"चुनाव में इस तरह की चीजें बोली जाती हैं, इसे नहीं खींचना चाहिए": राहुल गांधी को सद्दाम जैसा बताने पर बोले शाह

असम के सीएम ने कहा, "यदि आपको हुलिया बदलना है तो कम से कम इसे सरदार वल्लभभाई पटेल या जवाहरलाल नेहरू जैसा कर लीजिए. लेकिन आपका चेहरा सद्दाम हुसैन जैसा क्यों दिख रहा है?"

अमित शाह ने कहा कि चुनावों में इस तरह की बातें कही जाती हैं.

नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का हुलिया इराक के पूर्व तानाशाह सद्दाम हुसैन जैसा बताने संबंधी असम के मुख्यमंत्री हेमंता बिस्वा सरमा के बयान को तवज्जो नहीं देते हुए कहा कि इस तरह की चीजों को नहीं खींचना चाहिए. असम के सीएम ने गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि राहुल गांधी इन दिनों सद्दाम हुसैन की तरह दिख रहे हैं, जिस पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी.

अमित शाह ने कहा, "इस तरह की चीजों को नहीं खींचना चाहिए. जब कभी चुनाव होते हैं, तब इस तरह की चीजें बोली जाती हैं और लोग भी उसे सुनते हैं. लोग इसका आनंद उठाते हैं. इसमें यकीन करने के बाद, मतदान नहीं बदलता. चुनावों में इस तरह की बातें कही जाती हैं."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

गौरतलब है कि अहमदाबाद में एक जनसभा के दौरान असम के सीएम ने कहा, "मैंने अभी देखा कि उनका (राहुल का) हुलिया भी बदल गया है. मैंने कुछ दिन पहले एक टेलीविजन साक्षात्कार में कहा था कि उनके नए हुलिये में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन यदि आपको हुलिया बदलना है तो कम से कम इसे सरदार वल्लभभाई पटेल या जवाहरलाल नेहरू जैसा कर लीजिए. गांधीजी जैसा नजर आते तो बेहतर होता. लेकिन आपका चेहरा सद्दाम हुसैन जैसा क्यों दिख रहा है?"

Featured Video Of The Day

कुशलता के कदम : USHA और ग्रामीण महिलाएं ग्रामीण पारंपरिक खेलों को दे रही हैं बढ़ावा