विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 25, 2023

संसद भवन का उद्घाटन: विपक्षी दलों के बायकॉट के बीच मोदी सरकार को इन दो दलों का मिला साथ

New Parliament Building: वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने राजनीतिक दलों से नए संसद भवन के उद्घाटन के मौके पर राजनीतिक मतभेदों को दूर रखने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि इस तरह के शुभ आयोजन का बहिष्कार करना लोकतंत्र की सच्ची भावना नहीं है.

Read Time: 3 mins
संसद भवन का उद्घाटन: विपक्षी दलों के बायकॉट के बीच मोदी सरकार को इन दो दलों का मिला साथ
New Parliament Building: नया संसद भवन
अमरावती:

आंध्र प्रदेश की सत्तारूढ़ पार्टी वाईएसआरसीपी के प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने बुधवार को पुष्टि की है कि उनकी पार्टी 28 मई को नए संसद भवन के उद्घाटन में शामिल होगी. हालांकि तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) ने इस संबंध में अभी फैसला नहीं किया है. वहीं इससे पहले ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की पार्टी बीजू जनता दल ने भी कार्यक्रम में शामिल होने की सहमति दे दी है. 

मुख्यमंत्री रेड्डी ने इस समारोह को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि उनकी पार्टी लोकतंत्र की सच्ची भावना के साथ इसमें शामिल होगी. रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भव्य, शानदार और विशाल संसद भवन राष्ट्र को समर्पित करने के लिए बधाई देते हुए ट्वीट किया, 'लोकतंत्र की सच्ची भावना के तहत, मेरी पार्टी इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में शामिल होगी.'

इस बीच, रेड्डी ने राजनीतिक दलों से इस मौके पर राजनीतिक मतभेदों को दूर रखने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि इस तरह के शुभ आयोजन का बहिष्कार करना लोकतंत्र की सच्ची भावना नहीं है.

राज्य के प्रमुख विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) ने अभी तक उद्घाटन समारोह में शामिल होने को लेकर अपना रुख घोषित नहीं किया है. पार्टी प्रवक्ता पट्टाभिराम कोमारेड्डी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि इस संबंध में शीर्ष नेतृत्व एक या दो दिन में औपचारिक घोषणा कर सकता है.

गौरतलब है कि कांग्रेस सहित 19 विपक्षी दलों ने बुधवार को ऐलान किया कि वे संसद के नए भवन के उद्घाटन समारोह का सामूहिक रूप से बहिष्कार करेंगे, क्योंकि इस सरकार के कार्यकाल में संसद से लोकतंत्र की आत्मा को निकाल दिया गया है और समारोह से राष्ट्रपति को दूर रखकर 'अशोभनीय कृत्य' किया गया है.

उन्होंने एक संयुक्त बयान में यह आरोप भी लगाया कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को उद्घाटन समारोह से दूर रखना और प्रधानमंत्री मोदी द्वारा संसद के नए भवन का उद्घाटन करने का फैसला लोकतंत्र पर सीधा हमला है. उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी 28 मई को संसद के नए भवन का उद्घाटन करेंगे. 

यह भी पढ़ें -
-- पीएम मोदी तीन देशों की यात्रा के बाद दिल्ली लौटे, पालम एयरपोर्ट पर उमड़े बीजेपी कार्यकर्ता
-- राष्ट्रपति ने केंद्र और CJI से अदालती आदेशों का कार्यान्वयन सुनिश्चित करने का आग्रह किया

 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
तीन साल में 47 प्रतिशत भारतीयों से हो चुकी है वित्तीय धोखाधड़ी: सर्वेक्षण
संसद भवन का उद्घाटन: विपक्षी दलों के बायकॉट के बीच मोदी सरकार को इन दो दलों का मिला साथ
'पवन नहीं, आंधी है...' कौन हैं पवन कल्याण, क्या करती हैं पत्नी और बच्चे, जानिए सबकुछ
Next Article
'पवन नहीं, आंधी है...' कौन हैं पवन कल्याण, क्या करती हैं पत्नी और बच्चे, जानिए सबकुछ
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;