विज्ञापन
Story ProgressBack

अमेरिका के इस कदम के बाद युद्ध की कगार से पीछे हटते नजर आ रहे ईरान और इजराइल

Israel Iran Tension: आयरन डोम एयर डिफेंस सिस्‍टम सहित इजरायल की सुरक्षा को मजबूत करने के उद्देश्य से अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने देश के लिए 13 अरब डॉलर की नई सैन्य सहायता को मंजूरी दी है.

Read Time: 2 mins
अमेरिका के इस कदम के बाद युद्ध की कगार से पीछे हटते नजर आ रहे ईरान और इजराइल
ईरान ने इजराइल के हमले को कम महत्व दिया...

ईरान और इजरायल के बीच जारी (Israel Iran Tension) तनाव के अब कम होने के संकेत मिल रहे हैं. एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका ने गाजा में अपने सहयोगी के युद्ध की बढ़ती आलोचना के बावजूद शनिवार को नई इजरायली सैन्य सहायता (US Approves Military Aid) को मंजूरी दे दी, ऐसे में ईरान और इजरायल संघर्ष की कगार से पीछे हटते दिखाई दे रहे हैं.

ईरान ने अपने ड्रोन और मिसाइल हमले के लिए इजरायल की कथित जवाबी कार्रवाई को ज्‍यादा तवज्‍जो नहीं दी और इस आशंका को कम कर दिया कि कट्टर दुश्मनों के बीच बढ़ते हमले मिडिल ईस्‍ट में एक बड़े युद्ध में बदल सकते हैं. हालांकि, इराकी सैन्य अड्डे पर एक घातक विस्फोट ने क्षेत्र में लगातार तनाव को रेखांकित किया, जैसे कि गाजा में और अधिक घातक इजरायली हमले और वेस्ट बैंक में झड़पें तेज हो गईं.

Advertisement

आयरन डोम एयर डिफेंस सिस्‍टम सहित इजरायल की सुरक्षा को मजबूत करने के उद्देश्य से अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने देश के लिए 13 अरब डॉलर की नई सैन्य सहायता को मंजूरी दी. इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने सहायता बिल का स्वागत करते हुए एक्स पर लिखा, "यह इजरायल के लिए मजबूत द्विदलीय समर्थन प्रदर्शित करता है और पश्चिमी सभ्यता की रक्षा करता है."

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने इसकी "फिलिस्तीनी लोगों के खिलाफ आक्रामकता" और "खतरनाक वृद्धि" के रूप में निंदा की है. राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रवक्ता नबील अबू रूडीना ने कहा, "यह पैसा गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक में हजारों फ़िलिस्तीनी हताहतों की संख्या में तब्दील हो जाएगा."

बता दें कि एक सप्ताह पहले ईरान द्वारा इजरायली क्षेत्र पर तेहरान के पहले सीधे हमले में 300 से अधिक मिसाइलें और ड्रोन लॉन्च करने के बाद, इजरायल ने चेतावनी दी थी कि वह जवाबी हमला करेगा. ईरान का हमला उस हवाई हमले के प्रतिशोध में था, जिसके लिए व्यापक रूप से इज़राइल पर आरोप लगाया गया था कि उसने 1 अप्रैल को दमिश्क में ईरानी वाणिज्य दूतावास को नष्ट कर दिया था और सात रिवोल्यूशनरी गार्ड्स को मार डाला था.

ये भी पढ़ें:- बिहार में दूसरे चरण का चुनाव नीतीश के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मालदीव के साथ एफटीए चाहता है भारत : मालदीव के मंत्री
अमेरिका के इस कदम के बाद युद्ध की कगार से पीछे हटते नजर आ रहे ईरान और इजराइल
ईरान ने पुर्तगाली ध्वज वाले जहाज के चालक दल में शामिल भारतीय सदस्यों को राजनयिक पहुंच प्रदान की
Next Article
ईरान ने पुर्तगाली ध्वज वाले जहाज के चालक दल में शामिल भारतीय सदस्यों को राजनयिक पहुंच प्रदान की
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;