मोदी-बाइडेन जैसे नेताओं के सामने 14-वर्षीय भारतीय लड़की ने बटोरी सुर्खियां, क्लाइमेट समिट में प्रिंस विलियम ने भेजा था न्योता

COP26 Glasgow में क्लाइमेट चेंज विषय पर अपने भाषण से 14 साल की विनिशा उमाशंकर ने सुर्खियां बनाई हैं. अपने पावरफुल स्पीच में विनिशा ने कहा कि उनकी 'पीढ़ी विश्वनेताओं के झूठे वादों से तंग आ चुकी है और गुस्से में है.' उन्होंने आह्वान किया कि अब इस ग्रह को बचाने के लिए अब सीधा कॉल लेने की जरूरत है.

मोदी-बाइडेन जैसे नेताओं के सामने 14-वर्षीय भारतीय लड़की ने बटोरी सुर्खियां, क्लाइमेट समिट में प्रिंस विलियम ने भेजा था न्योता

विनिशा उमाशंकर ने COP26 में अपने भाषण से बनाई सुर्खियां.

नई दिल्ली:

स्कॉटलैंड के ग्लासगो में हुए क्लाइमेट समिट में विश्व के बड़े-बड़े नेता जुटे और खबरों का केंद्र रहे, लेकिन इस बीच वहां मौजूद रही भारत की 14 साल की एक लड़की भी चर्चा का विषय बन गई है. COP26 Glasgow में क्लाइमेट चेंज विषय पर अपने भाषण से 14 साल की विनिशा उमाशंकर ने सुर्खियां बनाई हैं. अपने पावरफुल स्पीच में विनिशा ने कहा कि उनकी 'पीढ़ी विश्वनेताओं के झूठे वादों से तंग आ चुकी है और गुस्से में है.' उन्होंने आह्वान किया कि अब इस ग्रह को बचाने के लिए अब सीधा कॉल लेने की जरूरत है. विनिशा 'Eco Oscars' के नाम से जाने जाने वाले Earthshot Prize की फाइनलिस्ट्स में से एक रह चुकी हैं. विनिशा को क्लाइमेट कॉन्फ्रेंस के क्लीन टेक्नोलॉजी और इनोवेशन सब्जेक्ट पर हुई बैठक में बोलने के लिए ब्रिटेन के प्रिंस विलियम की ओर से न्योता आया था.

तमिलनाडु की विनिशा ने कॉन्फ्रेंस में दुनिया भर के नेताओं के सामने अपने संबोधन में कहा, 'आज मैं पूरे सम्मान के साथ यह कहती हूं कि चलिए बस बातें करना बंद करते हैं और असल में काम करते हैं. हम Earthshot Prize विजेता और फाइनलिस्ट्स, धुएं, प्रदूषण और जीवाश्म ईंधन पर बनी हुई अर्थव्यवस्था की बजाय आपसे हमारे इनोवेशन, प्रोजेक्ट्स और समाधानों में हमारी मदद मांगते हैं. हमें पुरानी बहसों के बारे में सोचना बंद करना होगा क्योंकि हमें भविष्य के लिए एक नया विज़न तैयार करने की जरूरत है. इसलिए आपको हमारा भविष्य तैयार करने के लिए अपना पैसा, वक्त और कोशिश देनी होगी.'

विनिशा के इस संबोधन के वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बोरिस जॉनसन, जो बाइडेन सहित पूरी दुनिया भर के कई बड़े विश्व नेता थे. 

ये भी पढ़ें : जलवायु शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री का बड़ा संकल्प: भारत 2070 तक कार्बन न्यूट्रल हो जाएगा

विनिशा ने अपने भाषण में कहा कि 'आप हमारा नेतृत्व नहीं करेंगे, तो भी हम करेंगे. आप देरी करेंगी तो भी हम आगे बढ़ेंगे. आप भले ही अतीत में रहें, हम आगे बढ़ते रहेंगे. लेकिन प्लीज हमारा साथ देने का ये न्योता स्वीकार करिए, आपको पछताना नहीं पड़ेगा.'


बता दें कि विनिशा उमाशंकर ने Earthshot Prize के लिए सौर ऊर्जा से चलित आइरनिंग कार्ट बनाया था. इसका उद्देश्य गंदे चारकोल को सौर ऊर्जा से रिप्लेस करना है. इसके लिए उन्हें फाइनल में जगह मिली थी. प्रिंस विलियम की ओर से ऑर्गनाइज किए जाने वाले Earthshot Prize में धरती के सामने खड़ी पर्यावरणीय समस्याओं का इनोवेटिव समाधान ढूंढने वालों की प्रतियोगिता होती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : सिटी सेंटर- पीएम मोदी ने ग्लासगो क्लाइमेट समिट में किए 5 वादे