'1921'

- 24 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • World | Reported by: एएफपी, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |गुरुवार जुलाई 1, 2021 09:25 AM IST
    1921 की गर्मियों में माओ और शंघाई में मार्क्सवादी-लेनिनवादी विचारकों के एक समूह ने उस पार्टी की स्थापना की जो तब से दुनिया के सबसे शक्तिशाली राजनीतिक संगठनों में से एक बन गई है. अब सीपीसी के 9.5 करोड़ से ज्‍यादा सदस्‍य हैं.
  • India | Edited by: अमरीश कुमार त्रिवेदी |शनिवार मार्च 6, 2021 08:54 PM IST
    मुंबई की पार्वती खेडकर का जन्म 05 मार्च 1921 को हुआ था. उन्हें बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स में उन्हें शुक्रवार को उनके 100वें जन्मदिन (100th Birthday) कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक दी गई.
  • India | Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |गुरुवार दिसम्बर 24, 2020 02:22 PM IST
    नोबेल पुरस्कार विजेता रवीन्द्रनाथ टैगोर पश्चिम बंगाल की प्रमुख हस्तियों में गिने जाते हैं. उनके द्वारा 1921 में स्थापित विश्व भारती, देश का सबसे पुराना विश्वविद्यालय है. वर्ष 1951 में विश्व भारती को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया था और उसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों में शुमार किया गया था. प्रधानमंत्री इस विश्वविद्यालय के कुलाधिपति होते हैं.
  • India | Reported by: भाषा |बुधवार दिसम्बर 23, 2020 06:56 AM IST
    प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस समारोह के दौरान उपस्थित रहेंगे. रवीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा 1921 में स्थापित विश्व भारती, देश का सबसे पुराना विश्वविद्यालय है.
  • Career | Reported by: भाषा |रविवार मई 31, 2020 01:49 PM IST
    1921 में गांधीजी ने 31 मई के दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ध्वज को स्वीकृत और संशोधित किया. यह मूल रूप से आंध्र प्रदेश के एक व्यक्ति द्वारा डिजाइन किया गया था, जिसमें हिंदू और मुस्लिम समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वाले लाल और हरे रंग की पट्टियों को स्थान दिया गया था. 
  • Apps | Gadgets 360 Staff |गुरुवार मई 7, 2020 12:57 PM IST
    Aarogya Setu Interactive Voice Response System (IVRS) एक टोल-फ्री सर्विस है जो कि पूरे देश में उपलब्ध है। इस सर्विस के लिए नागरिकों को एक टोल-फ्री नंबर पर मिस्ड कॉल करनी है, वो नंबर है '1921'।
  • India | Reported by: भाषा |बुधवार मई 6, 2020 06:42 PM IST
    देश में साधारण मोबाइल फोन और लैंडलाइन फोन वाले उपभोक्ताओं के लिए ''आरोग्य सेतु'' मोबाइल एप्लिकेशन के दायरे का विस्तार करते हुए '' आरोग्य सेतु इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम'' शुरू किया गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय ने कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए लोगों से स्मार्ट फोन में इस ऐप को डाउनलोड करने की अपील भी की है. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ''आरोग्य सेतू इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम'' (आईवीआरएस)निशुल्क सेवा है जोकि पूरे देश में उपलब्ध है. इसके तहत, नागरिक ''1921'' नंबर पर मिस्ड कॉल दे सकते हैं जिसके बाद उन्हें वापस फोन कर स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी मुहैया कराने का निवेदन किया जाएगा.''
  • Zara Hatke | Reported by: IANS |मंगलवार जनवरी 7, 2020 12:43 PM IST
    आजादी की लड़ाई के दौरान महात्मा गांधी दो बार मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में आए थे. उन्होंने यहां संघर्ष के लिए धनराशि जुटाने के क्रम में अपनी चांदी की प्लेट नीलामी की थी.
  • Career | Written by: अर्चित गुप्ता |बुधवार अक्टूबर 2, 2019 10:01 AM IST
    Lal Bahadur Shastri Jayanti: देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) की जयंती 2 अक्टूबर (2 October) को मनाई जाती है. लाल बहादुर शास्त्री ने अपना पूरा जीवन गरीबों की सेवा में समर्पित कर दिया था. शास्त्री का जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में दो अक्टूबर, 1904 को शारदा प्रसाद और रामदुलारी देवी के घर हुआ था. देश की आजादी में लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri)  का खास योगदान है. साल 1920 में शास्त्री (Shastri) भारत की आजादी की लड़ाई में शामिल हो गए थे. स्वाधीनता संग्राम के जिन आंदोलनों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही उनमें 1921 का असहयोग आंदोलन, 1930 का दांडी मार्च और 1942 का भारत छोड़ो आंदोलन उल्लेखनीय हैं. शास्त्री ने ही 'जय जवान, जय किसान' का नारा दिया था. आइये जानते हैं लाल बहादुर शास्त्री से जुड़ी 10 बातें....
  • MP-Chhattisgarh | Reported by: अनुराग द्वारी, Edited by: सूर्यकांत पाठक |सोमवार अगस्त 27, 2018 11:03 PM IST
    कांग्रेस और वामपंथी विचारधारा से जुड़े नेता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस इस बात पर तंज कसते हैं कि उसका आजादी के आंदोलन में कोई योगदान नहीं रहा है. कुछ लोग तो संघ पर अंग्रेजों के साथ मिले होने का आरोप लगाते रहे हैं. लेकिन अब कांग्रेस सेवादल के एक प्रेसनोट पर हंगामा मच गया है.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com