसंबर 2020 में अपने इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर शेयर की था.

12 दिसंबर को रतन टाटा द्वारा साझा की गई पोस्ट को पढ़ें, "आपने पहले दो बार उदारतापूर्वक और सफलतापूर्वक मेरी मदद की है और इसके लिए मैं आभारी हूं. मैं आपसे एक बार फिर स्प्राइट के लिए एक प्यारा परिवार खोजने में मेरी मदद करने का अनुरोध कर रहा हूं, जो बहुत कुछ झेल चुका है और एक दुर्घटना के बाद उसके पिछले पैर लकवाग्रस्त हो गए हैं.”

पोस्ट में स्प्राइट के ठीक होने और एक फुर्तीले और खुश कुत्ते के रूप में बढ़ते हुए क्लिप और तस्वीरें दिखाई गईं.

देखें Video:

आज, रतन टाटा ने यह घोषणा करने के लिए इंस्टाग्राम पर तीन कहानियां साझा कीं, कि पुच को एक दयालु व्यक्ति ने गोद लिया है. उन्होंने स्प्राइट का एक वीडियो साझा करते हुए अपनी पहली कहानी में लिखा था, "अगर आपको स्प्राइट याद है, पैरापेलिक कुत्ता जिसे घर की जरूरत थी."

रतन टाटा द्वारा इंस्टाग्राम पर स्प्राइट के बारे में साझा की गई कहानी(Instagram/@ratantata)

इसके बाद उन्होंने एनिमल गार्जियंस मुंबई और एनिमल रेस्क्यूअर कावेरी भारद्वाज को धन्यवाद दिया, कि उन्होंने स्प्राइट को अपने घर में हमेशा के लिए खुशी से गोद लेने के प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया.


अंतिम कहानी में, टाटा ने अपने नए घर के लिए तैयार जुबिलेंट स्प्राइट की एक तस्वीर साझा की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गोद लेने की कहानी वास्तव में दिल को छू लेने वाली है. इस पर आपके क्या विचार हैं?