महाराष्ट्र में बारिश और भूस्खलन के कारण गिरे पत्थरों ने रास्ता किया बंद

मुंबई के घाटोकपर के पंचशील नगर में भूस्खलन हुआ, इसमें अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है

महाराष्ट्र में बारिश और भूस्खलन के कारण गिरे पत्थरों ने रास्ता किया बंद

महाराष्ट्र में बारिश के बाद पत्थर गिरने से सड़क पर आवाजाही बंद हो गई.

मुंबई:

Maharashtra Rain: मुंबई (Mumbai) और महाराष्ट्र के अन्य क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण, मुंबई के उपनगरीय क्षेत्र घाटकोपर और यहं से करीब 300 किलोमीटर दूर रत्नागिरी जिले के चिपलून में कम से कम दो स्थानों पर भूस्खलन (Landslide) होने की खबर है. समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि आज सुबह घाटोकपर के पंचशील नगर में भूस्खलन होने की सूचना मिली. दमकल विभाग ने बताया कि बचाव कार्य के लिए विभाग की गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं. अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए एक वीडियो में भारी बारिश के बाद भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हुआ एक घर दिखाई दे रहा है. घर की दीवार गिरने के बाद वहां के निवासी घर के उपकरणों को तलाशते हुए दिखाई दे रहे हैं.

चिपलून में हुई भूस्खलन की घटना कैमरे में कैद हो गई. एक वीडियो क्लिप में सड़क पर एक पहाड़ी से पत्थर लुढ़कते हुए दिखाई दे रहे हैं. शनिवार को देर रात हुए भूस्खलन के बाद कल मुंबई-गोवा राजमार्ग पर यातायात रोकना पड़ा था.

मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों के लिए महाराष्ट्र के तटीय कोंकण क्षेत्र में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की एक टीम ने उन क्षेत्रों में दो टीमों को तैनात किया है, जहां पिछले साल भीषण बाढ़ आई थी.

एनडीआरएफ की टीमें रायगढ़ जिले के चिपलून और महाड में तैनात हैं. रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों के लिए चार जुलाई से आठ जुलाई तक भारी से बहुत भारी बारिश होने की भविष्यवाणी करते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

चिपलून और महाड़ में पिछले साल भीषण बाढ़ आई थी और भूस्खलन भी हुआ था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आपदा मोचन बल (Disaster response force) की पांच टीमें मुंबई में तैनात हैं. शहर में कई जगह जलभराव है. शहर के दृश्यों में लोग पानी में से गुजरते हुए दिखाई दे रहे हैं. लोकल ट्रेन सेवाएं फिलहाल प्रभावित नहीं हुई हैं, हालांकि कुछ रूटों पर बसों को डायवर्ट किया गया है.