Zomato Case : डिलीवरीमैन के आरोपों पर NDTV से बोलीं महिला कस्टमर- 'मैंने नहीं मारा'

कस्टमर हितेशा चंद्राणी ने डिलीवरी मैन कामराज के उन आरोपों को खारिज किया है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि कस्टमर ने ही उन्हें गालियां दी थीं और चप्पल से मारा था. और उन्हें नाक पर चोट भी उनकी खुद की अंगूठी से लगी थी.

खास बातें

  • जोमैटो केस पर बढ़ता जा रहा है विवाद
  • डिलीवरीमैन ने कस्टपर लगाया था गाली देने और चप्पल मारने का आरोप
  • महिला कस्टमर ने घटना पर अपना वर्जन दिया
नई दिल्ली:

बेंगलुरु की एक महिला का ज़ोमैटो के एक डिलीवरी ब्वॉय से हुई कथित मारपीट का मामला बढ़ता जा रहा है. महिला ने आरोप लगाया था कि डिलीवरी एक्जीक्यूटिव ने उन्हें घूंसा मारा था, जिसके बाद डिलीवरी वाले ने उलटा महिला पर आरोप  लगाया है कि उन्होंने चप्पलें चलाई थीं और गालियां दी थीं. लेकिन अब महिला ने इन आरोपों का जवाब दिया है.

हितेशा चंद्राणी ने NDTV से बातचीत में इन आरोपों से इनकार किया कि उन्होंने डिलीवरी पर्सन को चप्पल से मारा था और गालियां दी थीं. उन्होंने कहा कि वो अचानक हुई इस घटना से हिल गई थीं. उन्होंने बताया, 'मेरा ऑर्डर 59 मिनट में आने वाला था. लेकिन मैंने कुछ देर बाद देखा तो डिलीवरी टाइम 61 मिनट हो चुका था. मैं उनसे कह रही थी कि वो बहस न करें. हम मेहनत से पैसे कमाते हैं. मैं ऑर्डर के पैसे दे रही थी तो कस्टमर सपोर्ट से इस बात पर लड़ना मेरा अधिकार था. मैं उनसे कहती रही कि या तो मेरा ऑर्डर कैंसिल करो या फिर इसे फ्री करो. मैंने उनसे कहा कि अगर ऑर्डर टाइम पर नहीं आया तो आपके पास कैंसिल करने का ऑप्शन होता है.'

चंद्राणी ने बताया कि डिलीवरी मैन को 4.31 पर आना था, लेकिन वो 4.46 पर आया. उन्होंने बताया, 'जैसे ही मैंने उनसे पूछा कि क्या जोमैटो ने उसे ऑर्डर कैंसिल करने या छूट देने की बात कही है, तो वो तुरंत बदतमीजी से बात करने लगे कि मैम मुझे नहीं पता है. मेरा टाइम खराब मत करो. मेरा पैसा दो और जाने दो.'

उन्होंने कहा कि इसके बाद उन्होंने कस्टमर केयर पर कॉल कर कहा कि डिलीवरमैन उन पर चिल्ला रहे हैं. 'मैंने उनसे कहा कि वो आपको कॉल कर रहे हैं तो वो मुझ पर चिल्लाने लगे कि मैं तुम्हारा नौकर हूं क्या? तुम्हारे कस्टमर केयर कॉल का इंतजार करता रहूं? उसका टोन बहुत धमकीभरा था.'

चंद्राणी का आरोप है कि जब वो चिल्लाने लगा तो उन्होंने दरवाजा बंद करने की कोशिश की लेकिन डिलीवरी ब्वॉय ने धक्का मार दिया और कहने लगा कि 'तू क्या कर रही है?' आरोप ये भी है कि उन्होंने दरवाजे के अंदर हाथ डाला, ऑर्डर लिया और चले गए. उन्होंने दावा किया, 'जब मैंने बोला कि तुम ऐसा नहीं कर सकते तो मुझे घूंसा मार दिया. यह सब दो मिनट के अंदर हुआ. मुझे समझ नहीं आया कि क्या हुआ है. वह लिफ्ट की तरफ भागा. मुझे नहीं पता था कि मेरी नाक से खून बह रहा था. मैंने खुद को संभाला, फिर डिलीवरी ब्वॉय के पीछे गई और रोकने की कोशिश की. मुझे फिर मारा और क्योंकि लिफ्ट बंद नहीं हो रही थी, तो वो सीढ़ियों से नीचे भाग गया.'

डिलीवरीमैन ने जिस अंगूठी से चोट लगने की बात कही है, उसे दिखाते हुए उन्होंने कहा कि उस रिंग से चोट नहीं सकती. चंद्राणी ने कहा, 'मैंने उसे कभी चप्पल से नहीं मारा.  जब वो भगा तब मैंने अपने बचाव में किया. गाली मेरी तरफ से नहीं आई. उसने कुछ और कर दिया होता तो?'

बता दें कि बुधवार को बेंगलुरु की हितेशा चंद्राणी ने एक वीडियो शेयर कर अपने साथ कथित हमले की घटना बताई थी.  उन्होंने बताया कि, 'मेरा जोमेटो डिलीवरी ऑर्डर लेट हो गया था और मैं कस्‍टमर केयर के एक्‍जीक्‍यूटिव से बात कर रही थी तभी डिलीवरी के लिए आए शख्‍स ने यह किया. उसने मुझे हिट किया और खून बहते देख मुझे छोड़कर भाग निकला.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि, डिलीवरी ब्वॉय कामराज ने The News Minute को बताया कि महिला ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया था और इसी दौरान उसके खुद के हाथ से उसे चोट लगी थी. वहीं, कंपनी के फाउडंर ने कहा है कि कंपनी ने इस मामले में दोनों पक्षों को सुन ही है. हालांकि, उन्होंने एक ट्वीट कर यह भी बताया कि आरोप झेल रहे डिलीवरी एक्जीक्यूटिव की रेटिंग प्लेटफॉर्म पर काफी हाई है.