भैंसों के झुंड से टकरा गई थी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन, मालिकों के खिलाफ रेलवे ने दर्ज की FIR

Vande Bharat Express: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने हाल में मुंबई और गांधी नगर के बीच नई वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) को हरी झंडी दिखाई थी. यह घटना गुरुवार को सुबह 11:18 मिनट पर हुई.

भैंसों के झुंड से टकरा गई थी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन, मालिकों के खिलाफ रेलवे ने दर्ज की FIR

Vande Bharat Express : पीएम मोदी ने 30 सितंबर को वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई थी.

गुजरात में हाल में शुरू की गई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन (Vande Bharat Express) गुरुवार को हादसे का शिकार हो गई. मुंबई से आते वक्त अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के नजदीक वटवा और मणिनगर स्टेशन के पास भैंसों के झुंड से टकरा गई थी. अब रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने शुक्रवार को इस हादसे के लिए भैंसों के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. भैंसों के झुंड से टकराने के बाद मुंबई-गांधीनगर वंदे भारत एक्सप्रेस का फ्रंट का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था. हादसे के कुछ देर बाद ट्रेन को दोबारा आगे के लिए रवाना किया गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने हाल में मुंबई और गांधी नगर के बीच नई वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) को हरी झंडी दिखाई थी. 

पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) ने एक बयान में कहा कि भैंसों से टकराने के बाद क्षतिग्रस्त हो गई सेमी-हाई स्पीड ट्रेन के ड्राइवर कोच के नोज कोन कवर को मुंबई में एक नए कोच से बदल दिया गया है. यह घटना गुरुवार को सुबह 11:18 मिनट पर हुई. अहमदाबाद के पास यह ट्रेन भैंसों के झुंड से टकरा गई थी. अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में चार भैंसों की मौत हो गई. हादसे के बाद वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन कुछ देर के लिए खड़ी रही. ट्रेन को 11:27 बजे फिर रवाना किया गया.

पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ प्रवक्ता (अहमदाबाद मंडल) जितेंद्र कुमार जयंत ने कहा, "आरपीएफ ने अहमदाबाद में वटवा और मणिनगर रेलवे स्टेशनों के बीच वंदे भारत ट्रेन के रास्ते में आने वाली भैंसों के अज्ञात मालिकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है."

रेलवे के पीआरओ प्रदीप शर्मा ने कहा कि इस घटना से थोड़ा सा नुकसान हुआ. ट्रेन के संचालन पर कोई असर नहीं पड़ा है. ट्रेन अपने निर्धारित समय से चल रही है. शर्मा ने कहा कि ट्रेन के आगे का हिस्सा जो टूटा है उसे ठीक किया जाएगा. ट्रेन को समय से ही संचालित किया जाएगा. रेल अधिकारियों का कहना है कि गुजरात में गाय-भैंस पालने वाले वंदे भारत के टाइम टेबल से वाकिफ नहीं हैं. यही वजह है कि भैंसों के झुंड पटरियों पर आ गया. उन्हें जागरूक करने के लिए अब एक अभियान चलाया जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि यह देश की तीसरी वंदे भारत ट्रेन है. इससे पहले नई दिल्ली और वाराणसी, नई दिल्ली और माता वैष्णो देवी कटरा के बीच वंदे भारत ट्रेनें चल रही हैं. गांधीनगर से मुंबई के बीच चलने वाली 20901 वंदे भारत एसप्रेस सप्ताह में छह दिन चल रही है.