'टेलीकॉम क्षेत्र'

- 40 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | एनडीटीवी |बुधवार सितम्बर 15, 2021 04:50 PM IST
    केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को कई कैबिनेट फैसलों की जानकारी दी. घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने और रोजगार सृजित करने के उद्देश्य से ऑटोमोबाइल क्षेत्र के लिए संशोधित उत्पादन-लिंक्ड प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दे दी गई है.
  • Tech, Media & Telecom | Reported by Bhasha |मंगलवार जुलाई 28, 2020 01:12 PM IST
    सरकार को दूरसंचार क्षेत्र की वहनीयता बनाये रखने के लिये क्षेत्र के विभिन्न शुल्कों को तर्कसंगत बनाना चाहिये और क्षेत्र के कामकाज पर बुरा असर डालने वाले लंबे समय से चले आ रहे कानूनी विवादों को बंद कर देना चाहिये.
  • India | Reported by: भाषा, Edited by: शहादत |शुक्रवार फ़रवरी 21, 2020 01:46 AM IST
    उन्होंने कहा कि एयरटेल के पास भुगतान के लिए 17 मार्च तक का समय है. कंपनी बकाए का भुगतान इस तिथि से काफी पहले कर देगी. इससे पहले एयरटेल के प्रमुख सुनील भारती मित्तल ने बुधवार को कहा था कि दूरसंचार क्षेत्र पिछले साढ़े तीन साल से दबाव में है, ऐसे में सरकार को इस क्षेत्र की सेहत पर ध्यान देना चाहिए.
  • India | Reported by: भाषा |शनिवार नवम्बर 16, 2019 11:13 AM IST
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि सरकार दूरसंचार क्षेत्र की चिंताओं को दूर करने की इच्छा रखती है. इस क्षेत्र में समायोजित सकल आय (एजीआर) पर उच्चतम न्यायालय के हाल के निर्णय के बाद कंपनियों पर पुराने सांविधिक बकाये के भुगतान का दबाव पैदा हो गया है. सीतारमण ने कहा, ‘‘हम नहीं चाहते कोई कंपनी अपना परिचालन बंद करे. हम चाहते हैं कि कोई भी कंपनी हो, वह आगे बढ़े.’’
  • India | भाषा |मंगलवार अक्टूबर 22, 2019 07:15 PM IST
    निजी क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियों रिलायंस जियो, वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल ने दूरसंचार विभाग को 4,500 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम का बकाया चुका दिया है. सूत्रों ने बताया कि इन कंपनियों ने पिछले तीन से चार दिन में यह भुगतान किया है.
  • Lok Sabha Elections 2019 | ख़बर न्यूज़ डेस्क |मंगलवार मार्च 26, 2019 07:41 AM IST
    टेलीकॉम घोटाले में नाम आने के बाद सुखराम को कांग्रेस पार्टी से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने हिमाचल विकास कांग्रेस का गठन किया और उन्होंने चुनाव के बाद भाजपा से गठबंधन कर कर सरकार में शामिल हो गए थे. 2004 लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया, लेकिन साल 2017 में फिर छोड़ दिया और भाजपा ज्वाइन कर ली. हिमाचल प्रदेश के मंडी से साल 1962 से 1984 तक सांसद रहे सुखराम का मंडी संसदीय क्षेत्र में काफी प्रभाव है जहां से वह तीन बार सांसद निर्वाचित हुए थे.
  • File Facts | ख़बर न्यूज़ डेस्क |मंगलवार जनवरी 22, 2019 02:26 PM IST
    अमेरिका में राजनीतिक शरण चाह रहे एक स्वयंभू भारतीय साइबर विशेषज्ञ ने सोमवार को सनसनीखेज दावा किया कि भारत में 2014 के आम चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के जरिये ‘धांधली’ हुई थी. उसका दावा है कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है. चुनाव आयोग ने उनके इस दावे को खारिज कर दिया है. वहीं भारत में बीजेपी और आम आदमी पार्टी ने जहां इस दावे को खारिज कर दिया, कांग्रेस ने कहा कि ये आरोप बेहद गंभीर हैं. स्काइप के जरिये लंदन में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सैयद शुजा ने दावा किया कि अपनी टीम के कुछ सदस्यों के मारे जाने के बाद वह भारत से भाग गए क्योंकि उन्हें देश में अपनी जान को खतरा था. यद्यपि वह स्काइप के जरिये स्क्रीन पर सामने आए लेकिन उनका चेहरा ढंका हुआ था. शुजा ने दावा किया कि टेलीकॉम क्षेत्र की बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में बीजेपी की मदद की थी ताकि ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके. हालांकि, उन्होंने अपने दावों के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया. यहां ध्यान देने की बात है कि जियो का 2014 में कोई अस्तित्व नहीं था और उसकी सेवाएं सितंबर 2016 में शुरू हुई थीं. इसी बीच केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने भी पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि ईवीएम हैकिंग कार्यक्रम की पटकथा कांग्रेस ने लिखी, पार्टी के इशारे पर इस प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया. रविशंकर प्रसाद ने इस मौके पर कई अहम सवाल भी कांग्रेस से किए हैं.
  • Telecom | Gadgets 360 Staff |शुक्रवार जनवरी 18, 2019 12:55 PM IST
    टेलीकॉम क्षेत्र में अपने सस्ते रीचार्ज पैक से धूम मचाने वाली कंपनी Reliance Jio Infocomm को बड़ा मुनाफा हुआ है।
  • Business | ख़बर न्यूज़ डेस्क |सोमवार मई 28, 2018 04:20 PM IST
    एफएमसीजी के क्षेत्र में ब्रांड बन चुकी बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने अब टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री की है. योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने सार्वजनिक क्षेत्र की टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल BSNL) के साथ करार किया है. इस करार के बाद पतंजलि ने स्वदेशी समृद्धि सिम कार्ड लॉन्च किया है. 
  • Business | ख़बर न्यूज़ डेस्क |गुरुवार मार्च 1, 2018 04:49 AM IST
    कंपनी का कहना है कि ‘भारी वित्तीय दबाव वाले’ उद्योग में वह ‘संकट के दौर’ से गुजर रही है इसलिए यह आवेदन किया गया है.
और पढ़ें »
'टेलीकॉम क्षेत्र' - 1 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com