'Prashant kanojia' - 6 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • Uttar Pradesh | बुधवार जून 12, 2019 04:23 AM IST
    लड़के का यह पोस्ट उस दौरान काफी वायरल हुआ औऱ बाद में पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने पहले लड़के को पकड़ा और उसे 39 दिनों तक हिरासत में रखा गया. इस घटना का लड़के के परिवार और खुद उसपर ऐसा प्रभाव पड़ा कि उसने औरउसके परिवार ने यह तय किया कि वह पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी को लेकर फेसबुक पर कुछ भी नहीं लिखेंगे. 
  • India | मंगलवार जून 11, 2019 12:55 PM IST
    किसी की गिरफ्तारी अपने आप में असाधारण कदम होता है. यह कोई हत्या का मामला नहीं था और प्रशांत कनौजिया को तुरंत रिहा किया जाना चाहिए. कोर्ट ने कहा कि हम जिस देश में है उसका संविधान दुनिया का सबसे अच्छा संविधान है. आप किसी को 11 दिन तक कैसे हिरासत में रख सकते हैं.  रिहाई के आदेश के बाद प्रशांत कनौजिया के वकील ने मीडिया से बात की. प्रशांत कनौजिया के वकील ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी को बिल्‍कुल गलत ठहराया है.
  • India | मंगलवार जून 11, 2019 12:12 PM IST
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि यूपी सरकार प्रशांत कनौजिया को रिहा करे. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा- ट्वीट क्या है, इससे मतलब नहीं है. किस प्रावधान में गिरफ्तारी हुई है. सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा, हमने रिकॉर्ड देखा है, एक नागरिक के स्वतंत्रता के अधिकार में दखल दिया गया है. राय भिन्न हो सकती है.
  • India | सोमवार जून 10, 2019 12:46 PM IST
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी को उनकी पत्नी जगीशा अरोड़ा ने चुनौती दी है. इस मामले में मंगलवार को सुनवाई होगी. प्रशांत की पत्नी जगीशा कनौजिया ने सुप्रीम कोर्ट में 'हैबियस कॉरपस' याचिका दाखिल की है. याचिका में कहा गया है कि प्रशांत की गिरफ्तारी गैरकानूनी है और यूपी पुलिस ने इस संबंध में ना तो FIR के बारे में जानकारी दी है ना ही गिरफ्तारी के लिए कोई गाइडलाइन का पालन किया है. उन्हें दिल्ली में ट्रांजिट रिमांड के लिए किसी मजिस्ट्रेट के पास भी पेश नहीं किया गया. आपको बता दें कि शनिवार सुबह दिल्ली में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा मंडावली स्थित उनके घर से हिरासत में लिया गया था. 
  • India | सोमवार जून 10, 2019 01:53 AM IST
    यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर गिरफ्तार किये गए पत्रकार प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने एनडीटीवी को बताया, 'शनिवार की सुबह एक दोस्त के फोन से नींद खुली. उसने बताया कि कुछ लोग प्रशांत (Prashant Kanojia) को उनके नाम से ढूंढ रहे हैं. इसके बाद दोपहर में दो लोग सादे कपड़ों में पहुंचे और प्रशांत को पूछताछ के लिए ले गए'. जगीशा ने कहा कि, 'सबकुछ 5 मिनट के अंदर हुआ...मुझे भी कुछ समझ में नहीं आया. प्रशांत सीढ़ियों से नीचे गए और वापस लौटे तो कहा कि उन्हें चेंज करके जाना होगा. दो लोग लेने आए हैं'.
  • Uttar Pradesh | रविवार जून 9, 2019 01:52 PM IST
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर विवादित ट्वीट करने के आरोप में यूपी ने एक पत्रकार को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार पत्रकार का नाम प्रशांत कनौजिया है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया. पुलिस ने प्रशांत पर सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी करने तथा अफवाह फैलाने के आरोप लगाए और आईपीसी 500, 505 और आईटीएक्ट की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया. पुलिस का दावा है कि आरोपी ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है. दरअसल एक महिला ने योगी आदित्यनाथ को लेकर एक विवादित दावा किया था जिसका वीडियो प्रशांत ने ट्वीट कर टिप्पणी की थी. हालांकि कुछ लोग इस पर भी सवाल उठा रहे हैं कि इतनी सख्त कार्रवाई की ज़रूरत नहीं थी.  इसके बाद 6 जून को नोएडा के एक न्यूज़ चैनल ने मुख्यमंत्री योगी पर आरोप लगाने वाली महिला और उसके आरोपों पर चर्चा की. इस चर्चा के बाद आरोप लगाने वाली महिला ने न्यूज़ चैनल से बाहर आकर बयान भी दिया. जिसके आधार पर प्रशांत कनौजिया नाम के पत्रकार ने उसे ट्वीट कर दिया और उसे गिरफ़्तार कर लिया गया. पुलिस का कहना है कि ये चर्चा बिना तथ्यों के जांच के की गई. इस मामले में नोएडा पुलिस ने न्यूज़ चैनल के संपादक अनुज शुक्ला और चैनल हेड इशिका सिंह को गिरफ़्तार कर लिया है. पुलिस का ये भी दावा है कि ये चैनल बिना लाइसेंस के चल रहा था.
और पढ़ें »
'Prashant kanojia' - 14 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com