मुंबई में कोरोना के सबसे आगे मोर्चा लेने वाले टॉस्क फोर्स को सबसे पहले टीके का सुरक्षा कवच

मुंबई में वैक्सीन की शुरुआत महाराष्ट्र कोविड टास्क फ़ोर्स के योद्धा रहे 4 वरिष्ठ डॉक्टरों के खुद टीका लेने के साथ हुई. टीके के बाद कुछ डायबटीज़, बीपी मरीज़ को तकलीफ़ दिखी.

मुंबई में कोरोना के सबसे आगे मोर्चा लेने वाले टॉस्क फोर्स को सबसे पहले टीके का सुरक्षा कवच

मुंबई:

महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे आगे मोर्चा लेने वाले टॉस्क फोर्स को सबसे पहले टीके का सुरक्षा कवच दिया गया है. मुंबई में वैक्सीन की शुरुआत महाराष्ट्र कोविड टास्क फ़ोर्स के योद्धा रहे 4 वरिष्ठ डॉक्टरों के खुद टीका लेने के साथ हुई. टीके के बाद कुछ डायबटीज़, बीपी मरीज़ को तकलीफ़ दिखी. मुंबई में बीकेसी के आईसीयू में कुछ हेल्थ केयर वर्करों को भर्ती किया गया. 

विशेषज्ञों ने बीपी, शुगर के मरीजों से कहा है कि वे बिना अपनी दवा खाए टीका न लें, मुंबई के सपेशिलिस्ट डाक्टर्ज़ ने ये तब कहा जब मुंबई के सबसे बड़े वैक्सीन सेंटर में कुछ स्वास्थ्यकर्मी टीके के बाद तकलीफ़ में दिखे और आयीसीयू में इन्हें भर्ती करना पड़ा. इसी बीच महाराष्ट्र की कोविड टास्क फ़ोर्स ने सबसे पहले टीका लगवाया ताकि बाक़ी स्टाफ़ में वैक्सीन को लेकर शंकाएं दूर हों.  

वरिष्ठ डॉक्टर टीका लगने के बाद दिखे स्वस्थ
बीएमसी टास्क फ़ोर्स बॉम्बे हॉस्पिटल डॉ गौतम भंसाली ने कहा कि देखिए कुछ नहीं हुआ, मैं बिल्कुल बिंदास हूं, चाय पी और अब बिल्कुल ठीक हूं.महाराष्ट्र कोविड टास्क फ़ोर्स से जुड़े और फ़ोर्टिस के डॉक्टर राहुल पंडित ने कहा कि हमने टीका लिया है और सभी लें यही बताना है. बिल्कुल ना डरें.महाराष्ट्र कोविड टास्क फ़ोर्स से बातचीत चल ही रही थी की मुंबई के इसी सबसे बड़े बीकेसी वैक्सीन सेंटर में बनी आईसीयू फ़सिलिटी में टीका लगने के बाद कुछ लोगों को भर्ती किया गया. डीन ने कहा, बीपी और डायबटीज़ के कुछ मरीज़ों को टीके के बाद बेचैनी हुई इसलिए एहतियातन भर्ती किया है. हमने अंदर भर्ती हुए एक मरीज़ से भी बात की.

दवा नहीं खाने से बिगड़ी तबियत
स्वास्थ्यकर्मी दिनेश रोकड़े ने कहा कि वह बीपी के मरीज़ हैं, सुबह दवा नहीं ली इसलिए तबियत बिगड़ गई. बीकेसी वैक्सीन सेंटर के डीन डॉ राजेश डेरे ने कहा कि घबराने की बात नहीं है, कुछ बीपी डायबटीज़ के मरीज़ दावा खाकर नहीं आए थे इसलिए ऐसा हुआ.बीकेसी वैक्सीन सेंटर के चिकित्सक डॉ मुंशी ने कहा कि जो भी बीपी शुगर के मरीज़ हैं  उनसे गुज़ारिश है अपनी दवा खाकर आएं.  बीकेसी वैक्सीन सेंटर डॉ. प्रदीप के मुताबिक, जिनको ऐलर्जी है. हम उनको ये टीका नहीं दे रहे हैं. क्योंकि हमने ऐलर्जी पर रिसर्च नहीं की है. इसलिए किसी भी तरह की ऐलर्जी मेडिसिन हो या फ़ूड से हो, हम उनको वैक्सीन नहीं दे रहे हैं. 


मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार सुबह मेयर, टास्क फ़ोर्स के साथ बीएमसी कमिश्नर के साथ टीकाकरण का शुभारंभ करने बीकेसी सेंटर पहुंचे. मुंबई में 500 टीम टीकाकरण में जुटी है. एक दिन में 50,000 से ज़्यादा लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीएमसी कमिश्नरने कहा, अगली खुराक 14 फरवरी को
बीएमसी कमिश्नर इक़बाल चहल ने कहा कि मुंबई के इस सबसे बड़े सेंटर में पहले दिन 498 लोगों को टीका लगना था, इनमें 120 वरिष्ठ डॉक्टर रहे, अब इन्हें वैक्सीन की अगली डोज़ वैलेंटाइंस डे पर दी जाएगी, यानी 14 फ़रवरी को. तब तक उम्मीद करते हैं, उन तमाम सवालों के जवाब मिल जाएं जो लोगों में मन में वैक्सीन को लेकर उठ रहे हैं.