कश्‍मीर में 'टारगेटेड किलिंग' सरकार को उसके काम से विचलित नहीं कर पाएंगी : अधिकारी

सरकार के अपने काम को जारी रखने का संकेत देते हुए इस अधिकारी ने कहा, "जब भी चुनाव आयोग फैसला करेगा, चुनाव होंगे, एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है, यहां-वहां की कुछ हत्‍याएं इस रोक नहीं पाएंगी. "

कश्‍मीर में 'टारगेटेड किलिंग' सरकार को उसके काम से विचलित नहीं कर पाएंगी : अधिकारी

प्रतीकात्‍मक फोटो

नई दिल्‍ली :

जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकियों के हाथों हिंदुओं और प्रवासी श्रमिकों की "टारगेटेड किलिंग"  सरकार को इस केंद्रशासित क्षेत्र में उसके काम से विचलित नहीं कर पाएगी . प्रशासन से जुड़े एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह बात कही. एक अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर NDTV से कहा, "टारगेटेड किलिंग आतंकियों के हताशा के स्‍तर को दर्शाती हैं. हमारा सिस्‍टम इस पर नजर जमाए हुए हैं. हत्‍याओं का यह सिलसिला रुकेगा. पिछले साल अक्‍टूबर में भी ऐसा ही हुआ था. "इस बयान से केंद्रशासित क्षेत्र में आतंकी हमलों से निपटने की सरकार की योजना का अनुमान लगाया जा सकता है.

गौरतलब है कि कश्‍मीर घाटी में आतंकियों ने हाल में गैर मुस्लिमों खासकर कश्‍मीर पंडितों और प्रवासियों को निशाना बनाया है. इस अधिकारी ने कहा, "आतंकियों ने लोगों को निशाना बनाया तो उन्‍हें मार गिराया जाएगा. किसी को भी हमले में निशाना बनाया जा सकता है." कश्‍मीरी पंडितों को उन्‍हें कश्‍मीर से बाहर जाने की मांग को खारिज करते हुए उन्‍होंने कहा, "हम कश्‍मीरी पंडितों को जम्‍मू ट्रांसफर नहीं करेंगे. हम किसी भी Ethnic cleansing का हिस्‍सा नहीं हो सकते. हम बहु सांस्‍कृतिक समाज में विश्‍वास रखते हैं." सरकार के अपने काम को जारी रखने का संकेत देते हुए उन्‍होंने कहा, "जब भी चुनाव आयोग फैसला करेगा, चुनाव होंगे, एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है, यहां-वहां की कुछ हत्‍याएं हमें रोक नहीं पाएंगी. " 

अधिकारी ने कहा, "इन हमलों के पीछे तालिबान के होने के सबूत नहीं मिले हैं. यह जिहाद नहीं है, यह कुछ आतंकियों की ओर से किया गया है. पाकिस्‍तान इन सभी हमलों के पीछे है. यह अराजकता की स्थिति पैदा करने का प्रयास है. " जम्‍मू-कश्‍मीर की स्‍थानीय पार्टियां, जो इन हत्‍याओं पर सरकार की आलोचना कर रही हैं, के संदर्भ में इस अधिकारी ने कहा, "हम लोगों को एक छोटा ग्रुप नहीं चाहते जो यह धारणा बनाने का प्रयास कर रहे हैं कि केवल वे ही राज्‍य को चला सकते हैं और पुरानी व्‍यवस्‍था में वापस आ सकते हैं. "

गौरतलब है कि आतंकियों ने कल कुलगाम में एक शख्स की हत्या कर दी. शख्स की पहचान बैंक मैनेजर विजय कुमार के तौर पर की गई है, जो मूल रूप से राजस्थान के हनुमानगढ़ के रहने वाले थे. मिली जानकारी अनुसार कुलगाम जिले के अरेह मोहनपोरा स्थित इलाकी देहाती बैंक में आतंकियों ने बैंक मैनेजर पर फायरिंग कर दी. इस आतंकी घटना में उन्हें गंभीर चोटें आईं जिससे उनकी मौत हो गई. कश्‍मीर में हाल में आतंकी हमले बढ़े हैं और आतंकी गैर मुस्लिमों खासकर कश्‍मीरी पंडितों और प्रवासियों को निशाना बना रहे हैं. 

- ये भी पढ़ें -

* "राहुल गांधी को ED ने नेशनल हेराल्ड केस में 13 जून को समन किया
* ऊंचे पदों पर बैठे हुए लोगों पर लांछन लगाने का चलन बढ़ रहा है: CJI रमना
* ""भारत शक्तिशाली होता तो इस युद्ध को रोक देता लेकिन...:" रूस-यूक्रेन युद्ध पर RSS प्रमुख भागवत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जम्‍मू कश्‍मीर में नहीं थम रही टारगेट किलिंग, 24 घंटे में दो की हत्‍या