महाराष्ट्र में ज़ीका वायरस का पहला मरीज मिला, हालत स्थिर

भविष्य में रोग के प्रकोप को कम करने के लिए पुणे शहर में ज़ीका वायरस का एक एंटोमोलॉजिकल सर्वेक्षण किया जा रहा है. आगे की जांच की जा रही है.

महाराष्ट्र में ज़ीका वायरस का पहला मरीज मिला, हालत स्थिर

महाराष्ट्र में ज़ीका वायरस का पहला मरीज मिला.

पुणे के बावधन इलाके में 67 वर्षीय एक व्यक्ति ज़ीका वायरस से संक्रमित पाया गया है. स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. शख्स नासिक का रहने वाला है और 6 नवंबर को पुणे आया था. 16 नवंबर को वह बुखार, खांसी, जोड़ों के दर्द और थकान के साथ जहांगीर अस्पताल आया और 18 नवंबर को एक प्राइवेट लैब में ज़ीका का पता चला.

महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग ने कहा, "महाराष्ट्र में ज़ीका वायरस का एक मामला सामने आया है. बावधन पुणे शहर में एक 67 वर्षीय व्यक्ति मरीज में ज़ीका वायरस मिला था. वह मूल रूप से नासिक का रहने वाला है और 6 नवंबर को पुणे आया था. इससे पहले 22 अक्टूबर को उसने सूरत की यात्रा की. 30 नवंबर को NIV ने पुष्टि की थी कि उसमें ज़ीका वायरस का संक्रमण है. वर्तमान में, रोगी चिकित्सकीय रूप से स्थिर है और उसे कोई जटिलता नहीं है."

भविष्य में रोग के प्रकोप को कम करने के लिए पुणे शहर में ज़ीका वायरस का एक एंटोमोलॉजिकल सर्वेक्षण किया जा रहा है. आगे की जांच की जा रही है. ज़ीका वायरस (ZIKV) रोग (ZVD) को ब्राजील में 2016 के प्रकोप के बाद की महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य बीमारियों में से एक माना जाता है.

यह भी पढ़ें-

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मद्रास उच्च न्यायालय ने लगाया तमिलनाडु के मंदिरों में मोबाइल फोन पर प्रतिबंध
दिल्ली शराब नीति मामले में CBI ने KCR की बेटी के कविता को तलब किया
JNU की दीवारों पर 'ब्राह्मणों' के खिलाफ आपत्तिजनक कमेंट लिखने के मामले में FIR, जांच में जुटी दिल्ली पुलिस

Featured Video Of The Day

वीडियो: कश्मीर के गुलमर्ग रिजॉर्ट में हिमस्खलन की चपेट में पर्यटक