नवजोत सिद्धू ने पंजाब में आप का मुख्यमंत्री पद का चेहरा चुनने की कवायद को बताया फर्जीवाड़ा

सिद्धू ने कहा, आम आदमी पार्टी ने दावा किया था कि उसे 21 लाख मैसेज और कॉल मिली हैं. लेकिन अगर ये नंबर 24 घंटे भी काम करे तो एक दिन में 5 हजार से ज्यादा मैसेज या कॉल नहीं आ सकते. यह लोगों को बेवकूफ बनाने की एक चाल थी. 

नवजोत सिद्धू ने पंजाब में आप का मुख्यमंत्री पद का चेहरा चुनने की कवायद को बताया फर्जीवाड़ा

Bhagwant Mann को पंजाब में सीएम पद का चेहरा घोषित किया है आम आदमी पार्टी ने

चंडीगढ़:

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू (Navjot Sidhu) ने आम आदमी पार्टी के पंजाब में मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित करने की पूरी कवायद पर गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने सोमवार को प्रेस कान्फ्रेंस कर आरोप लगाया कि ये पूरी तरह एक फर्जीवाड़ा था. सिद्धू ने कहा, अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आप के मुख्यमंत्री पद का चेहरा तय करने के लिए जनता की राय मांगी थी और इसके लिए एक नंबर जारी किया था. दावा किया कि उसे 21 लाख मैसेज और कॉल मिली हैं. लेकिन अगर ये नंबर 24 घंटे भी काम करे तो एक दिन में 5 हजार से ज्यादा मैसेज या कॉल नहीं आ सकते. यह लोगों को बेवकूफ बनाने की एक चाल थी. 

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने पंजाब में भगवंत मान को पार्टी के मुख्यमंत्री पद का चेहरा (AAP Punjab CM Candidate) घोषित किया है. पार्टी ने दावा किया था कि ज्यादातर लोगों ने भगवंत मान के पक्ष में राय दी थी. अरविंद केजरीवाल ने स्वयं 18 जनवरी को भगवंत मान के नाम का ऐलान किया था. भगवंत मान फिलहाल संगरूर लोकसभा सीट से सांसद हैं और इस बार धुरी सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. 

सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस ने इसके खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर तीखा हमला करते हुए उन्हें ‘चालबाज और पाखंडी' कहा. सिद्धू ने चुनाव आयोग से ‘फर्जी अभियान' चलाने के लिए आम आदमी पार्टी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का अनुरोध किया है. उल्लेखनीय है कि आप ने पिछले सप्ताह पंजाब यूनिट के प्रमुख भगवंत मान को अपना मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किया था.

केजरीवाल ने दावा किया था कि उन्हें ‘जनता चुनेगी अपना सीएम' अभियान के तहत 13 से 17 जनवरी तक 21.59 लाख से अधिक प्रतिक्रिया मिली थीं और 93 फीसदी से ज्यादा लोगों ने भगवंत मान का नाम दिया था. सिद्धू ने कहा कि इतने सारे कॉल एक निजी नंबर पर कुछ दिनों में नहीं मिल सकते. गर हम  गणित के हिसाब से देखने की कोशिश करते हैं, तो इसका कोई मतलब नहीं है. इस तरह की कॉल में कम से कम 15 सेकंड लगते हैं, फिर एक दिन में केवल 5,760 कॉल प्राप्त की जा सकती हैं और चार दिनों में 23,040 कॉल ही प्राप्त हो सकेंगी.

उन्होंने कहा कि फर्जी खबरों को फैलाना और दुष्प्रचार पैदा करने का यह तरीका आदर्श आचार संहिता का पूर्ण उल्लंघन है और भारत के निर्वाचन आयोग को इस पर कड़ा संज्ञान लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने आयोग से शिकायत की है कि केजरीवाल किस तरह से पंजाब के लोगों को अपनी ‘गंदी चालों' से बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहे हैं. आप का यह अभियान लोगों को बेवकूफ बनाने की चाल के अलावा और कुछ नहीं है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शिकायत में सिद्धू ने लिखा है कि आप को लगभग 7 लाख व्हाट्सएप संदेश, 2.50 लाख वॉयस मैसेज और लगभग 8 लाख वॉयस कॉल मिले, लेकिन ये संभव नहीं है. सिद्धू ने निर्वाचन आयोग से इस फर्जी अभियानको चलाने के लिए आप के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाए.