महाराष्ट्र में संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़ा है आरोपी

महाराष्ट्र (Maharashtra) के नांदेड़ से एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया गया है. पंजाब पुलिस (Punjab Police) की सूचना पर इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया.

महाराष्ट्र में संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़ा है आरोपी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है.

नांदेड़:

महाराष्ट्र (Maharashtra) के नांदेड़ से एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया गया है. पंजाब पुलिस (Punjab Police) की सूचना पर इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया. पंजाब पुलिस और नांदेड़ पुलिस की संयुक्त कार्रवाई के तहत संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया गया है. मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी UAPA के तहत दर्ज मामले में फरार चल रहा था. वह लुधियाना का रहने वाला है और वह दिसंबर 2020 से गायब था. रविवार 7 फरवरी को पंजाब पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर नांदेड़ पुलिस से संपर्क किया था, फिर दोनों ने उसका लोकेशन ट्रेस कर संयुक्त कार्रवाई में सोमवार देर रात गिरफ्तार कर लिया.

अमृतसर की स्पेशल ऑपरेशन सेल द्वारा 19 दिसंबर को दर्ज FIR में तीन आरोपियों समेत जगदीश सिंह को भी आरोपी बनाया गया था. तीनों पर प्रतिबंधित आतंकी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के सक्रिय सदस्य होने और पंजाब में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए साजिश रचने का आरोप है. ये तीनों ही आरोपी बेल्जियम में सक्रिय खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के जगदीश सिंह के संपर्क में थे.

चोरी के पैसों से लगाता था हेल्थ कैंप, लड़ने वाला था चुनाव, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे


जगदीश इन्हें हथियार खरीद में मदद कर रहा था. पुलिस द्वारा दर्ज की गई FIR के मुताबिक, गिरफ्त में आया संदिग्ध आतंकी खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़ा है. वह बेल्जियम में खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़े लोगों के संपर्क में था और पंजाब में आतंकी वारदात को अंजाम देने की योजना में जुड़ा था. तीनों पर आतंकी वारदातों को अंजाम देने के लिए लोगों को भर्ती करने की जिम्मेदारी के साथ ही पंजाब में आतंकी साजिश अंजाम देने का आरोप भी है. इसके लिए हिंदू संगठनों के नेताओं और खालिस्तानी विचारधारा का विरोध करने वालों की पहचान कर उनकी हत्या करने की योजना थी. फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: आतंकी फंडिंग मामले में जकी उर रहमान लखवी को 15 साल की सजा