ट्विटर ने राहुल गांधी समेत कांग्रेस के कई नेताओं के अकाउंट को किया अनलॉक 

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक यूट्यूब पर बयान में कहा कि यह ट्विटर (Twitter) का एक खतरनाक खेल है. उन्होंने आरोप लगाया कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट निष्पक्ष नहीं है और सरकार के इशारों पर काम कर रही है.

नई दिल्ली:

ट्विटर (Twitter) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अकाउंट को दोबारा बहाल कर दिया है. राहुल ने दिल्ली कैंट में 9 साल की लड़की के साथ कथित दुष्कर्म और हत्या की घटना को लेकर उसके परिवार की तस्वीर साझा की थी, जिसके बाद सोशल मीडिया कंपनी ने यह कदम उठाया था. कांग्रेस के अन्य नेताओं के ट्विटर अकाउंट को भी अनलॉक कर दिया गया है. राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्विटर पर निशाना साधते हुए कहा था कि वो भारत की लोकतांत्रिक प्रक्रिया में दखलंदाजी कर खतरनाक खेल खेल रहा है. इन खातों को करीब एक हफ्ते पहले सस्पेंड किया गया था.

कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट को अनलॉक कर दिया गया है. साथ ही उन कांग्रेस नेताओं के अकाउंट भी बहाल कर दिए गए हैं, जिन्होंने राहुल गांधी के ट्वीट को साझा किया था. ट्विटर का कहना है कि दुष्कर्म पीड़िता के परिवार की तस्वीर को साझा करना नियमों का उल्लंघन है. 

Twitter ने कांग्रेस पार्टी नेताओं के 5 हजार से अधिक ट्विटर अकाउंट्स को किया लॉक!

ट्विटर ने राहुल गांधी के अकाउंट को अनलॉक जरूर किया लेकिन विवादित ट्वीट को भारत में दिखाने से रोका गया है. लेकिन वह ट्वीट दुनिया के दूसरे देशों में देखा जा सकता है. ट्विटर की तरफ़ से एक बयान भी जारी किया गया है. इसमें कहा गया है कि अपने अकाउंट को बहाल करने की अपील करते हुए राहुल गांधी की तरफ़ से फ़ोटो इस्तेमाल करने के लिए  पत्र दाखिल किया गया. इस आधार पर उनका ट्विटर अनलॉक कर दिया गया, लेकिन देश के कानून के मद्देनज़र विवादित ट्वीट भारत में नहीं दिखेगा.


राहुल गांधी ने एक यूट्यूब पर बयान में कहा कि यह ट्विटर का एक खतरनाक खेल है. उन्होंने आरोप लगाया कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट निष्पक्ष नहीं है और सरकार के इशारों पर काम कर रही है. उनके अकाउंट को निलंबित किए जाने पर राहुल ने कहा था कि यह उनके लाखों फालोवर्स काा अपमान है. उनके विचारों की अभिव्यक्ति की आजादी की अवहेलना है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राहुल गांधी ने लिखा ट्विटर अब एक निष्पक्ष प्लेटफॉर्म नहीं रह गया है, यह भेदभावपूर्ण मंच है. यह वही करता है, जो मौजूदा सरकार कहना चाहती है. वहीं भारत में ट्विटर को लेकर मंचे हंगामे के बीच सोशल मीडिया कंपनी ने अपने भारत शाखा के प्रमुख मनीष माहेश्वरी को अमेरिका नई जिम्मेदारी पर भेज दिया है.