विज्ञापन
Story ProgressBack

"ये मोहतरमा कौन हैं?"- तेजस्वी यादव के बदले BJP के तेजस्वी सूर्या को निशाना बनाने पर ट्रोल हुईं कंगना

BJP द्वारा हिमाचल प्रदेश के मंडी से लोकसभा उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारे जाने के बाद से कंगना रनौत लगातार कांग्रेस पार्टी पर हमलावर रही है.

Read Time: 3 mins
नई दिल्ली:

अभिनेत्री से राजनेता बनीं हिमाचल की मंडी सीट से बीजेपी उम्मीदवार कंगना रनौत (Kangana Ranaut) अपने बयानों को लेकर लगातार चर्चा में है. अब तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के बदले तेजस्वी सूर्या को निशाना बनाने को लेकर वो एक बार फिर चर्चाओ मे है. उनका एक वीडियो सामने आया है जिसमें वो कह रही हैं कि बिगड़ैल राजकुमारों की एक पार्टी है...चाहे वह राहुल गांधी हों जो चंद्रमा पर आलू उगाना चाहते हैं, या तेजस्वी सूर्या जो गुंडागर्दी करते हैं और मछली खाते हैं. दरअसल कंगना रनौत तेजस्वी यादव पर निशाना साधना चाह रही थी लेकिन वो गलती से अपनी ही पार्टी के नेता तेजस्वी सूर्या पर हमला बोल गयी.  यादव ने कंगना रनौत के बयान की एक क्लिप पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने लिखा है कि “ये मोहतरमा कौन है?” (यह महिला कौन है?)

 भाजपा द्वारा हिमाचल प्रदेश के मंडी से अपने लोकसभा उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारे जाने के बाद से कंगना रनौत लगातार कांग्रेस पार्टी पर हमलावर रही है.  कांग्रेस नेता विक्रमादित्य सिंह  मंडी में उनके खिलाफ कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. कंगना रनौत राहुल गांधी पर भी लगातार हमलावर रही हैं.

कांग्रेस ने चुनाव आयोग से कंगना रनौत की शिकायत की
 कंगना रनौत ने शनिवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के पिता मोतीलाल नेहरू अपने समय के ‘‘अंबानी'' थे, लेकिन कोई नहीं जानता था कि उनके पास संपत्ति कहां से आई थी.  रनौत की इन टिप्पणियों के बाद कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग (ईसी) के समक्ष शिकायत दर्ज की है. शिकायत में आरोप लगाया गया कि उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक और अपमानजनक'' टिप्पणियों का इस्तेमाल किया है और ‘‘स्वतंत्रता सेनानी मोतीलाल नेहरू की तुलना देश के शीर्ष उद्योगपतियों में से एक से करने की कोशिश की है. ''

कांग्रेस की तरफ से क्या कहा गया है?
कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग को दी गई अपनी शिकायत में कहा है, ‘‘कंगना रनौत ने मंडी के सरकाघाट में एक सभा में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक और अपमानजनक टिप्पणी की और स्वतंत्रता सेनानियों की व्यापारियों से तुलना करके सारी हदें पार कर दीं.'' इसमें कहा गया, ‘‘उन्होंने स्वतंत्रता सेनानी मोतीलाल नेहरू की तुलना देश के शीर्ष व्यवसायियों में से एक से करने की कोशिश की है.'' कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा कि रनौत ने संजय गांधी पर ‘‘भारत में पुरुषों की जबरन नसबंदी करने में शामिल होने'' का आरोप लगाया है.

निर्वाचन आयोग को शिकायत हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के कानूनी विभाग के राज्य संयोजक धनंजय शर्मा और धीरज ठाकुर द्वारा दी गई है. पार्टी ने कहा कि ये आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है और उन लोगों पर निजी हमला है जो अब जीवित नहीं हैं.शिकायत में कहा गया है कि उन्होंने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के खिलाफ भी अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया और यहां तक कि कांग्रेस नेता विक्रमादित्य सिंह को एक ‘‘कार्टून'' भी कहा.

ये भी पढ़ें-: 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
जिम कॉर्बेट पार्क में टाइगर ने पर्यटकों पर किया हमला, रोंगटे खड़े कर देगा ये VIDEO
"ये मोहतरमा कौन हैं?"- तेजस्वी यादव के बदले BJP के तेजस्वी सूर्या को निशाना बनाने पर ट्रोल हुईं कंगना
अरुंधति रॉय के खिलाफ यूएपीए के तहत मुकदमा चलाने को दिल्ली के उपराज्यपाल की मंजूरी
Next Article
अरुंधति रॉय के खिलाफ यूएपीए के तहत मुकदमा चलाने को दिल्ली के उपराज्यपाल की मंजूरी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;