ममता के गैर BJP नेताओं को पत्र पर प्रकाश जावडेकर की दोटूक, 'यह उनकी हताशा का संकेत, वह न सिर्फ नंदीग्राम.. '

ममता का पत्र राज्य विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर सामने आया. इस चरण में नंदीग्राम सीट पर उनका मुकाबला एक वक्त सहयोगी रहे शुभेंदु अधिकारी से है.

ममता के गैर BJP नेताओं को पत्र पर प्रकाश जावडेकर की दोटूक, 'यह उनकी हताशा का संकेत, वह न सिर्फ नंदीग्राम.. '

प्रकाश जावडेकर ने दावा किया, पश्चिम बंगाल की सत्‍ता से ममता की पार्टी TMC बाहर होने वाली है

खास बातें

  • कहा, बंगाल की सत्‍ता से बाहर होने वाली है बीजेपी
  • यही नहीं, ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से हार रही हैं
  • ममता ने लेटर में बीजेपी के खिलाफ साझा संघर्ष का किया है आह्वान
नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता प्रकाश जावडेकर (Prakash Javadekar) ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) का गैर भाजपाई नेताओं को पत्र लिखना उनकी ‘हताशा' को दर्शाता है क्योंकि वह जानती हैं कि वह न सिर्फ नंदीग्राम सीट से हार रही हैं बल्कि उनकी पार्टी भी पश्चिम बंगाल में सत्ता से बाहर होने वाली है. गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी सहित गैर भाजपा नेताओं को पत्र लिखा है, जिसे उनकी पार्टी ने बुधवार को जारी किया. पत्र में बनर्जी ने कहा कि भाजपा के लोकतंत्र और संविधान पर कथित हमलों के खिलाफ ‘एकजुट होने और प्रभावी' तरीके से संघर्ष करने का वक्त आ गया है. पत्र में उन्होंने कहा कि विपक्षी नेताओं को देश की जनता के समक्ष ‘‘भरोसेमंद विकल्प'' पेश करने की कोशिश करनी चाहिए.

नंदीग्राम में पोलिंग बूथ पर झड़प को लेकर ममता ने गवर्नर को लगाया फोन, कहा- 'कुछ भी हो सकता है..'

अभिनेता रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के पुस्कार दिए जाने की घोषणा के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पत्र के बारे में पूछे जाने पर जावडेकर ने कहा, ‘‘ममता बनर्जी का पत्र उनकी हताशा दिखाता है. उन्हें समझ आ गया है कि वह हार रही हैं, वह न सिर्फ नंदीग्राम सीट से हार रही हैं बल्कि उनकी पार्टी भी पश्चिम बंगाल में सत्ता से बाहर होने वाली है और इस कारण से वह कांग्रेस से भी उनसे मेल करने की अपील कर रही हैं, जो उनके खिलाफ लड़ रही है.''उन्होंने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बारे में पूछे गए किसी भी प्रश्न का उत्तर देने से इनकार कर दिया और कहा कि यह सम्मेलन दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के बारे में हैं.


तमिलनाडु: अपमानजक कमेंट पड़ा भारी, ECI ने DMK नेता ए. राजा को 48 घंटे तक प्रचार करने से रोका

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि ममता का पत्र राज्य विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर सामने आया. इस चरण में नंदीग्राम (Nandigram) सीट पर उनका मुकाबला एक वक्त सहयोगी रहे शुभेंदु अधिकारी से है. शुभेंदु इस सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी हैं. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा बनर्जी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (शिवसेना), झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (जेएमएम), दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (आप), ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (बीजद), आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी (वाईएसआर कांग्रेस), राकांपा प्रमुख शरद पवार, द्रमुक के एमके स्टालिन, समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव, राजद के तेजस्वी यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला, पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती को यह पत्र लिखा है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)