भारी बारिश के बाद यमुना में जल स्तर बढ़ा, 24 घंटे में पहुंच सकता है खतरे के निशान पर

दिल्ली में लगातार हो रही तेज बारिश से यमुना नदी का जलस्तर बढ़ गया है. आलम यह है कि बारिश ऐसे ही होती रही तो 24 घंटे में जलस्तर खतरे के निशान तक पहुंच सकता है.

भारी बारिश के बाद यमुना में जल स्तर बढ़ा, 24 घंटे में पहुंच सकता है खतरे के निशान पर

दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ा, 24 घंटे में पहुंच सकता है खतरे के निशान पर. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है. यमुना का जलस्तर गुरुवार को 203.37 मीटर दर्ज किया गया है. 24 घंटे में इसके खतरे के निशान तक पहुंचने का अनुमान जताया जा रहा है. यमुना में 204.50 मीटर पर खतरे का निशान है. दिल्ली में यमुना के तटीय इलाकों में मंगलवार को अलर्ट जारी किया गया था. प्रशासन की तरफ से इन इलाकों में निगरानी बढ़ा दी गई है. पानी के बहाव की बात करें तो बीते 24 घंटे में यह 1.60 लाख क्यूसेक दर्ज की गई है, यह साल का सबसे अधिक आंकड़ा है.


दिल्ली के जलमंत्री और फ्लड एंड इरिगेशन मिनिस्टर सत्येन्द्र जैन ने कहा कि हथिनी कुंड से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है. अभी यमुना खतरे के निशान से नीचे है, लेकिन अगले 24 घंटे में खतरे के निशान तक पहुंचने के आसार हैं. बारिश 24 घंटे से हो रही है, जिससे नदी का जलस्तर बढ़ने का आसार है. संभावना है कि अगले 24 से 48 घंटे तक जलस्तर खतरे के निशान तक पहुंच जाएगा. यह निर्भर करता है कि हथिनी कुंड से और कितना पानी छोड़ा जाएगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने पूरी तैयारियां की हुई है अगर फ्लड की स्तिथि पैदा होती है तो हम तैयार हैं. जैसे ही यमुना का स्तर खतरे के निशान के पास पहुंचेगा अलर्ट जारी कर दिया जाएगा. लो-लाइन के पास यमुना के किनारे जितने भी इलाके हैं वह प्रभावित होते हैं उन को चिन्हित किया हुआ है जिसकी लिस्ट भी जारी की जाएगी. सारे डीएम की ड्यूटी लगाई गई है. अभी ऐसी स्थिति नहीं आई है कि फ्लडलाइन के इलाकों को खाली कराया जाए.