हरियाणा के नूंह में 27 वर्षीय युवक की अपहरण के बाद पीट कर हत्या, घटना के बाद इलाके में तनाव

मृतक के परिजनों ने मॉब लिंचिंग बताते हुए पुलिस में लगभग दो दर्जन लोगों के खिलाफ रोजका मेव थाने में शिकायत दी है. पुलिस ने लगभग एक दर्जन नामजद सहित दर्जनभर अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

हरियाणा के नूंह में 27 वर्षीय युवक की अपहरण के बाद पीट कर हत्या, घटना के बाद इलाके में तनाव

इलाके में दो पक्षों के झगड़े की वजह से तनाव बना हुआ है.

नूंह:

हरियाणा में मेवात के गांव खेड़ा खलीलपुर (Kheda Khalilpur) में एक युवक की लगभग दो दर्जन से भी अधिक लोगों ने रास्ते में घेरकर निर्मम हत्या कर दी. मृतक के परिजनों ने मॉब लिंचिंग बताते हुए पुलिस में लगभग दो दर्जन लोगों के खिलाफ रोजका मेव थाने में शिकायत दी है. पुलिस ने लगभग एक दर्जन नामजद सहित दर्जनभर अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. ताजा अपडेट के मुताबिक खेड़ा खलीलपुर आसिफ अपहरण-हत्याकांड में मेवात पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी मिली है और पुलिस ने 5 हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.  

गृह मंत्री अमित शाह से मिले हरियाणा के CM खट्टर, कोरोना हालात और किसान आंदोलन पर हुई बात

इसके अलावा पुलिस ने 14 नामजद सहित 15-20 अन्य आरोपियों नामजद किया है. बाकि आरोपियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है. एसपी नरेंद्र सिंह बिजारनिया ने डीएसपी मुख्यालय सुधीर तनेजा के नेतृत्व में एसआईटी गठन का किया. एसआईटी में मलखान सिंह एसएचओ रोजका मेव, सीआईए नूह इंचार्ज अमित कुमार के अलावा साइबर एक्सपर्ट भी शामिल है. 

जानिए क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक के परिजनों ने बताया कि उनका लड़का आसिफ (Asif Hussain) और उसका भाई रासिद सोहना दवाई के लिए गए थे. लेकिन जब रविवार की देर शाम वह सोहना से दवा लेकर वापस गांव की तरफ लौट रहे थे तो, तभी गांव खेडा खलीलपुर के दर्जनभर युवक सहित अन्य दूसरे गांवो के लगभग दो दर्जन लोगों ने सामने से आ रही आशिफ की गाड़ी में टक्कर मार दी. इतना ही नहीं अन्य दो तीन गाड़ियों में सवार दूसरे लोगों ने भी आशिफ की गाड़ी में जोरदार टक्कर मारी, जिससे आशिफ की गाड़ी गड्ढे में जाकर पलट गई. जैसे ही आशिफ की गाड़ी गड्ढे में जाकर पलटी तो आसिफ को मारने आए लगभग 2 दर्जन लोगों ने दोनों भाइयों पर हमला कर दिया.

मृतक के परिजन तैयब ने बताया कि गाड़ी में राशिद और आशीफ दोनों सवार थे. राशिद को मरा हुआ समझकर सभी अपराधियों ने आशीफ पर हमला बोल दिया. इतना ही नहीं उन्होंने बताया कि आसिफ को गाड़ी से निकालकर सांप की नंगली के पास ले जाकर गोली और सरियों से मारा गया और उसे मार कर फेंक गए. जैसे ही परिजनों को इसकी जानकारी मिली तो आस-पास के गांव में भय का माहौल पैदा हो गया और लोग इकट्ठा होने शुरू हो गए और पूरे मेवात में यह बात आग की तरह फैल गई.


पालघर मॉब लिंचिंग केस की कवरेज को लेकर मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को भेजा नोटिस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जैसे ही पुलिस को इसकी सूचना मिली पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर नूंह के सरकारी अस्पताल में रखवाया और पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा कर अपनी निगरानी में परिजनों को सौंप दिया. वहीं मेवात पुलिस इस मामले मे कुछ भी बोलने से कतराती हुई नजर आ रही है. इस मामले को लेकर पुलिस और पब्लिक के बीच अड़वर चौक पर जमकर पत्थरबाजी हुई. इलाके में दो पक्षों के झगड़े की वजह से तनाव बना हुआ है, लेकिन पुलिस ने स्थिति को काबू में किया.