मैंने कंबल लिया और भागा, फोन ले जाना भी याद नहीं रहा, इतना शक्तिशाली था भूकंप : उमर अब्दुल्ला

जब भूकंप आया तब कांग्रेस नेता राहुल गांधी शिकागो विश्वविद्यालय के छात्रों से डिजिटल तरीके से संवाद कर रहे थे, तभी उन्होंने कहा कि पूरा कमरा हिल रहा है.

मैंने कंबल लिया और भागा, फोन ले जाना भी याद नहीं रहा, इतना शक्तिशाली था भूकंप : उमर अब्दुल्ला

2005 के बाद भूकंप का कोई झटका इतना शक्तिशाली महसूस हुआ : उमर अब्दुल्ला

ताजिकिस्तान में शुक्रवार रात शक्तिशाली भूकंप आया जिसके झटके दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र समेत उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में महसूस किए गए. भूकंप विज्ञान विभाग ने पहले भूलवश बताया था कि भूकंप का केंद्र पंजाब के अमृतसर में 19 किलोमीटर की गहराई पर केंद्रित था, हालांकि उसने बाद में संशोधित बयान जारी कर पुष्टि की कि भूकंप दरअसल ताजिकिस्तान में आया. विभाग ने कहा कि यह गलती सॉफ्टवेयर के कारण हुई. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (एनसीएस) ने बताया कि भूकंप की तीव्रता 6.3 मापी गई. भूकंप रात 10 बजकर 34 मिनट पर आया. इसमें जानमाल के नुकसान की तत्काल कोई खबर नहीं है. भूकंप से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत अनेक स्थानों पर लोगों में दहशत फैल गई. भूकंप के डर से लोग घरों से बाहर निकल आए.

जब भूकंप आया तब कांग्रेस नेता राहुल गांधी शिकागो विश्वविद्यालय के छात्रों से डिजिटल तरीके से संवाद कर रहे थे, तभी उन्होंने कहा कि पूरा कमरा हिल रहा है. नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘2005 में आए भूकंप के बाद से श्रीनगर में आया कोई झटका इतना शक्तिशाली नहीं था जिसने मुझे घर से बाहर जाने को मजबूर किया हो.मैंने कंबल लिया और भागा. मुझे अपने साथ फोन ले जाना भी याद नहीं रहा, इसलिए जब जमीन हिल रही थी तब ‘भूकंप' ट्वीट नहीं कर पाया.''

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘भूकंप के बाद अमृतसर या पंजाब के अन्य हिस्सों में क्षति की अभी तक कोई सूचना नहीं है। पंजाब पुलिस और स्थानीय प्रशासन के शीर्ष अधिकारी स्थिति पर नजर रख रहे हैं. सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना कर रहा हूं.'' अमृतसर के पुलिस आयुक्त सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि स्वर्ण मंदिर में सब कुछ सामान्य था और अनुयायी रोजमर्रा की तरह ही सेवा कर रहे थे.


एनसीएस के संचालन प्रमुख जेएल गौतम ने कहा, ‘‘भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान था. शुरुआती जांच में पता चला था कि केंद्र अमृतसर था। हमने उस जानकारी को संशोधित किया है.'' पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने कहा कि संदेश ‘प्रणाली में गलती' से लिया गया था और इसे ठीक कर दिया गया है. एनसीएस ने कहा था कि भूकंप के दो झटके आए, ताजिकिस्तान में रात 10.31 पर और अमृतसर में रात 10.34 पर. बाद में गौतम ने कहा, ‘‘एक ही झटका आया.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की. राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी भूकंप के झटकों के बारे में ट्वीट कर सभी की कुशलक्षेम की प्रार्थना की.