'India China Talks News'

- 14 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Reported by: भाषा |शनिवार मार्च 26, 2022 05:32 AM IST
    विदेश मंत्री जयशंकर ने पूर्वी लद्दाख में जारी गतिरोध का जिक्र करते हुए कहा कि सीमा पर दोनों पक्षों की ओर से भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती की गई है, स्पष्ट रूप से सीमा क्षेत्रों में स्थिति सामान्य नहीं है तथा वहां शांति एवं स्थिरता प्रभावित हुई है.
  • India | Reported by: भाषा |रविवार अक्टूबर 10, 2021 10:48 AM IST
    थल सेनाध्यक्ष जनरल एम एम नरवणे ने शनिवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चीन द्वारा सैन्य निर्माण और बड़े पैमाने पर तैनाती को बनाए रखने के लिए नए बुनियादी ढांचे का विकास चिंता का विषय है.
  • India | Edited by: तूलिका कुशवाहा |मंगलवार अक्टूबर 27, 2020 03:03 PM IST
    अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करने के बाद कहा कि अमेरिका भारत की ओर से अपनी अखंडता के लिए किए जा रहे कदमों में उसके साथ खड़ा है.
  • India | Reported by: राजीव रंजन, Edited by: नितेश श्रीवास्तव |सोमवार अक्टूबर 12, 2020 12:09 PM IST
    Eastern Ladakh Clash: पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली जगहों से सैनिकों को पूरी तरह से हटाये जाने के लिए एक रूपरेखा तैयार करने के एक एजेंडे के साथ भारत और चीन की सेनाओं के बीच कोर कमांडर स्तर की सातवें दौर की चर्चा हो रही है. यह बैठक आज 12.30 बजे से लेह के चुशूल में शुरू हुई. बैठक का एजेंडा है विदेश और रक्षा मंत्रियों के बातचीत के मुताबिक सीमा पर डीएस्कलेशन स्थापित करना, गौर हो कि पिछले कुछ महीनों से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने डटी हुई हैं. सेनाओं को किस तरह से पीछे ले जाना है इस पर चर्चा की जानी है. भारत का कहना है कि चीन जहां-जहां सीमा पर आगे बढ़ा है और अतिरिक्त सैनिकों को तैनात किया है उन सब जगहों से सैनिको को पीछे ले जाए. 
  • India | Reported by: भाषा |शनिवार सितम्बर 5, 2020 08:05 AM IST
    केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही के बीच शुक्रवार को हुई बैठक दो घंटे से भी ज्यादा देर तक हुई. जहां पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव को कम करने पर ध्यान केन्द्रित रहा. सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी. पूर्वी लद्दाख में मई में सीमा पर हुए तनाव के बाद से दोनों ओर से यह पहली उच्च स्तरीय आमने सामने की बैठक थी. इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल गतिरोध दूर करने के लिए चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ टेलीफोन पर बातचीत कर चुके हैं. सूत्रों ने बताया कि वार्ता के दौरान सिंह ने पूर्वी लद्दाख में यथा स्थिति को बनाए रखने और सैनिकों को तेजी से हटाने पर जोर दिया.
  • India | Reported by: राजीव रंजन, Edited by: तूलिका कुशवाहा |सोमवार अगस्त 3, 2020 12:14 PM IST
    सूत्रों के मुताबिक, भारत और चीन के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच चीन की तरफ मोलडो में पांचवें दौर की बातचीत कल रात 9 बजे खत्म हुई. यह बैठक सुबह 11 बजे शुरू होकर लगभग 10 घंटे चली. हालांकि, बातचीत की पूरी डिटेल अभी सामने नहीं आ है लेकिन जानकारी है कि कमांडरों की बैठक में दोनों देशों के बीच LAC (Line of Actual Control) पर तनाव को और कम करने पर चर्चा हुई है.
  • India | Reported by: राजीव रंजन, Edited by: नितेश श्रीवास्तव |रविवार अगस्त 2, 2020 09:27 AM IST
    चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध को कम करने की फेहरिस्त में सैन्य की स्तर की बातचीत का एक दौर रविवार को भी होना है. आज दोनों सेनाओं के बीच कोर्प कमांडर स्तर की बातचीत होनी है. यह बातचीत चीन की तरफ मोल्डो में सुबह करीब 11 बजे होने जा रही है.
  • India | Reported by: नीता शर्मा, विष्णु सोम, Translated by: तूलिका कुशवाहा |शुक्रवार जुलाई 17, 2020 02:10 PM IST
    रक्षा मंत्री राजनाथ सिह शुक्रवार को सीमा के हालात की समीक्षा करने के लिए लद्दाख की यात्रा पर पहुंचे हुए हैं. उन्होंने यहां पर कहा कि दोनों देशों के बीच मसले को सुलझाने के लिए बातचीत हो रही है, लेकिन बातचीत से कितना हल निकलेगा, अभी कह नहीं सकते.
  • India | Reported by: राजीव रंजन, Edited by: पवन पांडे |सोमवार जून 22, 2020 12:30 PM IST
    गलवान घाटी से लेकर फिंगर फोर तक सीमा विवाद पर आज भारत और चीन की लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत होगी.
  • India | Reported by: with Bhasha input , Edited by: पवन पांडे |शनिवार जून 6, 2020 12:04 PM IST
    India-China border: इस बीच, शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख में जारी सैन्य गतिरोध के बीच भारत और चीन ने अपने ‘‘मतभेदों’’ को विवाद में नहीं बदलने देने की प्रतिबद्धता जताई और एक- दूसरे की संवेदनशीलता, चिंता एवं आकांक्षाओं का सम्मान करते हुए उन्हें वार्ता के माध्यम से दूर करने पर सहमत हुए.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com