दिल्ली के साथ-साथ गर्मी से जम्मू के पहाड़ भी तपे, राजस्थान में चल रही लू, जानें कब मिलेगी राहत

दिल्ली में अधिकतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री अधिक हो  गया है. लिहाजा भारतीय मौसम विभाग ने इसे सीवियर हीट लू की संज्ञा दी है.

दिल्ली के साथ-साथ गर्मी से जम्मू के पहाड़ भी तपे, राजस्थान में चल रही लू, जानें कब मिलेगी राहत

दिल्ली और जम्मू-कश्मीर समेत भारत के कई इलाके भीषण गर्मी की चपेट में

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर से दिल्ली तक उत्तर भारत के कई राज्य भीषण गर्मी का सामना कर रहे हैं. दिल्ली में अधिकतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री अधिक हो  गया है. लिहाजा भारतीय मौसम विभाग ने इसे सीवियर हीट लू की संज्ञा दी है. सफदरजंग ऑर्ब्जवेटरी में पारा 43 डिग्री सेल्सियस के पार दर्ज किया गया. कई इलाकों में पारा 44-45 डिग्री के पास पहुंच गया है. मौसम विज्ञानी पहले ही कह चुके हैं कि तापमान बढ़ने के कारण राजधानी में मॉनसून आने में देरी हो सकती है.

राजस्थान में भी लू का कहर
वहीं राजस्थान की बात करें तो वह भी तेज गर्मी की चपेट में है. मौसम विभाग लू चलने की चेतावनी दे चुका है. बुधवार को चुरू और करौली में सबसे अधिक तापमान 44.4 डिग्री दर्ज किया गया. धौलपुर में 44.3 डिग्री, पिलानी में 44.2 डिग्री, गंगानगर में 44.1 डिग्री, अलवर में  44.0 डिग्री और बीकानेर में 43.1 डिग्री दर्ज किया गया. मौसम विभाग के मुताबिक- आने वाले 48 घंटों में बीकानेर, जोधपुर, जयपुर, भरतपुर और कोटा में लू चलने की संभावना है.

पहाड़ी क्षेत्र भी तपे
पहाड़ी क्षेत्र भी तप रहे हैं. जम्मू में बुधवार को इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा. यहां अधिकतम तापमान 42.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया. श्रीनगर में अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम  16.6 डिग्री रहा. इस केंद्र शासित प्रदेश में कटरा दूसरा सबसे गर्म इलाका रहा. कटरा में अधिकतम तापमान 39 डिग्री दर्ज किया गया.

जून में सामान्य से 10 प्रतिशत अधिक हुई बारिश
आईएमडी के मुताबिक- वहीं बारिश की बात करें तो दिल्ली समेत उत्तर भारत से दक्षिण पश्चिम मॉनसून के दूर रहने के बावजूद जून में सामान्य से 10 प्रतिशत अधिक बारिश हुई. मॉनसून फिलहाल बाड़मेर, भीलवाड़ा, धौलपुर, मेरठ और अमृतसर होते हुए सदूरवर्ती उत्तरी सीमा से गुजर रहा है.  हालांकि 19 जून से मॉनसून में कोई प्रगति नहीं दिखी. हालांकि 3 से 19 जून मॉनसून में अधिकतर प्रगति का अनुमान रहता है. वहीं केरल में दक्षिण पश्चिम मॉनसून दो दिन की देरी के साथ 3 जून को पहुंच चुका था.


जानें कब रिमझिम फुहारों से मिलेगी राहत
मौसम विभाग के मुताबिक- दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में दक्षिण पश्चिम मॉनसून में प्रगति 7 जुलाई से होने की संभावना है, लेकिन फिलहाल ये 7 दिन बहुत गर्म रहने वाले हैं. कई जगहों पर पारा 40 डिग्री को पार कर गया है. मध्य और उत्तर पश्चिम भारत में मॉनसून अभी कमजोर है, जबकि पूर्वोतर भारत यानी बिहार और पूर्वी यूपी में भारी बारिश हो रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)