मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी को एक और समन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे व टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी को मनी लॉन्ड्रिग मामले में एक नया समन मिला है.

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी को एक और समन

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी को ईडी ने भेजा नया समन. (फाइल फोटो)

कोलकाता:

तृणमूल (TMC) सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) से बंगाल में कथित कोयला खदान घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए पेश होने के लिए नया समन मिला है. उन्हें 21 सितंबर को पेश होने को कहा गया है. 33 वर्षीय अभिषेक बनर्जी को मूल रूप से शुक्रवार को दिल्ली में पेश होने के लिए बुलाया गया था, लेकिन उन्होंने यह कहते हुए वक्त मांगा कि वह इतने कम समय में यात्रा नहीं कर सकते. उनसे इस महीने पहले ही पूछताछ की जा चुकी है. 6 सितंबर को उनसे दिल्ली के जाम नगर हाउस में आठ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई.

पूछताछ से पहले, अभिषेक बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा, "मैं जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं ... सहयोग करूंगा". हालांकि, उन्होंने यह भी बताया कि "कोलकाता स्थित एक मामले के लिए उन्होंने मुझे दिल्ली बुलाया है."

उन्होंने दोहराया था कि, "मैंने नवंबर में जो कहा था, मैं दोहराता हूं ... अगर कोई केंद्रीय एजेंसी किसी भी अवैध लेनदेन में मेरी संलिप्तता साबित कर सकती है ... मैं सार्वजनिक रूप से फांसी पर चढ़ने के लिए तैयार हूं."

पिछली बार अभिषेक बनर्जी से अन्य आरोपियों और दो कंपनियों के साथ संबंधों को लेकर पूछताछ की गई थी, जिन्होंने अवैध लेनदेन के सबूत दिखाए थे और कथित तौर पर उनके परिवार से जुड़े हुए थे.

उनकी पत्नी रुजीरा बनर्जी को भी तलब किया गया है. उन्हें 1 सितंबर को पेश होने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने कोविड की स्थिति और उसके छोटे बच्चों का हवाला देते हुए कहा कि वह यात्रा नहीं कर सकतीं.

रुजीरा बनर्जी ने एजेंसी से उनके कोलकाता स्थित घर पर पूछताछ करने को कहा था.

रुजीरा बनर्जी से सीबीआई ने भी पूछताछ की है - बंगाल चुनाव से कुछ दिन पहले 23 फरवरी को. उनकी बहन और परिवार से भी पूछताछ की गई.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र पर अपने भतीजे और उनके परिवार पर एजेंसियों द्वारा परेशान करने का आरोप लगाया है. उन्होंने दावा किया कि भाजपा के कुछ मंत्री कोयला माफिया के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.

गुरुवार को, जैसे ही उन्होंने भवानीपुर उपचुनाव के लिए अपना अभियान शुरू किया, उन्होंने अपने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ केंद्रीय एजेंसियों को हटाने के लिए भाजपा पर हमला किया.

भाजपा नेता शुभेंदू अधिकारी का नाम लिए बिना उन्होंने कहा, "जिस व्यक्ति ने वास्तव में नारद मामले में पैसा लिया उसके खिलाफ कोई केस नहीं है. पुलिस उससे पूछताछ क्यों नहीं कर सकती? क्या वह भगवान का पुत्र है? अगर वह तय कर सकता है कि कहां और कब पुलिस उससे पूछताछ कर सकती है, तो हमें भी यही अधिकार होना चाहिए."


प्रवर्तन निदेशालय बंगाल में सरकारी ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ईसीएल) से अवैध खनन और कोयले की चोरी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रहा है. प्रवर्तन निदेशालय इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तारी कर चुका है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
'तिपहिया को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने पर अब भारत की निगाह, सरकार ने 2030 तक रखा लक्ष्य
अगले महीने आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, NIDM की रिपोर्ट में कई सुझाव
भारत में पिछले 24 घंटे में 34,973 नए COVID-19 केस, कल से 7.7 फीसदी कम