पाकिस्तानी पायलट ने बीच यात्रा में प्लेन उड़ाने से किया इनकार, वजह सुन भड़के यात्री और फिर...

अंत में, फंसे हुए यात्रियों को एक होटल में ठहराया गया जब तक कि वे पाकिस्तान में इस्लामाबाद की अपनी यात्रा दोबारा शुरु नहीं कर लेते.

पाकिस्तानी पायलट ने बीच यात्रा में प्लेन उड़ाने से किया इनकार, वजह सुन भड़के यात्री और फिर...

पाकिस्तानी पायलट ने बीच यात्रा में प्लेन उड़ाने से किया इनकार

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) (Pakistan International Airlines) के एक पायलट ने रविवार को आपातकालीन लैंडिंग करने के बाद यह कहते हुए आगे उड़ान भरने से इनकार कर दिया कि उसकी शिफ्ट खत्म हो गई है. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, उड़ान पीके-9754 ने रियाद से उड़ान भरी और उसे इस्लामाबाद तक उड़ान भरना था. हालांकि, खराब मौसम की वजह से फ्लाइट को सऊदी अरब के दम्मम में एमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी.

समस्या तब पैदा हुई जब पायलट ने आपातकालीन लैंडिंग करने के बाद आगे उड़ान भरने से इनकार कर दिया.

स्थानीय मीडिया ने बताया कि पायलट- जिसका नाम नहीं लिया गया है, उसने उड़ान जारी रखने से इनकार कर दिया, यह दावा करते हुए कि उसकी ड्यूटी का समय समाप्त हो गया है. इस बीच, विमान के अंदर यात्रियों ने उतरने से इनकार कर दिया और अपनी यात्रा में देरी का विरोध करना शुरू कर दिया. जैसे ही स्थिति ज्यादा तनावपूर्ण होती गई, दम्मम हवाई अड्डे की सिक्योरिटी को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए बुलाया गया.

अंत में, फंसे हुए यात्रियों को एक होटल में ठहराया गया जब तक कि वे पाकिस्तान में इस्लामाबाद की अपनी यात्रा दोबारा शुरु नहीं कर लेते.

द गल्फ न्यूज ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के प्रवक्ता के हवाले से कहा, "एक पायलट को आराम करना चाहिए क्योंकि यह उड़ान सुरक्षा के लिए जरूरी है. सभी यात्री इस्लामाबाद हवाई अड्डे पर रात 11 बजे पहुंचेंगे, तब तक होटलों में सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं."

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस पाकिस्तान का राष्ट्रीय वाहक है. इसने पिछले साल नवंबर में सऊदी अरब में अपने उड़ान संचालन का विस्तार किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह पहली बार नहीं है जब इमरजेंसी लैंडिंग के बाद यात्री फंसे हैं. पिछले साल नवंबर में, दर्जनों लोग यूरोप में फंसे हुए थे, जब उनकी यूएस जाने वाली उड़ान के इंजन में खराबी के कारण डबलिन, आयरलैंड में आपातकालीन लैंडिंग हुई थी.