यूपी में बेखौफ बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में की अंधाधुंध फायरिंग, कॉस्मेटिक की दुकान से लौट रही छात्रा घायल

मेरठ के ब्रहमपुरी थाना इलाके माधवपुरम में एक बाइक पर सवार चार बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिसमें कॉस्मेटिक की दुकान से सामान लेकर वापस घर लौट रही छात्रा गोली लगने से घायल हो गई.

यूपी में बेखौफ बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में की अंधाधुंध फायरिंग, कॉस्मेटिक की दुकान से लौट रही छात्रा घायल

मेरठ में बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में सड़क पर की अंधाधुंध फायरिंग

मेरठ (Meerut Firing)में भले ही पुलिस (UP Police) एनकाउंटर कर अपनी पीठ थपथपा रही हो, लेकिन बावजूद इसके बदमाशों के हौंसले बुलंद हैं. मेरठ के ब्रहमपुरी थाना इलाके माधवपुरम में एक बाइक पर सवार चार बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिसमें कॉस्मेटिक की दुकान से सामान लेकर वापस घर लौट रही छात्रा गोली लगने से घायल हो गई. इसके बाद भी बदमाश फिल्मी स्टाइल में फायरिंग करते हुए भाग निकले. बाइक से भागते बदमाश सीसीटीवी में भी कैद हो गए. 

घायल बीए की छात्रा को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उधर, इस घटना को लेकर व्यापारियों में काफी गुस्सा है और उन्होंने जल्द बदमाशों के पकड़े न जाने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दे डाली है, हालांकि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज कब्जे में लेकर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है, लेकिन एक बार फिर बेखौफ बदमाशों ने ये जता दिया कि भले ही पुलिस कितनी सख्ती करले, वो डरने वाले नहीं हैं. पुलिस ने एक आरोपी वेदांत की पहचान कर ली है.


हाथरस : यौन शोषण केस में जमानत पर चल रहे आरोपी ने पीड़िता के पिता की गोली मारकर की हत्या


लड़की के परिजनों का कहना है कि वह अपनी सहेली के साथ खरीददारी करने बाजार गई थी तभी सूचना मिली तो वे दौड़कर बाजार आए तो पूरा मामला पता चला. लड़की अस्पताल में भर्ती  है. वहीं पुलिस का कहना है कि वे मामले की पूरी जांच कर रहे हैं जल्द से जल्द दोषियों को सजा दी जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि यूपी के हाथरस से भी दिल दहलाने वाली घटना सामने आई थी, जिस पर कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी ने सवाल उठाया था. उन्होंने ट्वीट किया था कि हाथरस में छेड़छाड़ के खिलाफ मुक़दमा वापस न लेने वाली एक लड़की के पिता की हत्या कर दी गई. बुलंदशहर में कई दिनों से गायब एक  बच्ची का शव एक घर में गड़ा हुआ मिला.अपराध को लेकर यूपी भाजपा सरकार के झूठे प्रचार के ठीक विपरीत जमीन पर हर रोज कोई न कोई परिवार न्याय के लिए चीख रहा है.