झुग्गी के अंदर तेंदुए ने दिया 4 बच्चों को जन्म, लोगों को बच्चों के पास नहीं आने दे रही मां - देखें Video

मादा तेंदुए ने मंगलवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक (Nashik) के इगतपुरी (Igatpuri) इलाके में एक झोपड़ी के अंदर चार शावकों को जन्म (Leopardess Gives Birth To 4 Cubs) दिया. वीडियो तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है.

झुग्गी के अंदर तेंदुए ने दिया 4 बच्चों को जन्म, लोगों को बच्चों के पास नहीं आने दे रही मां - देखें Video

झुग्गी के अंदर तेंदुए ने दिया 4 बच्चों को जन्म, अंदर ऐसे कर रही बच्चों की रक्षा... देखें Video

एक मादा तेंदुए ने मंगलवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक (Nashik) के इगतपुरी (Igatpuri) इलाके में एक झोपड़ी के अंदर चार शावकों को जन्म (Leopardess Gives Birth To 4 Cubs) दिया. नन्हे शावकों के एक वीडियो ने अब सोशल मीडिया (Social Media) पर धमाल मचा दिया है. जन्म देने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन में देरी हो रही है. वन विभाग अब शावक को अलग स्थान पर ले जाने के लिए तेंदुए का इंतजार कर रहा है. वीडियो तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है.

गणेशराव जोले, वन विभाग अधिकारी ने एएनआई को बताया, 'मादा तेंदुए ने इगतपुरी में एक झोपड़ी के अंदर चार को जन्म दिया. वे सभी सुरक्षित और स्वस्थ हैं. हम तेंदुए के शावक को दूसरी जगह ले जाने का इंतजार कर रहे हैं. शावकों के कारण, हम अब तेंदुए को नहीं पकड़ सकते.'

समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा ट्विटर पर शेयर किए गए एक वीडियो में झोपड़ी के अंदर अपने चार शावकों के साथ मां तेंदुए को दिखाया गया है.

देखें Video:

इस वीडियो को 19 अगस्त की सुबह शेयर किया गया था, जिसके अब तक 1.2 लाख व्यूज हो चुके हैं. साथ ही 14 हजार से ज्यादा लाइक्स और 2 हजार से ज्यादा रि-ट्वीट हो चुके हैं. कई ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने कहा कि शावक बहुत प्यारे हैं. जबकि अन्य ने मानव-पशु संघर्ष के बढ़ते उदाहरणों पर चिंता व्यक्त की.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रणथंभौर नेशनल पार्क के अनुसार, भारतीय तेंदुआ आईयूसीएन रेड लिस्ट में सूचीबद्ध एक कमजोर प्रजाति है, क्योंकि इसकी आबादी कम है. तेंदुए को शिकारियों ने अपने खाल और शरीर के अन्य हिस्सों के लिए निशाना बनाया है. हालांकि, विशेष रूप से खेती के कारण, निवास स्थान का नुकसान भी उनके लिए खतरा बन गया है. मानव-पशु संघर्ष के बढ़ते उदाहरणों के लिए पर्यावास हानि को भी दोषी ठहराया गया है.