राजनाथ सिंह ने HAL के नए प्‍लांट का किया शुभारंभ, फाइटर जेट LCA Tejas का उत्‍पादन हो सकेगा दोगुना

48,000 करोड़ रुपये के सौदे के तहत तेजस एलसीए की भारतीय वायुसेना (IAF) को आपूर्ति मार्च 2024 से शुरू होगी और 83 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति पूरी होने तक हर साल करीब 16 विमानों को शामिल किया जाएगा. 

राजनाथ सिंह ने HAL के नए प्‍लांट का किया शुभारंभ, फाइटर जेट LCA Tejas का उत्‍पादन हो सकेगा दोगुना

राजनाथ सिंह ने कहा, अनेक देशों ने हल्‍के लड़ाकू व‍िमान तेजस में रुचि दिखाई है

बेंगलुरू:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)ने मंगलवार को यहां हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के नए प्‍लांट का उद्घाटन किया, इससे भारत में बने फाइटर जेट LCA Tejas का उत्‍पादन दोगुना किया जा सकेगा. इस मौके पर रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत अपनी रक्षा के लिए दूसरे देशों पर निर्भर नहीं रह सकता. उन्होंने कहा कि ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान' के तहत देश अपनी रक्षा उत्पादन क्षमताओं को बढ़ाने की दिशा में तत्पर है. हल्का लड़ाकू विमान (LCA) तेजस न केवल स्वदेशी है बल्कि अनेक मानकों पर अपने विदेशी समकक्षों से बेहतर और अपेक्षाकृत सस्ता भी है.

चीन-पाकिस्‍तान के JF-17 फाइटर जेट से बेहतर हैं हमारे तेजस LCA : वायु सेना प्रमुख

राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘अनेक देशों ने तेजस में रुचि दिखाई है. भारत कुछ साल में रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में 1.75 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य को हासिल करेगा.'' HAL के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक आर माधवन ने हाल ही में कहा था कि 48,000 करोड़ रुपये के सौदे के तहत तेजस एलसीए की भारतीय वायुसेना (IAF) को आपूर्ति मार्च 2024 से शुरू होगी और 83 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति पूरी होने तक हर साल करीब 16 विमानों को शामिल किया जाएगा. 

तेजस की खरीद के निर्णय से ''आत्मनिर्भर भारत'' अभियान को मजबूती मिलेगी : मोदी

माधवन ने यह भी कहा था कि अनेक देशों ने तेजस खरीदने में रुचि दिखाई है और निर्यात का पहला ऑर्डर अगले कुछ साल में आ सकता है.गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में सुरक्षा पर मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) ने 13 जनवरी को इस सौदे को मंजूरी दी थी. (इनपुट भाषा से भी)


जब भी भारत की संप्रभुता को चुनौती मिली, मुंहतोड़ जवाब दिया गया : PM मोदी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com