'Asthma and Allergy Resource Centre'

- 6 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • News | Reported by: अनिता शर्मा |बुधवार जून 7, 2017 05:24 PM IST
    गर्मी के मौसम में भी अस्थमा के मरीज को कई तरह की सावधानियां बरतने की जरूरत होती है. गर्मी में गर्म हवाओं के साथ आने वाले धूलकण अस्थमा के मरीजों के लिए परेशानी पैदा कर सकते हैं.
  • Living Healthy | Edited by: अनिता शर्मा |सोमवार जुलाई 27, 2020 12:37 PM IST
    योग करते समय अपने पास इन्हेरलर या अपनी दवाएं जरूर रखें. योग शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें और किसी योग शिक्षक की निगरानी में ही योग शुरू करें. 
  • News | Written by: अनिता शर्मा |मंगलवार मई 2, 2017 10:22 AM IST
    अस्थमा से बचाव और इससे राहत पाने में व्यायाम और योग का अहम रोल होता है. जानिए वह 5 योगासन जिनसे आप अस्थमा या दमा को दे सकते हैं मात...
  • Health | Written by: अनिता शर्मा |मंगलवार मई 5, 2020 10:18 AM IST
    विश्व अस्थमा दिवस (World Asthma Day): अस्थमा क्या है (What Is Asthma), तो आपको बता दें कि अस्थमा या दमा सांस से जुड़ी एक बीमारी है. योगाभ्यास से अस्थमा में आराम पाया जा सकता है और अगर अस्थमा (Asthma Prevention) नहीं है तो इसे टाला भी जा सकता है. जानते हैं अस्थमा में मददगार 3 योगासन (Yoga For Asthma) कौन से हैं- 
  • Lifestyle | Written by: शिखा शर्मा |मंगलवार मई 2, 2017 09:21 AM IST
    वर्ल्‍ड अस्थमा डे हर साल मई महीने के पहले मंगलवार को पूरे विश्‍व में मनाया जाता है. अस्‍थमा एक ऐसी बीमारी है जिसके पीडि़तों को पूरी उम्र कई तरह की सावधानियां बरतनी पड़ती हैं. मौसम के बदलते ही अस्थमा के मरीज़ों की तबियत बिगड़ने लगती है. इस साल वर्ल्‍ड अस्थमा डे की थीम है-अस्थमा: बेहतर वायु, बेहतर सांस. इस दिन को मनाने का मुख्‍य लक्ष्‍य लोगों को इस बीमारी के बारे में जागरूक करना है. 1998 में पहली बार बार्सिलोना, स्पेन सहित 35 देशों में विश्व अस्थमा दिवस मनाया गया था.
  • News | Edited by: शिखा शर्मा |मंगलवार मई 2, 2017 09:22 AM IST
    यदि आपका बच्चा दमा से पीड़ित है, तो उसके बचपन या किशोरावस्था के बाद मोटापे के शिकार होने की संभावना ज्यादा है. शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि सामान्य बच्चे की तुलना में दमा से पीड़ित छोटे बच्चों में अगले एक दशक में मोटापे के शिकार होने की संभावना 51 फीसद ज्यादा है. अमेरिका के दक्षिणी कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय में प्रोफेसर फैंक डी गिलीलैंड ने कहा, ‘जल्दी रोग की पहचान और इलाज से बचपन की मोटापे की महामारी को रोका जा सकता है.’
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com