विज्ञापन
Story ProgressBack

Exclusive: हमें बहुत सीटें मिलेंगी... कहां-कहां जीत रही कांग्रेस? जानें खरगे की क्या भविष्यवाणी

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा इलेक्शन कमेटी ने सोच समझकर राहुल गांधी को रायबरेली से टिकट दिया है. क्योंकि वो सोनिया गांधी की सीट थी, जगह खाली थी. खाली जगह नहीं छोड़नी थी. इस सीट से राहुल गांधी को कामयाबी जरूर मिलेगी.  

Read Time: 9 mins

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने एनडीटीवी को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि पाचवें चरण के बाद भी इंडिया अलायंस आगे है. ऐसा इसलिए क्योंकि मोदी जी ने जो वादे किए, वो उन्होंने नहीं निभाए. लोगों ने वादे पूरा होने का 10 साल इंतजार किया. आज लोग महंगाई को बड़े पैमाने पर झेल रहे हैं और परेशान हैं. बरोजगारी से परेशान नौजवान बच्चे नौकरी नहीं होने से सड़क पर भटक रहे हैं. लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए और संविधान को बचाने के लिए जरूरी है, बीजेपी सरकार को हटाना.  मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा हर राज्य में हमारी बढ़त है.

सवाल- पिछले लोकसभा चुनाव जहां बीजेपी और कांग्रेस की डायरेक्ट फाइट थी, उन 190 सीटों में 175 हारे थे, 15 जीते थे...

इस सवाल पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कांग्रेस राजस्थान में अच्छा करेगी. इस बार जीरो नहीं आएगा. हैट्रिक नहीं होने देंगे. अच्छी सीट पाएंगे. मध्य प्रदेश में भी कुछ सीट मिलेगी. छत्तीसगढ़ में भी कुछ सीट मिलेगी. महाराष्ट्र में पिछली बार एक सीट आई थी. MVA गठबंधन अच्छी तरह लड़ रही है. कम से तीस सीट लाने वाले हैं. हर राज्य में हमारी बढ़त है, वो घट रहे हैं. क्योंकि ज्यादा से ज्यादा जो मिलना था वो उनको मिला है. अब उससे ज्यादा नहीं मिलने वाला. हम जहां घट गए थे या हार गए थे वहां हमारा जंप हुआ है. इससे पता लगाइये कि विपक्ष जीतने के साइड में है और वो घटने की तरफ हैं. कर्नाटक में अच्छी सीट लाएंगे, 50% हमारा टारगेट है. 20 का है मगर 50 फीसदी सीट लाएंगे. अच्छी स्थिति है. पिछली बार एक ही सीट आई थी.

सवाल- इंडिया गठबंधन को कितनी सीटें मिलेगी?

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा हमे जो रुझान मिल रहा है. उससे जाहिर है कि हम बीजेपी को सत्ता में आने से रोक देंगे. बिल्कुल 273, 280, 290 मैं नहीं बोल सकता.. हमें बहुत येस मिल रहे हैं. हम सत्ता में आएंगे.

सवाल- बिहार सीएम नीतीश कुमार पर क्या कहेंगे?

कांग्रेस अध्यक्ष ने इस सवाल के जवाब में कहा देखिए ये लोग कभी न कभी बिखरने वाले थे. यहां तो ये हर एक को अपने घर बुलाकर बातचीत कर गठबंधन कर चुके थे. वहां पर वो अपनी सहूलियत देखकर अलग हो गए. हमें कोई चिंता नहीं है. जो आईडियोलोजिकली कमिटेड है, मजबूत है वही महत्वपूर्ण है. अगर जीतकर भाग जाते तो बहुत नुकसान हो जाता.

सवाल: क्या नीतीश कुमार को वापस लेंगे?

इस पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा ऐसे लोग टिक नहीं सकते, अब उन्होंने कसम खाकर बोल दिया है कि अब इधर नहीं जाऊंगा, यहीं मरूंगा. सत्ता के लालची लोग हैं.

सवाल: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर क्या कहेंगे?

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि देखेंगे उनपर बार-बार बात करना ठीक नहीं. देखेंगे जीतने के बाद आएंगी तो ठीक है, नहीं तो देखेंगे कि आगे क्या स्ट्रैटजी बनानी है.

सवाल: पीएम के इंडिया अलायंस पर जो बोले उस पर रिएक्शन

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा हमारा मेनिफेस्टो एजेंडा नहीं है तो क्या है. 5 गारंटी है. ये सब हमने लोगों को देने के लिए किया है.

सवाल- ये तो कांग्रेस का मेनिफेस्टो है?

मल्लिकार्जुन खरगे ने इस सवाल पर कहा ये तो सबकी सहमति से बना है. बाद में मिनिमम प्रोग्राम बैठकर करेंगे. यदि गठबंधन के लोग कोई अच्छा प्रोग्राम लाते हैं तो उसे भी लागू करेंगे.

सवाल- इंडिया अलायंस का चेहरा कौन होगा?

इस सवाल पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि गठबंधन तय करेगा. बच्चा पैदा होने के बाद ही बोलेंगे. बच्चा पैदा नहीं हुआ तो सिर का नाप कैसे बता दूं. ये सवाल 2004 में भी था. मैडम गांधी ने त्यागकर के जो सक्षम था उसे दिया. अच्छे-अच्छे प्रोग्राम किए.

सवाल- इस बार तो त्याग वाली स्थिति नहीं है, राहुल हैं?

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा इलेक्शन है, गठबंधन है. हम कुछ बात कहकर इलेक्शन खराब नहीं करना चाहते.

सवाल: बेरोजगारी और महंगाई तो हर चुनाव में मुद्दा होता है, पीएम ने जो महंगाई पर कहा है?

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि महंगाई का मुद्दा हर वक्त नहीं रहता, उसे कंट्रोल करने के लिए आपने क्या किया ये जरूरी है. एक खाने की थाली 2014 में 100 रुपए की थी 170 की हो गई. 80 की तुअर दाल 180 की हो गई. 400 का सिलेंडर 1000 का हो गया. उद्योगपतियों का 16 लाख करोड़ का कर्ज माफ किया, गरीबों का एक पैसा माफ नहीं किया. अमीरी गरीबी की खाई 100 साल में  सबसे ज्यादा है. इम्प्लॉयमेंट की बात कर रहे हैं. क्या पंडित नेहरू ने सरकारी पैसा लगाकर बड़े बड़े संस्थान नहीं बनाए? HMT, BHEL, HAL, BEL ऐसे संस्था बनाए. भाखड़ानंगल बनाए. ये आधुनिक मंदिर है, इसका सम्मान कीजिए.

सवाल- सड़कें बन रही है, रेलवे का विद्युतीकरण हो रहा है, एयरपोर्ट बन रहे हैं, इससे भी रोजगार बढ़ रहा है

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सिंगल को आपने डबल बनाया, डबल को चार बनाया, चार को 6 बनाया. जहां आना-जाना कम  है, वहां पर सड़कें बनाई. जहां बनना था वहां बन नहीं पाया.

सवाल- आपने 10 किलो राशन और हर महिला को साढ़े आठ हजार रुपए देने का वादा किया है. इसका पैसा कहां से आएगा?

इस सवाल के जवाब में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा 16 लाख करोड़ अमीरों का माफ कर देते हो. एक दो लाख करोड़ इसके लिए नहीं दे सकते?

सवाल- आप लोगों ने स्टडी तो किया होगा?

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा फूड गारंटी तो देना है. आदिवासी, अतिपिछड़े को पेट भरने के लिए अन्न नहीं मिल रहा है. उनका पेट भरने के लिए राशन डबल कर देंगे. कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल में दे रहे हैं. वहीं रिजर्वेशन के सवाल पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि डाका तो इन्होंने डाला. जो लोगों को रिजर्वेशन मिल रहा है. 30 लाख वेकैंसी खाली थी. अभी भी खाली हैं, उसे भरने की कोशिश नहीं की गई. अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को 30 में से 15 लाख नौकरी तो मिलती थी. आप लोगों को फंसा रहे हैं. झूठ बोल रहे हैं. हर यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर की भर्ती नहीं कर रहे हैं. अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों को आप नहीं ला रहे हैं. RSS ट्रेंड लोगों को आप बैठा रहे हैं.

सवाल- मंदिर पर आप लोग ताला लगा देंगे और मुस्लिमों को आरक्षण देंगे, इन आरोप पर क्या कहेंगे?

इस सवाल पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि आरक्षण सबको देंगे जो इकोनॉमिकली बैकवर्ड सेक्शन से हैं. वो पॉलिसी मैटर है आने के बाद एलायंस पार्टनर डिसाइड करेंगे. क्या मुस्लिमों को देना ही बोलकर संविधान में लिखा है या मेनिफेस्टो में हमने लिखा है क्या? मुसलमान में जो गरीब लोग हैं उनको जो न्याय मिलना है, वो मिलना चाहिए. उसके लिए हम कहेंगे लेकिन, तुम वोट डिसाइड करने के लिए ये बात छेड़ रहे हो और छेड़कर हिंदू मुस्लिम ला रहे हो.

सवाल -कांग्रेस सरकार आने पर क्या मंदिर में ताला लगेगा?

कांग्रेस की सरकार आने पर मंदिर में ताला लगाने के सवाल पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि कोई मूर्ख भी नहीं कर सकता. कांग्रेस पार्टी ने 55 साल सरकार चलाई, मिली-जुली भी चलाई. कोई मूर्ख भी ऐसा नहीं करेगा, अगर बोलने वाला बहुत श्याना है तो उसे भी बहुत स्टडी करके बोलना चाहिए.

सवाल- जो नेता कांग्रेस छोड़कर गए वो ये बोलकर गए कि हमें राम मंदिर जाने से रोक दिया

इस सवाल के जवाब में मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि देखो आमंत्रण दो लोगों को आया था. मुझे और श्रीमति गांधी को. क्या ये सभी मेंबर और पार्टी को आमंत्रण दिए थे, नहीं दिए थे. वो ट्रस्ट वालों का था. आपका क्या है ट्रस्ट वालों ने मंदिर बनवाए. योगदान सभी ने दिए, कांग्रेस वालों ने भी दिए. दूसरों ने भी दिए. आइडिया तो आडवाणी का था. ये लोग राजनीतिक फायदा उठाएंगे इसलिए उस वक्त मतभेद था. अब जो बना है अभी पूरा बना भी नहीं है. जिसकी जो आस्था है, जिस जिसकी पूजा करते हैं... राम की करते हैं, कृष्ण की करते हैं, गौतम बुद्ध की करते हैं... लेकिन, कभी उनके लिए कोशिश नहीं किए मोदी साहब. मगर दूसरों को बोलते हैं, ताला लगाएंगे, बुलडोजर लगाएंगे. ये कभी नहीं हो सकता, ये मूर्खता की बात है.

सवाल- पार्टी छोड़कर बहुत लोग जा रहे हैं, उस पर क्या कहेंगे?

मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि जिनकी आस्था विचारधारा मजबूत नहीं है, वो कांग्रेस से चले जा रहे हैं, 2004, 2009 में आते थे...ये लोग राहुल के पीछे-पीछे फिरते थे... उनको अचानक राम मंदिर याद आ गया. कहते हैं कि हमे यहां कोई इम्पॉर्टेंस नहीं मिलता है, तो क्या बीजेपी में मिल रहा है. क्या पहचान है उनकी बीजेपी में. हरेक को राहुल गांधी ने मंत्रालय दिलाया, पहचान दिलाया... ऐसे लोग बात कर रहे हैं, डरकर भाग गए.


सवाल- सीताराम केसरी को बाथरूम में बंद करने के आरोप में क्या कहेंगे?

मल्लिकार्जुन खरगे ने इस आरोप को झूठ बताया. उन्होंने कहा किसी को बंद करने का सवाल ही नहीं है. वर्किंग कमेटी में सीनियर लोगों ने बैठकर फैसला लिया था. सोनिया गांधी ने पूछा भी नहीं. 2 बार पीएम बनने का चांस आया ठुकरा दिया. ऐसा भड़काने की बात करते हैं, हमारी पार्टी जो अच्छा काम करती है, बीजेपी उस पर भी टिका टिप्पणी करती है.

सवाल- अमेठी-रायबरेली में दोनों गांधी लड़ते तो क्या अच्छा नहीं होता?

इस पर मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा इलेक्शन कमेटी ने सोच समझकर राहुल को टिकट दिया है. क्योंकि वो सोनिया गांधी की सीट थी. जगह खाली थी. खाली जगह नहीं छोड़नी थी. राहुल गांधी वहां से लड़े तो कामयाबी जरूर मिलेगी.  इससे गठबंधन को भी फायदा मिलेगा. उत्तर से लड़े, दक्षिण से भी पहले इंदिरा गांधी भी लड़ती थी. सोनिया गांधी भी लड़ती थी.. रायबरेली से... हमने सोच समझकर पार्टी और गठबंधन के हिसाब से फैसला किया, कार्यकर्ताओं ने दबाव बनाया.

सवाल- प्रियंका गांधी को आप किस तरह से देखते हैं?

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वो बहुत भारी काम कर रही हैं. हर जगह जाती हैं और जहां भी वो जाती है, वहां माहौल बनता है लोग बाहर आते है. जितना करना चाहिए वो करती हैं... उनकी एक अलग छवि बनी हुई है और लोग उन्हें बहुत पसंद करते है. उनकी डिमांड बहुत जगह है, लेकिन वो कितने जगह जा पाएंगी... अच्छा प्रचार उन्होंने किया और बहुत मेहनत की राहुल प्रियंका बहुत मेहनती है, लोग कुछ भी बोले, लोग उन्हें शहंशाह प्रिंस बोलते है , मोदी साहब ख़ुद ही प्रिंस है एक घंटे में एक कुर्ता दो घंटे में जैकेट बदलते है, ऐसे लोग राहुल जी को प्रिंस बोलते हैं....

ये भी पढ़ें- भिखारी चौक पर रोहिणी आचार्य के जाने से क्यों मचा बवाल, चल गई गोलियां

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
हरियाणा : कांग्रेस विधायक 20 जून को राज्यपाल से मुलाकात कर करेंगे फ्लोर टेस्ट की मांग
Exclusive: हमें बहुत सीटें मिलेंगी... कहां-कहां जीत रही कांग्रेस? जानें खरगे की क्या भविष्यवाणी
गम में डूबे परिवार, नहीं जला चूल्‍हा... कुवैत अग्निकांड में बिहार के 2 लोगों की गई है जान
Next Article
गम में डूबे परिवार, नहीं जला चूल्‍हा... कुवैत अग्निकांड में बिहार के 2 लोगों की गई है जान
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;