कोरोना के नए वेरिएंट 'ओमिक्रॉन' पर है पूरी नजर, तैयारियों में कोताही नहीं : मनीष सिसोदिया

दिल्ली में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने डीडीएमए की मीटिंग में इस पर चर्चा की. यह नया वेरिएंट है और दुनिया भर में इसका स्प्रेड अभी होना निश्चित है. इसका इम्पैक्ट क्या है इसको लेकर भी अनिश्चितता बनी हुई है.

कोरोना के नए वेरिएंट 'ओमिक्रॉन' पर है पूरी नजर, तैयारियों में कोताही नहीं : मनीष सिसोदिया

कोविड के नए वेरिएंट से निपटने के लिए दिल्ली सरकार कर रही है तैयारियां (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दक्षिण अफ्रीका से हुई कोविड-19के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की शुरुआत के बाद अब भारत में भी इसे लेकर सरकारें चिंतित है. दिल्ली में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने डीडीएमए की मीटिंग में इस पर चर्चा की. यह नया वेरिएंट है और दुनियाभर में इसका स्प्रेड अभी होना निश्चित है. इसका इम्पैक्ट क्या है इसको लेकर भी अनिश्चितता बनी हुई है.विश्व भर में अभी यही चिंता है कि कोरोनावायरस का यह नया वेरिएंट यह कैसे रिएक्ट कर रहा है. सिसोदिया ने कहा कि इसे लेकर जितनी भी जानकारी सामने आई है उसके बारे में डीडीएमए को अवगत कराया और उन्होंने भी कहा कि हम भी नजर रखे हुए हैं, सरकारें भी नजर रखेंगीं, लेकिन हम भी अपनी तैयारियों में कोई कोताही नहीं रखेंगे.

महाराष्ट्र के वृद्धाश्रम में 'कोविड ब्लास्ट', एक साथ 67 लोग पाए गए कोरोना पॉजिटिव

सिसोदिया ने कहा कि वैरिएंट चाहे कितना भी घातक हो या ना हो, वैक्सीन पर इसका कितना असर पड़ रहा है या नहीं पड़ रहा है, यह सब बातें आने वाले कुछ समय में साफ हो जाएंगी. हमारी तैयारी यह है कि अगर किसी भी कारण से मामले बढ़ते हैं तो उस वक्त कितने बेड्स की जरूरत पड़ेगी कैसे पड़ेगी उसके लिए अप्रैल मई और जून के अनुभव को देखते हुए दिल्ली सरकार पहले से तैयारी कर रही थी. हमने रामलीला मैदान या दिलशाद गार्डन में एक्स्ट्रा फैसिलिटी बनाई थी, इसके अलावा बाकी सब जगह भी हमारी एक्स्ट्रा बेड्स फैसिलिटी अलर्ट पर हैं. डेंगू के चलते बेड कुछ कम हुए थे, लेकिन डेंगू कम होने के बाद वापस बेड्स को शिफ्ट करेंगे.

उधर दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सरकार ने अहम फैसला किया है. पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने की घोषणा कि कंस्ट्रक्शन और डेमोलिशन का काम अगले आदेश तक बंद रहेगा. इसके अलावा ट्रकों की एंट्री भी 7 दिसंबर तक बंद रहेगी. राय ने बताया कि गुलाबी बाग, मयूर विहार फेज 2, तिमारपुर, हरि नगर, द्वारका सेक्टर 3, अशोक विहार, रोहिणी सेक्टर11, कड़कड़डूमा, विकासपुरी, पश्चिम विहार और वसंत कुंज में रहने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए स्पेशल बस का इंतजाम ​किया गया है.

'Omicron' का मरीजों पर कैसा दिख रहा है असर, कोरोना वेरिएंट पर चेताने वाली डॉक्टर ने बताया

राय ने बताया कि प्रदूषण फैलाने वाली अलग अलग एजेंसियों पर 28 लाख 76 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है. इसके अलावा प्रदूषण को कंट्रोल करने के लिए दिल्ली में पानी का छिड़काव जारी रहेगा, पेट्रोल पम्प पर प्रदूषण सर्टिफिकेट जांच की मुहिम जारी रहेगी. अक्टूबर और नवंबर महीने में अबतक 18 लाख प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी किए गए हैं, और 14 हजार लोगों का चालान किया गया है.

कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर मन में कई आशंकाएं, लक्षण भी थोड़े अलग


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com