UP Election: 5 साल में इतने अमीर हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे, पत्नी काॅमनवेल्थ की गोल्ड मेडलिस्ट

साल 2004 में पंकज सिंह भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) की राज्य कार्यकारिणी में सदस्य बने. फिर 2007 में यूपी बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी में सदस्य बनाए गए.

UP Election: 5 साल में इतने अमीर हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे, पत्नी काॅमनवेल्थ की गोल्ड मेडलिस्ट

नोएडा सीट से चुनाव मैदान में हैं पंकज सिंह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के बेटे और नोएडा से विधायक पंकज सिंह (Pankaj Singh) पर एक बार फिर भरोसा जताया है. पार्टी ने पंकज सिंह को यूपी चुनाव 2022 के लिए नोएडा विधानसभा सीट (Noida Assembly Seat) से अपना उम्मीदवार घोषित किया है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटी इस सीट पर लंबे समय से बीजेपी का कब्जा है. मौजूदा वक्त में पंकज सिंह यहां से विधायक हैं. वह दूसरी बार इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. सिंह उत्तर प्रदेश बीजेपी के उपाध्यक्ष भी हैं. आइए जानते हैं कैसा रहा पंकज सिंह का सियासी सफर... 

पंकज सिंह का शुरुआती जीवन
पंकज सिंह का जन्म 12 दिसंबर, 1978 को झारखंड के पलामू जिले के डाल्डनगंज में हुआ था. उनकी मां का नाम सावित्री देवी है. वह गृहणी हैं. स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद पंकज सिंह ग्रेजुएशन के लिए दिल्ली आए. उन्होंने दिल्ली के दयाल सिंह कॉलेज से बीकॉम किया और बाद में एमिटी यूनिवर्सिटी नोएडा से मैनेजमेंट में पीजी डिप्लोमा किया. पंकज सिंह की शादी सुषमा सिंह से हुई है और उनके दो बच्चे हैं. उनकी पत्नी सुषमा सिंह अंतरराष्ट्रीय शूटर व कोच हैं. वह नामी शूटर जसपाल राणा की बहन हैं. उनके पिता नारायण सिंह राणा भी शूटिंग से जुड़े हैं. सुषमा सिंह 2006 के कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल विजेता भी हैं.

पंकज सिंह का राजनीतिक सफर 
पंकज सिंह ने चुनावी राजनीति में 2017 में हाथ अजमाया और नोएडा से विधानसभा चुनाव जीतकर लखनऊ पहुंचे. इससे पहले, उन्होंने बीजेपी में कई भूमिकाओं में काम किया और सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय रहे हैं. साथ ही किसानों के अधिकारों से जुड़े कई सामाजिक आंदोलन भी चलाए. पिता के दिग्गज राजनेता होने के कारण उनका सियासी दुनिया से परिचय बहुत ही कम उम्र में हो गया था.      

READ ALSO: सपा का नया कास्ट कार्ड: गैर यादव OBC को 30% टिकट, सवर्णों और मुस्लिमों को भी 20% हिस्सेदारी    

साल 2004 में पंकज सिंह भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) की राज्य कार्यकारिणी में सदस्य बने. फिर 2007 में यूपी बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी में सदस्य बनाए गए. इसी साल वाराणसी की चिरईगांव विधानसभा सीट से उन्हें पार्टी का उम्मीदवार भी घोषित किया गया. हालांकि, उनके पिता (राजनाथ सिंह) की सलाह थी कि चुनावी राजनीति में आने से पहले उन्हें कुछ और साल पार्टी में काम करना चाहिए. जिसके बाद पंकज सिंह ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया. साल 2010 में, वह यूपी बीजेपी के सचिव बने और फिर महासचिव. वर्तमान में वह बीजेपी की उत्तर प्रदेश इकाई में उपाध्यक्ष हैं. 

5 साल में सालाना आमदनी 2.78 लाख बढ़ी
गौतमबुद्ध नगर की नोएडा सीट से पकंज सिंह ने हाल में नामांकन भरा है. नामांकन पत्र के साथ दिए गए हलफनामे के अनुसार, पंकज सिंह की वार्षिक आय बढ़कर 3,78,140 रुपये हो गई है. 2017 के विधानसभा चुनाव के समय पर्चा दाखिल करते समय उन्होंने वार्षिक आय 99,666 रुपये घोषित की थी. हलफनामे के अनुसार, इनके पास तब कोई अचल संपत्ति नहीं थी और आज भी नहीं है. 

READ ALSO: नेताजी की 'कर्मभूमि' से पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे अखिलेश, करहल सीट चुनने की क्या है वजह, जानें...

पत्नी सुषमा सिंह हैं अंतरराष्ट्रीय शूटर और कोच
पत्नी के नाम पिछले विधानसभा चुनाव से पहले 1.45 करोड़ रुपये की संपत्ति थी, जो इस समय बढ़कर दो करोड़ 33 लाख रुपये हो गई है. शपथ-पत्र के मुताबिक, 2017 में पंकज सिंह के पास 47.09 लाख रुपये की चल संपत्ति थी, जो अब 1.24 करोड़ रुपये की हो गई है. पंकज सिंह की पत्नी सुषमा सिंह अंतरराष्ट्रीय शूटर व कोच हैं. उनके पास इस समय चार शस्त्र हैं, जबकि 2017 में इनके पास तीन शस्त्र थे. हलफनामे के अनुसार, पंकज सिंह के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: यूपी विधानसभा चुनाव : पश्चिमी उत्तर प्रदेश में क्या हिंदू-मुसलमान होगा?