विज्ञापन
Story ProgressBack

लोकसभा चुनाव 2024 डिकोड : छह चरण के मतदान के बाद BJP और विपक्ष में किसका पलड़ा भारी?

Lok Sabha Election 2024 : आखिरी पड़ाव पर पहुंच चुके मौजूदा चुनाव में बीजेपी 370 सीटें जीतने की उम्मीद कर रही है. आखिरी चरण का चुनाव 1 जून को होगा और वोटों की गिनती 4 जून को होगी. क्या है जनता का मूड, जानिए देश के टॉप 4 एक्सपर्ट्स से...

लोकसभा चुनाव 2024 डिकोड : छह चरण के मतदान के बाद BJP और विपक्ष में किसका पलड़ा भारी?
Lok Sabha Election 2024 : एनडीटीवी बैटलग्राउंड शो में देश के टॉप 4 एक्सपर्ट्स के साथ लोकसभा चुनाव पर चर्चा करते संजय पुगलिया.

Lok Sabha Election 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम को लेकर तरह-तरह के दावे राजनीतिक दल कर रहे हैं. एनडीटीवी बैटलग्राउंड शो में पहुंचे एक्सपर्ट्स की आम राय यह है कि इस बार जनता के मूड को समझना कठिन है. हालांकि, भाजपा को बहुमत मिलना भी लगभग तय है. इसके पीछे एक्सपर्ट्स का तर्क है कि उत्तर के कुछ गढ़ों में भाजपा को कड़ी लड़ाई लड़नी पड़ी है, लेकिन उसे तेलंगाना, ओडिशा और बंगाल सहित गैर-भाजपा शासित राज्यों में फायदा होगा. बैटलग्राउंड का संचालन एनडीटीवी के एडिटर-इन-चीफ संजय पुगलिया ने किया और 2024 लोकसभा चुनाव को डिकोड किया.

Latest and Breaking News on NDTV

यह चुनाव जटिल : नीरजा चौधरी
एक्सपर्ट्स का मानना ​​है कि 2024 के चुनाव ने कोई लहर या जनता का गुस्से नहीं दिखा. यही कारण है कि यह चुनाव पिछले 10 वर्षों के चुनाव की तरह नहीं दिख रहा है. हां, असंतोष की भावना कहीं-कहीं जरूर है, लेकिन इसे विपक्ष अपने पक्ष में भुनाने में विफल रहा है. वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विशेषज्ञ नीरजा चौधरी ने कहा कि यह चुनाव जटिल है और इसे समझना मुश्किल हो रहा है. अपनी बात को बढ़ाते हुए नीरजा ने कहा, "कुछ स्तर पर, हम उस मोदी लहर को नहीं देख रहे हैं. विपक्ष के पास स्थानीय मुद्दे हैं. विपक्ष इसे लेकर लड़ाई तो लड़ रहा है, लेकिन यह उसे जीत दिलाने में कारगर नहीं दिख रही है." 

Latest and Breaking News on NDTV

दो वर्ग तय करेंगे परिणाम : अमिताभ तिवारी
राजनीतिक रणनीतिकार अमिताभ तिवारी ने कहा, "चुनाव के बाद लहर का पता लगा है. मतदान एक भावनात्मक निर्णय है. पिछली बार, भाजपा को 40 प्रतिशत वोट मिले थे. यह सच है कि इस बार असंतोष है, लेकिन असंतोष का गुस्से में बदलना महत्वपूर्ण है. विपक्ष के लिए मतदाता के मानस को समझना आसान नहीं है. सोशल मीडिया के शोर को छोड़कर एक मूक मतदाता भी है, जो चुनाव शुरू होने से पहले ही तय कर लेता है कि किस रास्ते पर जाना है." यह पूछे जाने पर कि क्या विपक्ष सोशल मीडिया द्वारा पैदा किए गए भ्रम से भटक गया है और गुमराह हो गया है, अमिताभ तिवारी ने सहमति व्यक्त की. उन्होंने कहा, "लोग अपने और अपने बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए वोट करते हैं... सोशल मीडिया की चर्चा से दो प्रमुख वर्ग गायब हैं - महिलाएं और कल्याणकारी परियोजनाओं के लाभार्थी. ये दो वर्ग हैं, जिन्होंने हाल के अधिकांश चुनावों की दिशा तय की है.

Latest and Breaking News on NDTV

सीटों की संख्या पर अधिक चर्चा : संजय कुमार 
सीएसडीएस लोकनीति के चुनाव विश्लेषक संजय कुमार ने कहा कि इस चुनाव में चर्चा इस बात की नहीं हो रही है कि बीजेपी चुनाव हार रही है या नहीं हार रही है. चर्चा बस इस बात की हो रही है कि बीजेपी को 272 से पहले रोका जाएगा या नहीं. आज चर्चा हो रही है कि 370 तो नहीं लेकिन 300 के आसपास तो आएगा. नुकसान हो भी रहा है तो वो कितना हो रहा है ये अहम है. यह चुनाव कुछ मुद्दों के साथ शुरू हुआ था, लेकिन जल्द ही उनसे भटक गया. भाजपा ने राष्ट्रीय मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करके चुनाव शुरू किया था, लेकिन अब संविधान में बदलाव सहित विपक्षी एजेंडे का भाजपा जवाब दे रही है. पहली बार कांग्रेस की तरफ से एजेंडा सेट किया जा रहा था और प्रधानमंत्री उसका काउंटर कर रहे थे. चुनाव की शुरुआत किसी मुद्दे से हुई थी और वो ट्रेवल करते हुए कई मील आगे निकल गया.

Latest and Breaking News on NDTV

दो राज्यों की भूमिका अहम : संदीप शास्त्री 
सीएसडीएस लोकनीति के संदीप शास्त्री ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर लहर नहीं दिख रही, लेकिन राज्यों में जाएंगे तो छोटी-छोटी लहर दिख रही है. कई जगहों पर हवा तेज है तो कई जगहों पर हवा धीमी है. मुझे लगता है कि हर राज्य में कुछ अलग नतीजा आएगा. हमें राज्यों में ध्यान देना होगा. काफी लंबी चुनाव प्रक्रिया के कारण इस बार राजनीतिक दलों में एक थकावट दिख रही है. पहले और अंतिम चरण के बीच 6 हफ्ते का फासला है. क्या यह एक जैसा ही परिणाम दिखाएगा? बीजेपी का आंकड़ा 304 से ऊपर रहता है या नीचे जाता है, यह 2 राज्य तय करेंगे. वो दोनों राज्य हैं महाराष्ट्र और बंगाल. महाराष्ट्र में बीजेपी को गठबंधन की सहयोगियों से समस्या है. पश्चिम बंगाल बीजेपी के लिए बेहद अहम है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अदाणी की खावड़ा में नवीकरणीय ऊर्जा परियोजना को देखने पहुंचे अमेरिकी राजदूत गार्सेटी
लोकसभा चुनाव 2024 डिकोड : छह चरण के मतदान के बाद BJP और विपक्ष में किसका पलड़ा भारी?
गुजरात में चांदीपुरा वायरस का कहर, 5 दिन में 6 बच्‍चों की मौत, जानें ये कितना खतरनाक
Next Article
गुजरात में चांदीपुरा वायरस का कहर, 5 दिन में 6 बच्‍चों की मौत, जानें ये कितना खतरनाक
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;