रेल मंत्री के दफ्तर के कर्मचारी दो शिफ्ट में काम करेंगे, एक्शन मोड में आए अश्विनी वैष्णव का निर्देश

Ashwini Vaishnaw का ये आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है. हालांकि ये आदेश पूरे रेल भवन के स्टाफ के लिए नहीं है. बल्कि उनके लिए जो MR Cell ( रेल मंत्री का दफ्तर) में हैं.

रेल मंत्री के दफ्तर के कर्मचारी दो शिफ्ट में काम करेंगे, एक्शन मोड में आए अश्विनी वैष्णव का निर्देश

Rail Minister Ashwini Vaishnav ने पदभार संभाल लिया है

नई दिल्ली:

नए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने पदभार संभालने के बाद कार्यप्रणाली में बड़े बदलाव के संकेत दिए हैं. वैष्णव ने शुक्रवार को कार्यकाल के दूसरे दिन ही बड़ा आदेश जारी किया. उन्होंने निर्देश दिया कि रेल मंत्री के कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारी दो शिफ्ट में काम करेंगे. आदेश के मुताबिक, सुबह 7 बजे से रात 12 बजे तक रेल मंत्री दफ्तर MR cell ( Railway Minister's Office) के अधिकारी - कर्मचारी काम करेंगे. पहली शिफ्ट सुबह 7 बजे शाम 4 बजे तक और दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे से रात 12 बजे तक की होगी. ये आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है. हालांकि ये आदेश पूरे रेल भवन के स्टाफ के लिए नहीं है. बल्कि उनके लिए जो MR Cell ( रेल मंत्री का दफ्तर) में हैं.रेल मंत्रालय में एडीजी (पीआर) डीजे नारायण ने यह आदेश जारी किया है. 

दो पूर्व आईएएस अधिकारियों को मोदी कैबिनेट में मिली जगह

गौरतलब है कि अश्विनी वैष्णव ओडिशा से बीजेपी के राज्यसभा सांसद (Odisha BJP MP)  हैं. वैष्णव को केंद्र सरकार में नया रेल मंत्री और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री बनाया गया है. 1994 बैच के पूर्व आईएएस वैष्णव ने पिछले 15 सालों में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाईं हैं. खास तौर पर बुनियादी ढांचागत क्षेत्र में पीपीपी मॉडल को बेहतर बनाने के अपने योगदान के लिए वैष्णव को सराहना मिली है. वैष्णव जनरल इलेक्ट्रिक और सीमेंस जैसी प्रमुख अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में अपनी छाप छोड़ चुके हैं. उन्होंने पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी के व्हार्टन स्कूल से एमबीए और आईआईटी कानपुर से एमटेक किया है.

मालूम हो कि रेल मंत्रालय की कई अहम परियोजनाओं में से एक बुलेट ट्रेन भी है, जो अहमदाबाद से मुंबई तक चलाई जानी है, यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना है. लेकिन योजना का काम समय पर पूरा करने के लिए इसे विशेष गति दिए जाने की आवश्यकता महसूस की जा रही है. इससे पहले वैष्णव ने बुधवार को सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय का कार्यभार संभाला था. उन्होंने स्पष्ट कहा था कि फेसबुक, ट्विटर जैसी कंपनियों को नए आईटी नियमों का पूरी तरह पालन करना होगा. इसमें किसी तरह की रियायत उन्हें नहीं दी जाएगी. 


गौरतलब है कि केंद्र सरकार के मंत्रालयों में भारी फेरबदल हुआ है औऱ 43 नए मंत्री बनाए गए हैं. इनमें से कई पूर्व आईएएस, डॉक्टर और अन्य पेशेवर शामिल हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अश्विनी वैष्णव को मिली रेलवे मंत्रालय की जिम्मा, पदभार संभाला