विज्ञापन

India Moon Mission

'India Moon Mission' - 146 News Result(s)
  • अमेरिकी अंतरिक्षयान ने चंद्रमा से भेजी पहली तस्वीर, एक्सपर्ट बोले-ये मामूली सफलता

    अमेरिकी अंतरिक्षयान ने चंद्रमा से भेजी पहली तस्वीर, एक्सपर्ट बोले-ये मामूली सफलता

    निजी क्षेत्रों को प्रोत्साहित कर नासा (Nasa Mission Lunar) इस दशक के आखिर तक अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर वापस भेजने की योजना बना रहा है. मिशन के लिए इंटुएटिव मशीन्स को करीब 120 मिलियन डॉलर का भुगतान किया गया है.

  • ISRO ने उपग्रह XPoSAT को किया सफल लॉन्‍च, 'ब्लैक होल' की रहस्यमयी दुनिया का करेगा अध्ययन

    ISRO ने उपग्रह XPoSAT को किया सफल लॉन्‍च, 'ब्लैक होल' की रहस्यमयी दुनिया का करेगा अध्ययन

    ISRO XpoSat Launch: इस साल चंद्रमा (Moon Mission) पर सफलता हासिल करने के बाद, भारत 2024 की शुरुआत ब्रह्मांड और इसके सबसे स्थायी रहस्यों में से एक "ब्लैक होल" (Black Holes) के बारे में और अधिक समझने के लिए महत्वाकांक्षी अभियान शुरू किया है.

  • चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रयान-3 मिशन की सफलता से उत्साहित इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई है और अंतरिक्ष एजेंसी अब उसकी सतह से कुछ चट्टानी पत्थर लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है. सोमनाथ ने यहां राष्ट्रपति भवन सांस्कृतिक केंद्र (आरबीसीसी) में राष्ट्रपति भवन विमर्श श्रृंखला पर अपने व्याख्यान में चंद्रमा से चट्टानी पत्थर लाने के मिशन का विवरण साझा किया.

  • इसरो साल 2040 तक चंद्रमा पर पहला अंतरिक्ष यात्री भेजेगा

    इसरो साल 2040 तक चंद्रमा पर पहला अंतरिक्ष यात्री भेजेगा

    परीक्षण वाहन (टीवी-डी1) की पहली विकास उड़ान 21 अक्टूबर, 2023 को लॉन्च की गई थी और इसने ‘क्रू एस्केप सिस्टम’ का सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया. इसके बाद क्रू मॉड्यूल को अलग किया गया और बंगाल की खाड़ी से भारतीय नौसेना ने इसे सुरक्षित प्राप्त किया.

  • चंद्रयान-3 विक्रम लैंडर ने चंद्रमा पर उतरते ही वहां की धूल हटा दी थी

    चंद्रयान-3 विक्रम लैंडर ने चंद्रमा पर उतरते ही वहां की धूल हटा दी थी

    Chandrayaan-3 mission: चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर मॉड्यूल ने 2.06 टन लूनर एपिरेगोलिथ (चंद्रमा की धूल) को उड़ा दिया और एक "शानदार इजेक्टा हेलो" बना दिया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार को यह बात कही. अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि लैंडर लैंडिंग स्थल के आसपास 108.4 M2 क्षेत्र तक में मटेरियल हटाया.

  • चांद पर भारतीय को भेजने का मिशन 'गगनयान' का पहला बड़ा परीक्षण कल

    चांद पर भारतीय को भेजने का मिशन 'गगनयान' का पहला बड़ा परीक्षण कल

    अगर भारत गगनयान मिशन मेंं सफल होता है तो वह रूस, अमेरिका और चीन के बाद अंतरिक्ष में इंसानों को भेजने की स्वतंत्र क्षमता रखने वाला चौथा देश बन जाएगा.

  • 2035 तक अपना अंतरिक्ष स्टेशन बनाना और 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री भेजना भारत का लक्ष्य 

    2035 तक अपना अंतरिक्ष स्टेशन बनाना और 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री भेजना भारत का लक्ष्य 

    चंद्रमा के अज्ञात दक्षिणी ध्रुव के पास अंतरिक्ष यान उतारने वाला भारत पहला देश बना था. इसके बाद भारत की अंतरिक्ष महत्वाकांक्षाओं को काफी बढ़ावा मिला है.

  • चंद्रयान-3 के लैंडर और रोवर के दोबारा एक्टिव होने की अब कोई उम्मीद नहीं: अंतरिक्ष वैज्ञानिक

    चंद्रयान-3 के लैंडर और रोवर के दोबारा एक्टिव होने की अब कोई उम्मीद नहीं: अंतरिक्ष वैज्ञानिक

    चंद्रयान-3 मिशन के साथ भारत ने 23 अगस्त को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र में ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ कर इतिहास रच दिया था और ऐसा करने वाला यह दुनिया का पहला देश बन गया था.

  • "मुझे बाहर निकाला जा सकता था": ISRO चीफ एस सोमनाथ ने बताया करियर में कैसी मिली चुनौतियां

    "मुझे बाहर निकाला जा सकता था": ISRO चीफ एस सोमनाथ ने बताया करियर में कैसी मिली चुनौतियां

    इसरो चीफ एस सोमनाथ ने कहा, "...ऐसा मत सोचिए कि मेरी जिंदगी में सबकुछ अच्छा-अच्छा ही रहा. मुझे पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा. मुझे इसरो से बाहर निकाला जा सकता था. कई बार वक्त अच्छा नहीं रहता."

  • "कोई सिग्नल नहीं" : चंद्रयान-3 का विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर अभी भी स्लीप मोड में

    "कोई सिग्नल नहीं" : चंद्रयान-3 का विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर अभी भी स्लीप मोड में

    भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो (ISRO) ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र के पास उतारे गए रोवर प्रज्ञान और लैंडर विक्रम के साथ संचार फिर से स्थापित करने के लिए आज प्रयास किए, ताकि उनकी वेक-अप कंडीशन का पता लगाया जा सके. रोवर और लैंडर को स्लीप मोड में डाल दिया गया था. लूनर नाइट होने के बाद दो सितंबर को उन्हें "सुरक्षित रूप से पार्क" किया गया था. चंद्रमा पर एक दिन पृथ्वी पर 14 दिनों के बराबर होता है.

  • भारत चांद पर पहुंच गया, पाकिस्तान मदद के लिए दुनिया के सामने फैला रहा हाथ: नवाज शरीफ

    भारत चांद पर पहुंच गया, पाकिस्तान मदद के लिए दुनिया के सामने फैला रहा हाथ: नवाज शरीफ

    पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif)ने कहा कि उनकी बेदखली के पीछे तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के तत्कालीन प्रमुख जनरल फैज हामिद थे.

  • "चंदामामा की गोद में खेल रहा प्रज्ञान": ISRO ने शेयर किया Chandrayaan-3 के रोवर का नया VIDEO

    "चंदामामा की गोद में खेल रहा प्रज्ञान": ISRO ने शेयर किया Chandrayaan-3 के रोवर का नया VIDEO

    चंद्रयान-3 की चांद पर लैंडिंग का 31 अगस्त को आठवां दिन है. रोवर प्रज्ञान ने चांद पर दूसरी बार सल्फर की पुष्टि की है. इसरो ने बताया कि इस बार प्रज्ञान पर लगे अल्फा प्रैक्टिस एक्सरे स्पेक्ट्रोस्कोप (APXS) ने सल्फर होने की पुष्टि की.

  • Chandrayaan-3 के बाद भारत को अब स्पेस टेक्नोलॉजी बढ़ाने के लिए मजबूत विजन की जरूरत- एक्सपर्ट्स

    Chandrayaan-3 के बाद भारत को अब स्पेस टेक्नोलॉजी बढ़ाने के लिए मजबूत विजन की जरूरत- एक्सपर्ट्स

    एक्सपर्ट का मानना ​​है कि चंद्रमा पर उतरने के बाद प्राइवेट स्पेस रिसर्च प्रोग्राम को बढ़ावा मिलने से भारत की अर्थव्यवस्था को भी बढ़ावा मिलेगा.

  • विक्रम लैंडर ने चंद्रमा की सतह पर तापमान में भिन्नता देखी, तापमान 70 डिग्री सेंटीग्रेड दर्ज किया गया

    विक्रम लैंडर ने चंद्रमा की सतह पर तापमान में भिन्नता देखी, तापमान 70 डिग्री सेंटीग्रेड दर्ज किया गया

    वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि चंद्रमा की सतह से नीचे तापमान शून्य से 10 डिग्री सेल्सियस नीचे तक गिर जाता है. उन्होंने कहा कि भिन्नता 70 डिग्री सेल्सियस से शून्य से 10 डिग्री सेल्सियस नीचे तक है.

  • यह है वह पहला साइंटिफिक डेटा जो चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव से चंद्रयान-3 ने भेजा

    यह है वह पहला साइंटिफिक डेटा जो चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव से चंद्रयान-3 ने भेजा

    भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ने चंद्रमा के अब तक अज्ञात रहे दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र से पहला वैज्ञानिक डेटा हासिल कर लिया है. यह एजेंसी के चंद्रयान -3 मिशन की एक बड़ी सफलता है. विक्रम लैंडर की थर्मल जांच में रिकॉर्ड किया गया कि सतह पर, सतह के पास और चंद्रमा की सतह पर गहराई में तापमान कैसे बदलता है.

'India Moon Mission' - 28 Video Result(s)
'India Moon Mission' - 1 Photos Result(s)
'India Moon Mission' - 5 Web Stories Result(s)
'India Moon Mission' - 146 News Result(s)
  • अमेरिकी अंतरिक्षयान ने चंद्रमा से भेजी पहली तस्वीर, एक्सपर्ट बोले-ये मामूली सफलता

    अमेरिकी अंतरिक्षयान ने चंद्रमा से भेजी पहली तस्वीर, एक्सपर्ट बोले-ये मामूली सफलता

    निजी क्षेत्रों को प्रोत्साहित कर नासा (Nasa Mission Lunar) इस दशक के आखिर तक अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर वापस भेजने की योजना बना रहा है. मिशन के लिए इंटुएटिव मशीन्स को करीब 120 मिलियन डॉलर का भुगतान किया गया है.

  • ISRO ने उपग्रह XPoSAT को किया सफल लॉन्‍च, 'ब्लैक होल' की रहस्यमयी दुनिया का करेगा अध्ययन

    ISRO ने उपग्रह XPoSAT को किया सफल लॉन्‍च, 'ब्लैक होल' की रहस्यमयी दुनिया का करेगा अध्ययन

    ISRO XpoSat Launch: इस साल चंद्रमा (Moon Mission) पर सफलता हासिल करने के बाद, भारत 2024 की शुरुआत ब्रह्मांड और इसके सबसे स्थायी रहस्यों में से एक "ब्लैक होल" (Black Holes) के बारे में और अधिक समझने के लिए महत्वाकांक्षी अभियान शुरू किया है.

  • चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रयान-3 मिशन की सफलता से उत्साहित इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई है और अंतरिक्ष एजेंसी अब उसकी सतह से कुछ चट्टानी पत्थर लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है. सोमनाथ ने यहां राष्ट्रपति भवन सांस्कृतिक केंद्र (आरबीसीसी) में राष्ट्रपति भवन विमर्श श्रृंखला पर अपने व्याख्यान में चंद्रमा से चट्टानी पत्थर लाने के मिशन का विवरण साझा किया.

  • इसरो साल 2040 तक चंद्रमा पर पहला अंतरिक्ष यात्री भेजेगा

    इसरो साल 2040 तक चंद्रमा पर पहला अंतरिक्ष यात्री भेजेगा

    परीक्षण वाहन (टीवी-डी1) की पहली विकास उड़ान 21 अक्टूबर, 2023 को लॉन्च की गई थी और इसने ‘क्रू एस्केप सिस्टम’ का सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया. इसके बाद क्रू मॉड्यूल को अलग किया गया और बंगाल की खाड़ी से भारतीय नौसेना ने इसे सुरक्षित प्राप्त किया.

  • चंद्रयान-3 विक्रम लैंडर ने चंद्रमा पर उतरते ही वहां की धूल हटा दी थी

    चंद्रयान-3 विक्रम लैंडर ने चंद्रमा पर उतरते ही वहां की धूल हटा दी थी

    Chandrayaan-3 mission: चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर मॉड्यूल ने 2.06 टन लूनर एपिरेगोलिथ (चंद्रमा की धूल) को उड़ा दिया और एक "शानदार इजेक्टा हेलो" बना दिया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार को यह बात कही. अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि लैंडर लैंडिंग स्थल के आसपास 108.4 M2 क्षेत्र तक में मटेरियल हटाया.

  • चांद पर भारतीय को भेजने का मिशन 'गगनयान' का पहला बड़ा परीक्षण कल

    चांद पर भारतीय को भेजने का मिशन 'गगनयान' का पहला बड़ा परीक्षण कल

    अगर भारत गगनयान मिशन मेंं सफल होता है तो वह रूस, अमेरिका और चीन के बाद अंतरिक्ष में इंसानों को भेजने की स्वतंत्र क्षमता रखने वाला चौथा देश बन जाएगा.

  • 2035 तक अपना अंतरिक्ष स्टेशन बनाना और 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री भेजना भारत का लक्ष्य 

    2035 तक अपना अंतरिक्ष स्टेशन बनाना और 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री भेजना भारत का लक्ष्य 

    चंद्रमा के अज्ञात दक्षिणी ध्रुव के पास अंतरिक्ष यान उतारने वाला भारत पहला देश बना था. इसके बाद भारत की अंतरिक्ष महत्वाकांक्षाओं को काफी बढ़ावा मिला है.

  • चंद्रयान-3 के लैंडर और रोवर के दोबारा एक्टिव होने की अब कोई उम्मीद नहीं: अंतरिक्ष वैज्ञानिक

    चंद्रयान-3 के लैंडर और रोवर के दोबारा एक्टिव होने की अब कोई उम्मीद नहीं: अंतरिक्ष वैज्ञानिक

    चंद्रयान-3 मिशन के साथ भारत ने 23 अगस्त को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र में ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ कर इतिहास रच दिया था और ऐसा करने वाला यह दुनिया का पहला देश बन गया था.

  • "मुझे बाहर निकाला जा सकता था": ISRO चीफ एस सोमनाथ ने बताया करियर में कैसी मिली चुनौतियां

    "मुझे बाहर निकाला जा सकता था": ISRO चीफ एस सोमनाथ ने बताया करियर में कैसी मिली चुनौतियां

    इसरो चीफ एस सोमनाथ ने कहा, "...ऐसा मत सोचिए कि मेरी जिंदगी में सबकुछ अच्छा-अच्छा ही रहा. मुझे पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा. मुझे इसरो से बाहर निकाला जा सकता था. कई बार वक्त अच्छा नहीं रहता."