विज्ञापन
Story ProgressBack

जानें कौन हैं लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब, जिन्हें राष्ट्रपति ने आज दिलाई शपथ

कटक लोकसभा क्षेत्र से छह बार सांसद रहे महताब ने 22 मार्च को बीजद की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें बीजू जनता दल में स्वतंत्र रूप से काम करने का पर्याप्त मौका नहीं मिला. तभी से उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें थीं.

Read Time: 3 mins
जानें कौन हैं लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब, जिन्हें राष्ट्रपति ने आज दिलाई शपथ
भर्तृहरि महताब सात बार के सांसद हैं.
नई दिल्ली:

 18वीं लोकसभा का सत्र शुरू होने से पहले सोमवार सुबह राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा के कटक से BJP सांसद भर्तृहरि महताब को प्रोटेम स्पीकर शपथ दिलवाई. प्रोटेम स्पीकर अब सभी सांसदों को शपथ दिलाएंगे. प्रोटेम स्पीकर को अपने कार्यकाल की समाप्ति तक वही शक्तियां हासिल होती हैं, जो लोकसभा अध्यक्ष के पास होती हैं.    

जानिए कौन हैं भर्तृहरि महताब? BJD का साथ छोड़कर उन्होंने क्यों थामा BJP का हाथ:-

  1. कटक लोकसभा क्षेत्र से छह बार सांसद रहे महताब ने 22 मार्च को बीजद की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें बीजद में स्वतंत्र रूप से काम करने का पर्याप्त मौका नहीं मिला. तभी से उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें थीं.
  2. महताब के इस्तीफा देने के कुछ ही दिन बाद बीजद ने लोकसभा चुनाव के लिए महताब का टिकट काट दिया था. कटक में महताब के स्थान पर बीजद ने संतृप्त मिश्रा को उम्मीदवार बनाया.
  3. महताब ने कटक सीट पर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीजद के संतरूप मिश्रा को 57,077 वोटों से हराया. वहीं ओडिशा में लोकसभा की कुल 21 सीटों में से 20 पर जीत हासिल कर भाजपा ने बीजू जनता दल का लोकसभा चुनाव में सूपड़ा साफ कर दिया.
  4. प्रदेश में कांग्रेस ने एक सीट जीती. 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजद ने 12 सीटें जीती थीं, भाजपा को आठ और कांग्रेस को एक सीट मिली थी. इसके साथ ही भाजपा ने विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करते हुए पहली बार ओडिशा में सरकार भी बनाई.
  5. भर्तृहरि महताब को इसका ईनाम मिला है. उन्हें प्रोटेम स्पीकर बनाया गया है. वह नए सांसदों को शपथ दिलाएंगे. भर्तृहरि महताब लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होने तक पीठासीन अधिकारी के रूप में कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे. 
  6. भर्तृहरि महताब लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होने तक पीठासीन अधिकारी के रूप में कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे. लोकसभा सदस्य के. सुरेश, टीआर बालू, राधा मोहन सिंह, फग्गन सिंह कुलस्ते और सुदीप बंद्योपाध्याय अस्थायी अध्यक्ष की सहायता करेंगे.
  7. अठारहवीं लोकसभा का पहला सत्र 24 जून से शुरू होगा. इस दौरान निचले सदन के नए सदस्य शपथ लेंगे और फिर 26 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा.
  8. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 27 जून को लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी और अगले पांच वर्ष के लिए नई सरकार के कामकाज की रूपरेखा प्रस्तुत करेंगी.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
उमर अब्दुल्ला की तलाक याचिका पर SC ने पत्नी पायल को जारी किया नोटिस
जानें कौन हैं लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब, जिन्हें राष्ट्रपति ने आज दिलाई शपथ
हिंदुस्तान ने युद्ध नहीं, बुद्ध दिए हैं : ऑस्ट्रिया में प्रवासी भारतीयों से बोले PM मोदी
Next Article
हिंदुस्तान ने युद्ध नहीं, बुद्ध दिए हैं : ऑस्ट्रिया में प्रवासी भारतीयों से बोले PM मोदी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;